Hindi News »Union Territory »New Delhi »News» आंधी की आगोश में शहर

आंधी की आगोश में शहर

गुड़गांव. बुधवार शाम को आई आंधी ने पूरे शहर को अपनी आगोश में ले लिया, ये नजारा शाम करीब 5 बजे फ्रेंड्स कॉलोनी एरिया का...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 03, 2018, 02:00 AM IST

आंधी की आगोश में शहर
गुड़गांव. बुधवार शाम को आई आंधी ने पूरे शहर को अपनी आगोश में ले लिया, ये नजारा शाम करीब 5 बजे फ्रेंड्स कॉलोनी एरिया का है।

दोपहर तक तेज धूप, शाम को आंधी के बाद बूंदाबांदी से गिरा पारा, मिली राहत

भास्कर न्यूज | गुड़गांव

दोपहर तक तेज धूप के बाद बुधवार शाम धूलभरी आंधी ने लोगों को परेशान कर दिया। फिर हल्की बूंदाबांदी हुई। बादल छाने से तापमान में गिरावट दर्ज की गई। बुधवार को अधिकतम तापमान 38.0 डिग्री सेल्सियस जबकि न्यूनतम तापमान 26.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। बुधवार सुबह आंशिक बादल छाए थे लेकिन पूर्वाई हवा की रफ्तार सुबह से जारी थी। सुबह 7 बजे से ही 10 किमी/घंटे की रफ्तार से हवाएं चलती रहीं। दोपहर तक तेज धूप ने लोगों को परेशान किया। शाम करीब 5 बजे हवा की रफ्तार बढ़ी और धूल भरी आंधी ने लोगों को परेशान किया। एक्सप्रेस वे पर विजिबिलिटी कम होने पर वाहन चालक लाइटें जलाकर आगे बढ़े। वहीं कई क्षेत्रों में 2-4 घंटे तक बिजली गुल रही।

फिरोजपुर झिरका में आंधी से मकान ढहा, बच्ची की मौत

फिरोजपुर झिरका | फिरोजपुर झिरका में बुधवार शाम करीब पौने सात बजे आई तेज आंधी और बारिश में किले के पास वार्ड-9 निवासी लक्ष्मण सैनी का मकान ढह गया। हादसे में लक्ष्मण की 3 साल की बेटी सीमा की मलबे में दबकर मौत हो गई, जबकि लक्ष्मण, प|ी दीना, समिता और कल्लू मलबे में दब गए। इन्हें पड़ोसियों ने बाहर निकाला। सूचना पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने बच्ची के शव को पोस्टमार्टम के लिए मांडीखेड़ा अस्पताल भेजा।

पश्चिमी विक्षोभ से मौसम बदला, आज भी बूंदाबांदी की संभावना : मौसम विभाग के अनुमान के अनुसार गुरुवार को भी बादल छाए रहने और बूंदाबांदी के आसार हैं। पश्चिमी विक्षोभ के चलते क्षेत्र में मौसम बदला है और आगामी एक या दो दिन तक बादल छाए रहने की संभावना है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×