--Advertisement--

रिटायर्ड कैप्टन राठौर को सात साल जेल की सजा

दिल्ली की विशेष सीबीआई कोर्ट ने 2006 के नौसेना वॉर रूम लीक मामले में बुधवार को रिटायर्ड कैप्टन सलाम सिंह राठौर को 7...

Danik Bhaskar | Jul 12, 2018, 03:20 AM IST
दिल्ली की विशेष सीबीआई कोर्ट ने 2006 के नौसेना वॉर रूम लीक मामले में बुधवार को रिटायर्ड कैप्टन सलाम सिंह राठौर को 7 साल कैद की सजा सुनाई है। कोर्ट ने एक अन्य आरोपी कमांडर (रिटायर्ड) जरनैल सिंह कालरा को मामले में बरी कर दिया। विशेष सीबीआई जज एसके अग्रवाल ने सरकारी गोपनीयता कानून के तहत राठौर को जासूसी करने का दोषी ठहराते हुए सजा सुनाई। कोर्ट ने सीबीआई के इस तर्क पर ध्यान दिया कि राठौर के कब्जे से ऐसे कई गोपनीय दस्तावेज बरामद हुए, जिनका उनके पास होने का कोई कारण नहीं था। सीबीआई ने राठौर के लिए 14 साल जेल की सजा की मांग की थी। 63 साल के हो चुके राठौर के वकील ने कहा कि सेना में 28 साल की उनकी सेवा में उन पर कोई आरोप नहीं लगा।

रक्षा महत्व की सूचनाएं लीक की गई थीं

2006 में नौसेना वाॅर रूम लीक मामले में रक्षा से संबंधित संवेदनशील सूचनाएं लीक की गई थीं। इस मामले में नौसेना के रिटायर्ड लेफ्टिनेंट कुलभूषण पाराशर, पूर्व कमांडर विजेेंदर राणा, बर्खास्त नौसेना कमांडर वीके झा, वायुसेना के पूर्व विंग कमांडर संभाजी एल सुर्वे और आर्म्स डीलर अभिषेक वर्मा के खिलाफ केस लंबित है और सभी जमानत पर हैं।