--Advertisement--

टैक्सी चालक ने जुर्म कबूला

News - बहादुरगढ़ से गुड़गांव के बीच बस चलाता था ड्राइवर भास्कर न्यूज | नई दिल्ली 6 महीने पहले शराब के नशे में सवारियों...

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 03:05 AM IST
टैक्सी चालक ने जुर्म कबूला
बहादुरगढ़ से गुड़गांव के बीच बस चलाता था ड्राइवर

भास्कर न्यूज | नई दिल्ली

6 महीने पहले शराब के नशे में सवारियों को चढ़ाने को लेकर एक टैक्सी चालक और बस चालक के बीच विवाद हुआ। 6 महीने बाद टैक्सी चालक ने बस चालक की हत्या करके उसका बदला लिया। आरोपी टैक्सी चालक इस कदर गुस्सा था कि उसने बस चालक की मौत के बाद भी उसने सीने में 3 गोलियां मारीं। सूचना के बाद पहुंची बाबा हरिदास नगर थाना पुलिस ने हत्या की धाराओं में केस दर्ज कर आरोपी टैक्सी चालक सुधीर को गिरफ्तार कर लिया है।

टैक्सी चालक-बस ड्राइवर के बीच छह महीने पहले सवारी चढ़ाने को लेकर

हुआ था विवाद, बस चालक की माैत के बाद भी सीने में तीन गोलियां मारीं

वारदात में साथ देने वाले संजय की पुलिस को तलाश

टैक्सी चालक ने पूछताछ में अपना जुर्म कबूल कर लिया है। जबकि वारदात में उसका साथ निभाने वाले उसके दोस्त संजय की पुलिस तलाश कर रही है। बस चालक जितेन्द्र के लिए टैक्स चालक सुधीर के मन में इतना गुस्सा था कि वह वारदात को अंजाम देने के लिए दो पिस्तौल लेकर पहुंचा था। आरोपी ने जब भागते हुए जितेन्द्र को रोककर पहली गोली मारी तो जितेन्द्र गिर गया। लेकिन इसके बाद आरोपी ने एक के बाद एक छह गोलियां उसके सीने में उतार दीं। आरोपी ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि जितेन्द्र तीन गोली लगने के बाद बेसुध हो गया था। बावजूद इसके सुधीर ने उसकी मौत को पुख्ता करने के लिए 3 गोलियां और मारीं।

रविवार रात करीब 9.30 बजे बाइक सवार युवकों ने मारीं 6 गोलियां

पुलिस अधिकारी के अनुसार मृतक 27 वर्षीय जितेंद्र अपने परिवार के साथ झड़ौदाकलां गांव में रहता था और बहादुरगढ़ से गुड़गांव के बीच बस चलाता था। रविवार रात अपनी ड्यूटी पूरी करने के बाद रात करीब साढ़े नौ बजे वह गांव के स्टैंड पर उतरा और घर की ओर जाने लगा। रास्ते में मोटरसाइकिल पर सवार होकर दो युवक आए और जितेंद्र को घेर लिया। जितेंद्र इन्हें देखने के बाद भागने की कोशिश करने लगा लेकिन नाकामयाब रहा। उन्होंने जितेंद्र को लगातार छह गोलियां मारीं और मौके से फरार हो गए। गोलियों की आवाज सुनकर आसपास के घर से लोग निकले तब तक आरोपी मौके से फरार हो गए। लोगों ने मामले की जानकारी पुलिस को दी। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर छानबीन शुरू की।

टैक्सी की सवारियां जबरन बस में चढ़ाने को लेकर हुई थी गालीगलौज

पुलिस ने लोगों से पूछताछ की तो सामने आया कि छह महीने पहले शराब के नशे में जितेंद्र और सुधीर के बीच कहासुनी हुई थी। तब में खूब गालीगलौज हुई थी। सुधीर का कहना था कि जितेन्द्र उसकी सवारियों को जबरन अपनी बस में चढ़ाता है। इससे उसकी गाड़ी नहीं भर पाती। विवाद के बाद से ही सुधीर जितेंद्र से बदला लेने की फिराक में था। ऐसे में रविवार रात को सुधीर ने अपने दोस्त के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी। पुलिस ने सुधीर को झड़ौदाकलां गांव से ही गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया और अपने दोस्त का नाम बता दिया। इसके बाद पुलिस ने उसके दोस्त की तलाश शुरू कर दी है। पुलिस सूत्रों की मानें तो फरार आरोपी सुमित पर हत्या की धाराओं में पहले भी मामला दर्ज है और सुमित नजफगढ़ के गैंग के संपर्क में रहता है।

टैक्सी चालक ने जुर्म कबूला
X
टैक्सी चालक ने जुर्म कबूला
टैक्सी चालक ने जुर्म कबूला
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..