Hindi News »Union Territory »New Delhi »News» दर्जी की दुकान को कारखाने में बदलने वाले बिजनेसमैन ने 19 साल की उम्र में धोखेबाज किशोरी के चक्कर में दी जान

दर्जी की दुकान को कारखाने में बदलने वाले बिजनेसमैन ने 19 साल की उम्र में धोखेबाज किशोरी के चक्कर में दी जान

धर्मेन्द्र डागर | नई दिल्ली dharmendra.dagar@dbcorp.in राजधानी में मंगलवार को एक 19 साल के बिजनेसमैन ने घर में फांसी लगाकर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 14, 2018, 03:05 AM IST

धर्मेन्द्र डागर | नई दिल्ली dharmendra.dagar@dbcorp.in

राजधानी में मंगलवार को एक 19 साल के बिजनेसमैन ने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। वह एक किशोरी से डेढ़ साल से प्रेम करता था। जिसने उसे धोखा दे दिया था। मामला गांधी नगर का है। उसकी जेब में तीन पेज का एक सुसाइड नोट भी मिला है।

इसमें उसने अपनी आत्महत्या के लिए प्रेमिका को जिम्मेदार बताया है। शाहदरा जिले की गांधी नगर पुलिस को मंगलवार शाम फोन आया कि गांधी नगर में रहने वाले 19 वर्षीय राजबीर ने फांसी लगा ली है। परिवार में पिता सतपाल, मां, दो छोटे भाई और एक छोटी बहन हैं। वह बेड की चादर का फंदा बनाकर पंखे से लटक गया था। राजबीर का परिवार मूलरूप से अलीगंज (यूपी) का रहने वाला है। कुछ साल पहले सतपाल परिवार के साथ गांधी नगर में रहने लगे थे। उन्होंने दर्जी की दुकान शुरू की थी। राजबीर 15 साल का हुआ तो काम बढ़ाने के लिए सिलाई का कारखाना शुरू कर दिया। इसके लिए कुछ वर्कर भी रखे थे। धीरे-धीरे कारखाना चलने लगा और परिवार की आर्थिक स्थिति बेहतर होने लगी। इसी बीच उसे मोहल्ले में ही रहने वाली 13 वर्षीय किशोरी से प्रेम हो गया।

घरवालों ने समझाया था कि लड़की का चाल-चलन ठीक नहीं लेकिन नहीं माना



मैंने तेरी (गर्लफ्रेंड) खुशी के लिए क्या नहीं किया, मां-बाप को छोड़ा, शराब पीने लगा, बिजनेस में घाटा उठाया, पर तू धोखेबाज निकली, मेरी मौत की जिम्मेदार तू है

सुसाइड नोट... तेरे कारण ही मेरा कारोबार चौपट हुआ



बिजनेसमैन युवक ने तीन पेज के सुसाइड नोट में लिखा, “मैंने तेरे (गर्लफ्रेंड) प्यार के लिए दुनिया की हर खुशी न्योछावर कर दी। हर कदम, हर सांस पर मैंने तेरा साथ दिया। लेकिन तू धोखेबाज निकली। मैंने तेरी खुशी के लिए क्या नहीं किया। मां-बाप को छोड़ा, शराब पीने लगा। बिजनेस में घाटा उठाया लेकिन तू धोखेबाज निकली। तेरे कारण मेरे मां-बाप ने मुझ पर विश्वास करना छोड़ दिया। मेरा कारोबार चौपट हो गया। तेरे कारण मेरे ऊपर काफी कर्ज हो गया है। और अब ज्यादा कर्ज होने के बाद तू मुझे छोड़कर चली गई। मेरे मरने के बाद ये नोट मेरी गर्लफ्रेंड को दिया जाए। जिसे पढ़कर उसे पता चल सके कि मैंने उसे किस हद तक प्यार किया और बदले में उसने मेरे साथ क्या किया।’

पिता बोले...

एक महीने पहले ही खरीदी थीं छह नई मशीनें

बिजनेसमैन युवक के पिता सतपाल ने बताया कि उसने कारोबार और बढ़ाने के लिए महीने भर पहले ही कई सिलाई मशीनें खरीदी थीं। लेकिन कुछ दिन से वह परेशान रहने लगा था। न तो ठीक से बात करता था और न ही अपने काम पर ध्यान लगाता था। कई बार उससे इसका कारण जानने की कोशिश की लेकिन वह कुछ नहीं बताता था। देर रात तक मोबाइल से बातें करता रहता था। मंगलवार को नाश्ता करने के बाद बाहर चला गया। बाहर से करीब ढाई घंटे बाद घर आया और अपने कमरे में चला गया। पूरे दिन किसी से भी बात नहीं की। इसके बाद उसने अपने कमरे में खुदकुशी कर ली।

हनीट्रैप... किशोरी पहले भी एक लड़के को प्यार में फंसा कर पॉक्सो एक्ट में जेल भिजवा चुकी है

पुलिस ने बताया कि किशोरी पहले भी एक लड़के को पॉस्को एक्ट के तहत फंसाकर जेल भिजवा चुकी है। परिजनों ने पुलिस को बताया कि वह चार साल से रेडीमेड कपड़े बना रहा था और अच्छा खासा काम चल रहा था लेकिन किशोरी ने उसे प्रेम के जाल में फंसाकर सब बर्बाद कर दिया। हमने उसे समझाया था कि लड़की अच्छी नहीं है। काम पर ध्यान दे, लेकिन वह नहीं माना। उसने काम भी छोड़ दिया था। परिजनों ने बताया, राजबीर उस लड़की से शादी करना चाहता था, हमने उसे समझाया कि लड़की अच्छी नहीं है, चाल-चलन ठीक नहीं है। मगर उसने हमारी बातों को अनसुना कर दिया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×