--Advertisement--

सीएस से मारपीट का मामला: दिल्ली पुलिस आज मुख्यमंत्री केजरीवाल से करेगी पूछताछ

इस केस में विधायकों से पूछताछ के बाद यह पहला मौका होगा जब पुलिस और मुख्यमंत्री आमने-सामने होंगे।

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 07:05 AM IST
सीएम केजरीवाल ने पुलिस को पत्र लिखकर सुबह 11 बजे व्यस्तता बताई और शाम 5 बजे अपने कैंप ऑफिस में पूछताछ के लिए उपलब्ध होने की जानकारी दी। -फाइल सीएम केजरीवाल ने पुलिस को पत्र लिखकर सुबह 11 बजे व्यस्तता बताई और शाम 5 बजे अपने कैंप ऑफिस में पूछताछ के लिए उपलब्ध होने की जानकारी दी। -फाइल

नई दिल्ली. मुख्य सचिव अंशु प्रकाश मारपीट मामले में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली पुलिस को पूछताछ के लिए सहमति दे दी। इस संबंध में मुख्यमंत्री ने सिविल लाइन एसएचओ को बुधवार को पत्र लिखा। इससे पहले सिविल लाइन पुलिस ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर पूछताछ संबंधी पत्र लिखा था। इसमें शुक्रवार सुबह 11 बजे पूछताछ में शामिल होने के लिए कहा था। इस पर सीएम ने पत्र लिखकर सुबह 11 बजे व्यस्तता बताई और शाम 5 बजे अपने कैंप ऑफिस में पूछताछ के लिए उपलब्ध होने की जानकारी दी। दिल्ली पुलिस शुक्रवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से सीधे बात करेगी।

पहली बार मुख्यमंत्री से पूछताछ करेगी पुलिस
- इस केस में विधायकों से पूछताछ के बाद यह पहला मौका होगा जब पुलिस और मुख्यमंत्री आमने-सामने होंगे। पुलिस की यह पूछताछ वीडियोग्राफी के बीच होगी, ताकि बाद में बयान पलटने की नौबत ही ना आ सके।

- उनसे पूछताछ करने के लिए पुलिस ने पूरी तैयारी कर ली है। 50 से ज्यादा सवाल बनाए गए हैं, जिनका जवाब मुख्यमंत्री से तलाशने की कोशिश की जाएगी। किसी सवाल का संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर उसकी काट में दूसरा प्रश्न फौरन रखा जाएगा।

- सीएम से पूछताछ की इस पूरी प्रक्रिया के दौरान नार्थ जिला के डीसीपी जतिन नरवाल व एडिशनल डीसीपी हरेन्द्र कुमार इंस्पेक्टर और एसीपी की टीम के साथ मौजूद रहेंगे। इससे पहले 11 आप विधायकों से हो चुकी पूछताछ के दौरान पुलिस को जो जवाब मिले, उन सभी को मुख्यमंत्री से क्रॉस किया जाएगा।

मनीष सिसोदिया से भी जल्द होगी पूछताछ
- सीएम के बाद मामले में डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया से भी पूछताछ होगी। इसके बाद कोर्ट में चार्जशीट फाइल होगी। 19 फरवरी की रात सिविल लाइंस इलाके में सीएम आवास पर बुलाई गई बैठक में चीफ सेक्रेटरी ने अपने साथ मारपीट का इल्जाम लगाया था।

- विधायकों से लेकर केजरीवाल से लेकर डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया भी मौजूद थे। पुलिस दो विधायकों देवली विधानसभा क्षेत्र के विधायक प्रकाश जारवाल और ओखला विधानसभा क्षेत्र से विधायक अमानतुल्ला खान को गिरफ्तार कर चुकी है, जो जमानत पर बाहर हैं। सीएस से मारपीट की घटना के वक्त मौजूद 11 विधायकों से पुलिस पहले ही पूछताछ कर चुकी है।

ये प्रमुख 10 सवाल भी मुख्यमंत्री से पूछे जाएंगे...

1) आखिर इतनी क्या इमरजेंसी थी जो आधी रात में सीएस को बैठक के लिए बुलाया?
2) सीएस अंशु प्रकाश को मीटिंग के लिए अकेले सीएम आवास क्यों बुलाया गया था?
3) उस मीटिंग में सिर्फ गिने-चुने विधायक ही क्यों शामिल किए गए थे?
4) सीएस अंशु प्रकाश को आखिर दो विधायकों के बीच क्यों बिठाया गया था?
5) जिस रूम में बैठक की गई थी, वहां कोई सीसीटीवी कैमरा क्यों नहीं लगा था?
6) सीएम हाउस परिसर में लगे सीसीटीवी कैमरों की टाइमिंग पीछे होने की क्या वजह है?
7) उस दिन ऐसा क्या हुआ कि आपके सामने ही सीएस से मारपीट की नौबत आ गई?
8) विधायक सीएस के साथ मारपीट करते रहे लेकिन उस वक्त आप चुपचाप क्यों रहे?
9) आपने आखिर अपने विधायकों को मारपीट से रोकने की जरूरत क्यों नहीं समझी?
10) क्या ये सब सीएस के साथ मारपीट करने की साजिश का एक बड़ा हिस्सा था?

सीएम ने कहा- पूछताछ के बाद रिकॉर्डिंग की एक कॉपी मुझे भी दें

- पत्र में लिखा कि वह पूरी पूछताछ की वीडियो रिकॉर्डिंग भी कराएंगे। यदि आपको कोई आपत्ति है तो आप वीडियो रिकॉर्डिंग की व्यवस्था करें। पूछताछ के बाद एक कॉपी मुझे भी उपलब्ध कराएं।

- बता दें कि मुख्य सचिव मारपीट मामले के बाद मुख्यमंत्री ने कैबिनेट बैठक की भी वीडियो रिकार्डिंग कराई थी। इस पर सामान्य प्रशासन विभाग ने आपत्ति जताई थी।

19 फरवरी की रात सिविल लाइंस इलाके में सीएम आवास पर बुलाई गई बैठक में चीफ सेक्रेटरी ने अपने साथ मारपीट का इल्जाम लगाया था।  -फाइल 19 फरवरी की रात सिविल लाइंस इलाके में सीएम आवास पर बुलाई गई बैठक में चीफ सेक्रेटरी ने अपने साथ मारपीट का इल्जाम लगाया था। -फाइल