• Hindi News
  • Union Territory
  • New Delhi
  • News
  • जीएसटी : विशेष रिफंड पखवाड़े की अवधि दो दिन बढ़ी, अब 16 जून तक चलेगा अभियान
--Advertisement--

जीएसटी : विशेष रिफंड पखवाड़े की अवधि दो दिन बढ़ी, अब 16 जून तक चलेगा अभियान

News - जीएसटी : विशेष रिफंड पखवाड़े की अवधि दो दिन बढ़ी, अब 16 जून तक चलेगा अभियान नई दिल्ली | सरकार ने निर्यातकों के जीएसटी...

Dainik Bhaskar

Jun 13, 2018, 03:05 AM IST
जीएसटी : विशेष रिफंड पखवाड़े की अवधि दो दिन बढ़ी, अब 16 जून तक चलेगा अभियान
जीएसटी : विशेष रिफंड पखवाड़े की अवधि दो दिन बढ़ी, अब 16 जून तक चलेगा अभियान

नई दिल्ली | सरकार ने निर्यातकों के जीएसटी रिफंड के लिए एक पखवाड़े तक चलने वाले विशेष अभियान को और दो दिन बढ़ा दिया गया है। अब यह 16 जून तक चलेगा। सेंट्रल बोर्ड ऑफ इनडायरेक्ट टैक्सेज एंड कस्टम्स (सीबीआईसी) रिफंड के लंबित मामलों के तेज निपटारे के लिए 31 मई से ‘विशेष रिफंड पखवाड़े’ का आयोजन कर रहा है। यह 14 जून 2018 तक चलना था। लेकिन अब यह 16 जून तक चलेगा। विभिन्न विसंगतियों के कारण निर्यातकों के कुल 14,000 करोड़ रुपए के रिफंड अटके हुए थे। इस अभियान तहत अब तक 7,500 करोड़ के रिफंड जारी किए जा चुके हैं। इससे पहले पहले चरण के तहत 15 से 29 मार्च के बीच आयोजित हुए पखवाड़े में 5,350 करोड़ रुपए के जीएसटी रिफंड जारी किए गए थे।

सरकार ने की रिकॉर्ड 350 लाख टन गेहूं की खरीद, और वेयरहाउस किराये पर लेगी

नई दिल्ली | इस साल गेहूं की सरकारी खरीद का आंकड़ा 350 लाख टन के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया है। इससे पहले कि मानसून मध्य और उत्तर भारत में दस्तक दे, सरकार गेहूं के भंडारण के लिए और वेयरहाउस किराए पर लेने की योजना बना रही है। गेहूं और चावल की सरकारी खरीद के लिए भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) नोडल एजेंसी है। एफसीआई ने राज्यों की एजेंसियों के साथ मिलकर चालू मार्केटिंग वर्ष 2018-19 (अप्रैल से मार्च) में रिकॉर्ड 351.9 लाख टन की खरीद की है। इन एजेंसियों की कुल अन्न भंडारण क्षमता 800 लाख टन की है। खाद्य मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अभी पुराना स्टॉक काफी रखा हुआ है। इसलिए हम नए अन्न भंडारण के सभी विकल्पों पर विचार कर रहे हैं।

इस साल मार्च तिमाही में सौर ऊर्जा स्थापित क्षमता 34% बढ़कर 3,269 मेगावाट हुई

नई दिल्ली | इस साल मार्च में देश में सौर ऊर्जा की स्थापित क्षमता 34% बढ़कर 3,269 मेगावाट पर पहुंच गई। यह इससे पिछली तिमाही में 2,448 मेगावाट और पिछले साल मार्च तिमाही में 2,391 मेगावाट थी। मेरकॉम कम्युनिकेशंस इंडिया के मुताबिक पहली तिमाही में सौर ऊर्जा की स्थापित क्षमता में इजाफा कुछ परियोजनाओं के पूरा होने से हुआ। लेकिन ग्रिड कनेक्शन जैसे मसलों की वजह से इनमें कुछ देरी भी देखने को मिली। भारत के सौर ऊर्जा के बाजार में मार्च तिमाही पहली ऐसी तिमाही रही जिसमें स्थापित क्षमता में 3 गीगावाट का इजाफा हुआ। यह लगातार पांचवीं ऐसी तिमाही रही। जिसमें कम से कम 2 गीगावॉट सौर ऊर्जा क्षमता स्थापित हुई।

X
जीएसटी : विशेष रिफंड पखवाड़े की अवधि दो दिन बढ़ी, अब 16 जून तक चलेगा अभियान
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..