--Advertisement--

भाजपा की चुनावी रणनीति: जिन 120 लोकसभा सीटों पर कभी नहीं जीती पार्टी, वहां नुक्कड़ नाटक की योजना

एंटी इनकंबेंसी के रिस्क को देखते हुए 150 करोड़ का प्लान, नुक्कड़ नाटक की तैयारी

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 08:40 AM IST
भाजपा नुक्कड़ नाटक के जरिए सरकार की उपलब्धियां दिखाएगी- फाइल भाजपा नुक्कड़ नाटक के जरिए सरकार की उपलब्धियां दिखाएगी- फाइल

नई दिल्ली. भाजपा ने उन 120 सीटों के लिए नुक्कड़ नाटक की तैयारी कर रही है जिन पर कभी जीत हासिल नहीं कर पाई। इन सीटों पर नुक्कड़ टीम गली-चौराहों, बाजार में अचानक नाटक का मंचन शुरु करेगी, जिसकी थीम मोदी सरकार की उपलब्धियां होंगी। करीब 5-7 मिनट के नाटक के बाद पास में खड़ी एलईडी स्क्रीन वाली वैन पर एक फिल्म शुरू होगी, जिसमें करीब 10 मिनट की फिल्म दिखाई जाएगी। इसमें मोदी सरकार की तमाम योजनाओं को चरित्रों के माध्यम से दिखाया जाएगा। इसमें लाभार्थी को योजना साकार होने की बात कहते हुए दिखाया जाएगा। कर्नाटक चुनाव में व्यस्त पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने अभी इस योजना को मंजूरी नहीं दी है, लेकिन चुनाव के बाद इस रणनीति पर काम शुरू हो जाएगा।

100-150 करोड़ रुपए की है योजना
- भाजपा ने अगले साल अप्रैल-मई में होने वाले लोकसभा चुनाव की तैयारी तेज कर दी है। पिछले साल 17 अगस्त को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने इन 120 सीटों को जीतने की रणनीति के तहत प्रभारी तैनात किए थे। अब उन सीटों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छाप छोड़ने की पहल की जा रही है।

- प्रभारियों की रिपोर्ट के बाद इन सीटों पर भाजपा अब ऐसे तरीके अपना रही है जिससे मोदी सरकार की पहल को इन इलाकों में पहुंचाया जा सके। नुक्कड़ नाटक की तैयारी इनमें सबसे अहम है। इसके लिए केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने 100-150 करोड़ रुपए की योजना तैयार की है, जिसे अमित शाह की मंजूरी के लिए भेज दिया गया है।


2019 में एंटी इनकंबेंसी से बचने की तैयारी
भाजपा ने 2014 के आम चुनाव में 282 सीटें जीती थीं। राजस्थान, गुजरात जैसे राज्यों में तो सभी सीटों पर जीत हासिल की थी। इसलिए पार्टी का अनुमान है कि 2019 के चुनाव में पार्टी को एंटी इनकंबेंसी का सामना करना पड़ सकता है और उसे सीटों का नुकसान होगा। इसलिए भाजपा ने उन 120 सीटों पर फोकस किया है जिन पर एक बार भी जीत दर्ज नहीं कर पाई है।

कर्नाटक में रहने वाले आंध्र के लोग भाजपा को हराएं : चंद्रबाबू
- उधर आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर वादे से मुकरने का आरोप लगाया है। नायडू का कहना है कि आम चुनाव के वक्त आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने का वादा किया गया था जो पूरा नहीं किया गया। कर्नाटक में रह रहे आंध्र प्रदेश के लोग विधानसभा चुनाव में भाजपा को वोट नहीं दें।

- नायडू ने यहां वेंकटेश्वर विश्वविद्यालय स्टेडियम में तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) की रैली को संबोधित करते हुए कहा कि वह आंध्र प्रदेश के लिए विशेष राज्य का दर्जा पक्षपात करके नहीं मांग रहे हैं। विशेष राज्य का दर्जा हमारा हक है।

- उन्होंने पिछले आम चुनाव में इसी मैदान पर हुई रैली की याद दिलाते हुए कहा कि उस समय जब मोदी प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार थे, तब उन्होंने आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने का वादा किया था और प्रधानमंत्री बनने के बाद वादा भूल गए।

कर्नाटक चुनाव के बाद नई रणनीति पर काम शुरू करेगी भाजपा- फाइल कर्नाटक चुनाव के बाद नई रणनीति पर काम शुरू करेगी भाजपा- फाइल
X
भाजपा नुक्कड़ नाटक के जरिए सरकार की उपलब्धियां दिखाएगी- फाइलभाजपा नुक्कड़ नाटक के जरिए सरकार की उपलब्धियां दिखाएगी- फाइल
कर्नाटक चुनाव के बाद नई रणनीति पर काम शुरू करेगी भाजपा- फाइलकर्नाटक चुनाव के बाद नई रणनीति पर काम शुरू करेगी भाजपा- फाइल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..