• Home
  • Union Territory News
  • Delhi News
  • News
  • 13 साल के बेटे को पढ़ा रहे शोरूम मालिक की गोली मारकर हत्या, 13 लाख की ज्वैलरी लूटी
--Advertisement--

13 साल के बेटे को पढ़ा रहे शोरूम मालिक की गोली मारकर हत्या, 13 लाख की ज्वैलरी लूटी

बाइक सवार तीन बदमाशों ने दिनदहाड़े एचआरके नामक ज्वैलरी शोरूम में घुसकर शोरूम मालिक की गोली मारकर हत्या कर दी।...

Danik Bhaskar | Jun 13, 2018, 03:05 AM IST
बाइक सवार तीन बदमाशों ने दिनदहाड़े एचआरके नामक ज्वैलरी शोरूम में घुसकर शोरूम मालिक की गोली मारकर हत्या कर दी। मरने वाले की पहचान हेमंत कौशिक के रूप में हुई है। गोली उनके सीने में पास से मारी गई थी। उन्हें जब गोली मारी गई, तब वह बेटे को पढ़ा रहे थे। वारदात मंगलवार दोपहर 3.55 बजे उत्तरी-पश्चिमी दिल्ली के आदर्श नगर इलाके में हुई। वारदात को अंजाम देकर बदमाश ज्वैलरी लेकर फरार हो गए। लूटी गई ज्वैलरी की कीमत के बारे में हेमंत के परिजनों से पूछताछ की जा रही है। सूत्रों की मानें तो लूटी गई ज्वैलरी की कीमत करीब 13 लाख रुपए है। उधर, पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए मोर्चरी में रखवा दिया है। बुधवार को पोस्टमार्टम होगा। पुलिस ने शोरूम में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज कब्जे में ली है। फुटेज एक मिनट से भी कम की है। आरोपियों को पकड़ने के लिए तीन थाने की पुलिस और स्पेशल स्टाफ को लगाया गया है।

हेमंत ने ज्वैलरी वाला बैग पकड़ा तो मार दी गोली

हेमंत परिवार के साथ आदर्श नगर मेट्रो स्टेशन के पास रहते थे। पहली मंजिल पर वह रहते थे और ग्राउंड फ्लोर पर उनका शोरूम है। हेमंत के रिश्तेदारों ने बताया कि वारदात के वक्त शोरूम में हेमंत, उनका 13 साल का बेटा और नौकर अशोक कुमार थे। वारदात के समय हेमंत बेटे को पढ़ा रहे थे। अशोक कुछ काम कर रहा था। इस बीच हेलमेट पहने तीन बदमाश आए। तीनों ने हेमंत पर पिस्टल तान दी और शोर मचाने से मना किया। इस बीच एक बदमाश ने शोकेस में रखी सोने की ज्वैलरी निकालकर बैग में डाल ली और जाने लगा। हेमंत ने पीछे से बैग पकड़ लिया और शोर मचाने की कोशिश की। इस पर बदमाश ने उन्हें गोली मार दी।

पड़ोसी दुकानदारों ने हेमंत को अस्पताल पहुंचाया

गोली और बच्चे की आवाज सुनकर साथ वाली दुकान में मौजूद दीपक नामक युवक मौके पर पहुंचा तो देखा कि हेमंत फर्श पर खून से लथपथ पड़े हैं। आसपास के दुकानदारों की मदद से उसने ई-रिक्शे से हेमंत को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।

बदमाशों ने दो दिन पहले कल्याण ज्वैलर्स के ब्रांच की रेकी की, गोली मारने की धमकी दे लूटी 27 लाख की ज्वैलरी

भास्कर न्यूज | नई दिल्ली

बाइक सवार तीन बदमाशों ने पिस्टल के बल पर कल्याण ज्वैलर्स के आउटलेट के कर्मचारियों को बंधक बनाया और करीब 27 लाख रुपए की ज्वैलरी लूटकर फरार हो गए। वारदात मंगलवार दोपहर करीब 12.30 बजे रोहिणी नॉर्थ सेक्टर-8 इलाके में हुई। पहचान छुपाने के लिए बदमाश आउटलेट में लगे सीसीटीवी कैमरे के डीवीआर भी साथ ले गए। पुलिस ने कर्मचारियों के बयान पर मामला दर्ज कर लिया है।

रोहिणी नॉर्थ सेक्टर-8 इलाके में हुई वारदात

नकाबपोश बदमाशों ने पिस्टल के बल पर युवक से की लूटपाट

नई दिल्ली| नकाबपोश बदमाशों ने युवक से पिस्टल के बल पर मारपीट कर रुपए छीन लिए। पीड़ित रवि(28) दोस्तों से उधार लिए पैसे वापस करने गया था तभी बदमाशों ने वारदात को अंजाम दिया। मामला द्वारका के उत्तम नगर का है। पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। रवि ओम विहार में रहता है। रवि ने कुछ दिन पहले शिवकुमार से 20 हजार व सूरज से 16 हजार रुपए लिए थे, सोमवार शाम रवि पैसे वापस करने शिवकुमार के ऑफिस गया था। तभी 3 नकाबपोश बदमाशों नेे पिस्टल के बल पर रवि से 36 हजार रुपए छीनकर मौके से फरार हो गए।

ग्राहक बन कर शोरूम आए बदमाश

सूत्रों की मानें तो शनिवार को बदमाश ज्वैलरी खरीदने के बहाने ब्रांच की रेकी करने आए थे। बदमाशों ने काफी देर तक ज्वैलरी देखी और कहा था कि दो-तीन दिन बाद आकर खरीदेंगे। जानकारी के मुताबिक, रोहिणी नॉर्थ सेक्टर-8 में कल्याण ज्वैलर्स की आउटलेट है। तीन बदमाश ग्राहक बनकर शोरूम में आए और कुछ ही देर में वारदात को अंजाम दे दिया। शोरूम के दो कर्मचारियों ने बताया कि इनमें से दो बदमाशों ने हेलमेट नहीं पहना था। ज्वैलरी देखने के दौरान दोनों ने पिस्टल तान दी और शोर नहीं मचाने की धमकी दी। इसके बाद बदमाशों ने कर्मचारियों के शोरूम के एक कोने में बैठा दिया और करीब 27 लाख रुपए की सोने की ज्वैलरी एक छोटे बैग में डालकर फरार हो गए। कुछ देर बाद कर्मचारियों ने आसपास के लोगों समेत आउटलेट के अधिकारियों और पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर कर्मचारियों के बयान दर्ज किए। उधर, आउटलेट के आसपास तीन से चार दुकानें हैं, जिनमें से दो दुकानें बंद पड़ी रहती हैं। उसके बराबर में फ्लैट है, लेकिन किसी को भी लूट की भनक तक नहीं पड़ी।