• Hindi News
  • National
  • मॉब लिंचिंग के आरोपियों का केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा ने किया सम्मान

मॉब लिंचिंग के आरोपियों का केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा ने किया सम्मान

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
झारखंड के रामगढ़ में बीफ ले जाने के शक में मारे गए युवक अलीमुद्दीन की हत्या के 8 आरोपियों को झारखंड हाईकोर्ट ने जमानत दे दी। जमानत मिलने के बाद केंद्रीय नागरिक उड्डयन राज्यमंत्री जयंत सिन्हा ने इन आरोपियों को अपने घर बुलाकर सम्मानित किया और फूलों की माला पहनाई और उनके साथ फोटो भी खिंचवाई। साथ ही भाजपा जिला कार्यालय में मिठाई बांटी गई। इस मामले पर विपक्षी पार्टियों ने कहा कि देश के 10 राज्यों में शक के आधार पर अभी तक 27 लोगों की हत्या की जा चुकी है और जयंत सिन्हा ऐसा करने वाले आरोपियो के स्वागत में लगे हैं। इन आरोपियों की रिहाई के लिए लगातार आंदोलन करने वाले पूर्व विधायक शंकर चौधरी ने कहा, वो कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हैं। चौधरी ने कहा कि अधिवक्ता बीएन त्रिपाठी भगवान की जगह पर हैं। इनके बहस की वजह से हमारे 8 भाइयों का जमानत मिली है। सभी लोगों को जमानत मिलने के बाद रामगढ़ में भव्य विजय जुलूस निकाला जाएगा।

यशवंत सिन्हा ने किया ट्वीट, अब नालायक बेटे का लायक बाप हूं
नई दिल्ली| पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने अपने बेटे और केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा का झारखंड में मॉब लिन्चिंग के आरोपियों को माला पहनाकर सम्मान करने की आलोचना की है। यशवंत ने ट्वीट कर लिखा, ‘कुछ समय पहले मैं लायक बेटे का नालायक बाप था। लेकिन अब रोल बदल गए हैं। यही ट्विटर है। मैं अपने बेटे के कृत्य को जायज नहीं ठहराता हूं लेकिन मुझे पता है कि इसके बाद भी मुझे गालियां सुनने को मिलेंगी। आप कभी जीत नहीं सकते।’ गौरतलब है कि ट्रोलर्स पहले यशवंत सिन्हा को लायक बेटे का नालायक बाप बताकर ट्रोल करते रहे हैं।

जयंत बोले, कानून को उसका काम करने दें
पिता चिल्लाता रहा यह मेरी बेटी है, भीड़ ने बच्चा चोर समझ की पिटाई
मेंगलुरू | कर्नाटक के मेंगलुरु में उग्र भीड़ ने अपने ही बच्चे को ले जा रहे एक शख्स पर हमला कर दिया और पीट-पीट कर अधमरा कर दिया। दक्षिणी कर्नाटक के बेलथांगडी के उजिरे में खालिद अपनी डेढ़ साल की बच्ची को रिक्शे पर लेकर जा रहा था। इस दौरान उसने किसी बात को लेकर बच्ची को डांट दिया जिस कारण वो रोने लगी। बच्ची को रोता देख दो बाइक सवारों ने उनका पीछा करना शुरू कर दिया। इसी बीच उन्होंने खालिद को रिक्शा से खींचते हुए पीटना शुरू कर दिया। कुछ और लोग भी वहां पहुंच गए और उन्होंने भी खालिद को मारना शुरू कर दिया।

जयंत सिन्हा ने अपनी सफाई में कहा, ‘जब उन लोगों को जमानत मिली तो वह मेरे घर आए। मैंने उन सभी को बधाई दी। भविष्य में कानून को उसका काम करने दें। जो आरोपी हैं उन्हें सजा मिलेगी और जो निर्दोष होंगे वह मुक्त होंगे।

त्रिपुराः मॉब लिचिंग पर जागरूक करने वाले की लोगों ने की हत्या
अगरतला | मॉब लिंचिंग की अफवाहों को रोकने के लिए त्रिपुरा सरकार ने लोगों को जागरूक करने के लिए एक टीम गठित की थी। लेकिन अफवाह के कारण लोगों ने शनिवार को इसी टीम का हिस्सा रहे एक व्यक्ति पर हमला कर दिया था जिस कारण उसकी मौत हो गई। अब इससे जुड़े मामले में पुलिस ने 7 लोगों को गिरफ्तार किया है। इस घटना के पीछे एक अफवाह थी जिसे कि सोशल मीडिया और जुबान के जरिए फैलाया जा रहा था। इसकी शुरुआत 11 साल के एक बच्चे का शव मोहनपुरा क्षेत्र में मिलने के बाद हुई थी, जिस पर कटे हुए के निशान थे। इन निशानों की वजह से खबर फैल गई कि बच्चे की किडनी निकाली गई है। इससे पहले 30 साल के जहीर खान जो कि एक रेहड़ीवाले थे उन्हें 1000 लोगों की भीड़ ने मार दिया। वह अपने तीन साथियों के साथ माल बेचने के लिए वैन से यात्रा कर रहे थे तभी भीड़ ने हमला कर दिया।

खबरें और भी हैं...