--Advertisement--

3 घंटे में 5 विधायकों के वकीलों ने की जिरह, 21 को अगली सुनवाई

संसदीय सचिव मामले में चुनाव आयोग ने आप के 20 विधायक और शिकायतकर्ता प्रस्तुत हुए। आयोग के सामने विधायकों ने मामले...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 03:05 AM IST
संसदीय सचिव मामले में चुनाव आयोग ने आप के 20 विधायक और शिकायतकर्ता प्रस्तुत हुए। आयोग के सामने विधायकों ने मामले में शिकायतकर्ता और सरकार की तरफ से जवाब देने वाले अधिकारियों से जिरह करने की मांग की। शिकायतकर्ता ने विरोध किया। विधायकों की मांग पर आयोग भी सहमत नहीं दिखा। सभी विधायकों की सुनवाई नहीं होने से आयोग 21 मई को दोपहर तीन बजे फिर सुनवाई करेगा।

चुनाव आयोग के कार्यालय पर गुरुवार दोपहर 3 बजे विधायक पहुंचे। विधायकों की तरफ से वकीलों ने शिकायतकर्ता और मामले में पक्ष रखने वाले विधानसभा सचिव और सामान्य प्रशासन विभाग के अधिकारियों से क्राॅस एग्जामिनेशन की मांग की। इस पर दोनों पक्षों की तरफ से जिरह चलती रही। शाम 6 बजे तक पांच विधायक ही पक्ष रख सके। आप के विधायक मदनलाल ने बताया कि क्राॅस एग्जामिनेशन की मांग की। वहीं, शिकायतकर्ता प्रशांत पटेल ने इस मांग का विरोध किया। कहा कि यह कोई सिविल कोर्ट नहीं है। पटेल ने बताया कि आयोग भी विधायकों की मांग से असहमत था। उल्लेखनीय है कि हाईकोर्ट ने 23 मार्च को चुनाव आयोग के 20 विधायकों को संसदीय सचिव मामले में अयोग्य करार देने के मामले को पलट दिया था। इसमें तर्क दिया था कि अायोग ने विधायकों को उनका पक्ष रखने का मौका और उचित सुनवाई नहीं की थी।

शिकायतकर्ता ने नहीं मानी क्रॉस एग्जामिनेशन की मांग

लाभ के पद का मामला