Home | Union Territory | New Delhi | News | पी-नोट्स निवेश 1 लाख करोड़ रु. के साथ 9 साल में सबसे कम, सेबी की सख्ती का असर

पी-नोट्स निवेश 1 लाख करोड़ रु. के साथ 9 साल में सबसे कम, सेबी की सख्ती का असर

नई दिल्ली | पार्टिसिपेटरी नोट (पी-नोट्स) के जरिए विदेशी निवेशकों की निवेश राशि अप्रैल में 1,00,245 करोड़ रुपए रह गया। यह नौ...

Bhaskar News Network| Last Modified - May 17, 2018, 02:10 AM IST

पी-नोट्स निवेश 1 लाख करोड़ रु. के साथ 9 साल में सबसे कम, सेबी की सख्ती का असर
पी-नोट्स निवेश 1 लाख करोड़ रु. के साथ 9 साल में सबसे कम, सेबी की सख्ती का असर
नई दिल्ली | पार्टिसिपेटरी नोट (पी-नोट्स) के जरिए विदेशी निवेशकों की निवेश राशि अप्रैल में 1,00,245 करोड़ रुपए रह गया। यह नौ साल में सबसे कम है। इससे पहले जून 2009 में यह 97,885 करोड़ था। मार्च में पी-नोट्स के जरिए हुए निवेश की वैल्यू 1,06,403 करोड़ और फरवरी में 1,06,760 करोड़ थी। पूंजी बाजार नियामक सेबी ने भारतीय बाजार में अवैध धन को रोकने के लिए पिछले साल पी-नोट्स के नियम सख्त किए थे। इसके बाद से इनके माध्यम से आने वाले निवेश में गिरावट का रुख है।

सरकार जल्द लाएगी ड्रोन पॉलिसी, इसे बनाने का काम अंतिम चरण में : जयंत सिन्हा

मुंबई | नागरिक विमानन मंत्रालय ड्रोन पॉलिसी बनाने के अंतिम चरण में है। इसे जल्द जारी कर दिया जाएगा। नागरिक विमानन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने बताया, ‘मंत्रालय पिछले साल अनमैन्ड एयरक्राफ्ट सिस्टम के लिए ड्राफ्ट रूल्स लेकर आया था। सिक्यूरिटी और वैश्विक मानकों से जुड़े मसलों पर स्टेकहोल्डर्स से विचार-विमर्श हो चुका है।’ ड्रॉफ्ट रूल्स के मुताबिक, 250 ग्राम से कम वजन वाले ‘नैनो’ ड्रोन की श्रेणी में आएंगे। 2 किलो तक के ड्रोन ‘माइक्रो’ और 25 किलो तक के ‘मिनी’ कैटेगरी में आएंगे।

prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now