• Home
  • Union Territory News
  • Delhi News
  • News
  • सीएस से बदसलूकी मामले में पूछताछ कहां होगी? ये खुद तय कर सकते हैं सीएम, पुलिस ने भेजा नोटिस
--Advertisement--

सीएस से बदसलूकी मामले में पूछताछ कहां होगी? ये खुद तय कर सकते हैं सीएम, पुलिस ने भेजा नोटिस

दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ बदसलूकी मामले में दिल्ली पुलिस 18 मई को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से...

Danik Bhaskar | May 17, 2018, 02:05 AM IST
दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ बदसलूकी मामले में दिल्ली पुलिस 18 मई को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से पूछताछ करेगी। पुलिस ने मुख्यमंत्री को नोटिस भेजकर कहा है कि मामले में पूछताछ करने के लिए शुक्रवार को 11 बजे उनके पास आएगी। हालांकि, पूछताछ के लिए पुलिस ने मुख्यमंत्री को स्थान तय करने का विकल्प दिया गया है। इसके लिए मुख्यमंत्री नोटिस में दी गई मेल आईडी या फोन नंबर पर दे सकते हैं। सिविल लाइंस के एसएचओ को सूचित किए जाने का निर्देश दिया गया है। पुलिस का कहना है कि मुख्यमंत्री केजरीवाल या तो घर पर या कार्यालय में इस मामले से संबंधित सवालों के जवाब दे सकते हैं। मुख्यमंत्री व विधायकों से पूछताछ के बाद चार्जशीट दाखिल की जाएगी।

केजरीवाल घर या दफ्तर में दे सकते हैं सवालों के जवाब

जल्द मनीष सिसोदिया से भी हो सकती है पूछताछ

चार्जशीट दाखिल करने में कितना समय लगेगा,यह तफ्तीश पर निर्भर करेगा। इस विषय में अभी कुछ नहीं कहा जा सकता। वहीं, मुख्यमंत्री केजरीवाल व विधायकों से पूछताछ के बाद अब पुलिस उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को भी जल्द पूछताछ के लिए बुला सकती है।

अब तक 11 विधायकों केे बयान ले चुकी है पुलिस

पुलिस ने बताया कि मामला इसी साल 19 फरवरी की मध्य रात्रि का है और दिल्ली पुलिस इस मामले में आम आदमी पार्टी के 11 विधायकों से पूछताछ कर चुकी है। पूछताछ करने वाले विधायकों में अमानतुल्ला खान और प्रकाश जरवाल के अलावा राजेश गुप्ता, नितिन त्यागी, राजेश रिषी रितुराज आदि शामिल हैं।

मोदी जी ने सीएस पर दबाव डालकर केजरीवाल के खिलाफ झूठा केस दर्ज कराया: सौरभ भारद्वाज

नई दिल्ली | मुख्य सचिव अंशु प्रकाश से मारपीट के मामले में सीएम अरविंद केजरीवाल से पूछताछ होने पर आप ने भाजपा पर निशाना साधा है। आप प्रवक्ता और विधायक सौरभ भारद्वाज ने बुधवार को कहा कि सीएम को परेशान करने के लिए नरेंद्र मोदी ऐसा करा रहे हैं। बयान में उन्होंने कहा कि केजरीवाल सरकार के अच्छे कामों से सभी डरे हुए हैं। इसलिए फर्जी मामलों में फंसा कर उन्हें परेशान करने की कोशिश की जा रही है। भारद्वाज ने कहा कि एक जज का कत्ल हो जाए तो उसकी जांच नहीं होती। लेकिन झूठे और फर्जी मारपीट के मामले में सीएम से पूछताछ हो रही है।

मंत्री इमरान हुसैन से मारपीट मामले में दिल्ली सरकार में अंडर सेक्रेटरी गिरफ्तार, थाने से ही मिल गई जमानत

खाद्य व आपूर्ति मंत्री इमरान हुसैन से मारपीट के मामले में दिल्ली सरकार के एक अधिकारी को पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार कर लिया। बाद में उन्हें थाने से ही जमानत भी मिल गई। आरोपी रविंद्र परमार अर्बन डवलपमेंट डिपार्टमेंट में अंडर सेक्रेटरी के पद पर कार्यरत हैं। इस केस में पुलिस की कार्रवाई उस वक्त हुई जब दिल्ली सरकार के चीफ सेक्रटरी अंशु प्रकाश से मारपीट के मामले में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को पूछताछ के लिए कानूनी नोटिस भेजा गया। पुलिस के मुताबिक 20 फरवरी को दिल्ली सचिवालय में दिल्ली सरकार के मंत्री इमरान हुसैन ने आईपी इस्टेट थाने में मारपीट की शिकायत दर्ज कराई थी।