• Hindi News
  • Union Territory
  • New Delhi
  • News
  • ज्यादा फैट और नमक वाले प्रोडक्ट पर लेबलिंग का फैसला एक्सपर्ट पैनल लेगा

ज्यादा फैट और नमक वाले प्रोडक्ट पर लेबलिंग का फैसला एक्सपर्ट पैनल लेगा / ज्यादा फैट और नमक वाले प्रोडक्ट पर लेबलिंग का फैसला एक्सपर्ट पैनल लेगा

Bhaskar News Network

Aug 18, 2018, 02:05 AM IST

News - भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआई) के सीईओ पवन कुमार अग्रवाल ने कहा है कि सरकार ने ज्यादा वसा,...

ज्यादा फैट और नमक वाले प्रोडक्ट पर लेबलिंग का फैसला एक्सपर्ट पैनल लेगा
भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआई) के सीईओ पवन कुमार अग्रवाल ने कहा है कि सरकार ने ज्यादा वसा, चीनी एवं नमक वाले डिब्बा बंद खाद्य उत्पादों पर लाल ‘लेबल’ लगाने के प्रस्ताव वाले मसौदे को फिलहाल स्थगित कर दिया है। खाद्य सुरक्षा नियामक एफएसएसएआई इस संबंध में खाद्य सुरक्षा एवं मानक (लेबलिंग एवं डिस्प्ले) नियमन 2018 का मसौदा अप्रैल में लाया था। इसमें ऐसे डिब्बा बंद खाद्य उत्पादों पर लाल लेबल लगाना अनिवार्य करने का प्रस्ताव किया गया है।

अग्रवाल ने कहा,‘हमारे मसौदा के पहले की रूपरेखा तैयार है और इसे स्वास्थ्य मंत्रालय के भेजा गया है। चूंकि कुछ पक्षों ने इसको लेकर चिंता जताई है, इसलिए हमने इसे कुछ समय के लिए स्थगित रखा है और स्वास्थ्य तथा पोषण से जुड़े विशेषज्ञों का पैनल बनाया गया है जो एक बार फिर लेबल लगाने के मुद्दे पर विचार करेगा।’ वह कट्स इंटरनेशनल द्वारा आयोजित मसौदा नियमन पर राष्ट्रीय परामर्श इवेंट को संबोधित कर रहे थे।

इस विशेषज्ञ पैनल की अध्यक्षता राष्ट्रीय पोषण संस्थान के पूर्व निदेशक बी शशिकरण करेंगे। साथ ही संस्थान की मौजूदा निदेशक हेमलता के अलावा डाक्टर निखिल टंडन भी इसमें हैं। खाद्य उद्योग के लिये लेबल नियमन एक जटिल मुद्दा है। इसे बिक्री के रास्ते में अड़चन के रूप में देखा जा रहा है। अग्रवाल ने कहा कि समिति उद्योग की चिंताओं पर गौर करेगी और सिफारिशें देगी। लेबल लगाने को लेकर जल्दी ही रेगुलेशन बनाने की वकालत करते हुए कुमार ने कहा कि ग्राहकों से खाने की आदत बदलने के लिए कहना मुश्किल है क्योंकि कुछ लोग बिना सोच-विचार किए खाते हैं, वहीं कुछ सेहतमंद और नुकसान पहुंचाने वाले खाद्य पदार्थों के बीच भेद नहीं कर सकते। उन्होंने कहा, ‘ऐसी स्थिति में लगता है कि हम कंपनियों से लेबल लगाने के नियमों का कड़ाई से पालन करने के लिए कहकर सप्लाई साइड के स्तर पर इसका समाधान करते हैं तो कुछ बदलाव तो ला सकते हैं।’

X
ज्यादा फैट और नमक वाले प्रोडक्ट पर लेबलिंग का फैसला एक्सपर्ट पैनल लेगा
COMMENT