दिल्ली न्यूज़

  • Hindi News
  • Union Territory News
  • Delhi News
  • News
  • कमिश्नर अवकाश पर हैं और ज्वाइंट कमिश्नर ने जेडटीओ-2 को कर दिया अतिरिक्त कार्यभार से मुक्त
--Advertisement--

कमिश्नर अवकाश पर हैं और ज्वाइंट कमिश्नर ने जेडटीओ-2 को कर दिया अतिरिक्त कार्यभार से मुक्त

इन दिनों नगर निगम अधिकारियों में आपसी खींचतान चल रही है। सब अपनी-अपनी चला रहे हैं। नगर निगम कमिश्नर यशपाल यादव के...

Dainik Bhaskar

Jun 15, 2018, 02:05 AM IST
इन दिनों नगर निगम अधिकारियों में आपसी खींचतान चल रही है। सब अपनी-अपनी चला रहे हैं। नगर निगम कमिश्नर यशपाल यादव के अवकाश पर जाने की स्थिति में ज्वाइंट कमिश्नर-2 विवेक कालिया ने बीते बुधवार को समीर श्रीवास्तव को जोन-2 के जोनल टैक्सेशन ऑफिसर (जेडटीओ) के अतिरिक्त पदभार से मुक्त करने का आदेश जारी कर दिया। पटौदी के एसडीएम कालिया स्वयं अनु श्योकंद के लंबे अवकाश पर जाने के बाद से निगम में ज्वाइंट कमिश्नर का अतिरिक्त कार्यभार संभाल रहे हैं। ज्वाइंट कमिश्नर का यह आदेश निगम अधिकारियों में चर्चा का विषय बना हुआ है। अधिकारी आश्चर्य जता रहे हैं कि जिस अधिकारी को शहरी स्थानीय निकाय विभाग के प्रधान सचिव आनंद मोहन शरण के आदेश पर गुड़गांव नगर निगम में जेडटीओ की जिम्मेदारी सौंपी गई है, उसे ज्वाइंट कमिश्नर कैसे कार्यभार से मुक्त कर सकते हैं। जेसी के इस आदेश से स्वयं निगम कमिश्नर भी आश्चर्यचकित हैं। उन्होंने स्पष्ट कहा कि निगम में किसी अधिकारी से कार्यभार लेने व देने का अधिकार ज्वाइंट कमिश्नर को नहीं है। उनका यह आदेश निराधार है। मई में ज्वाइंट कमिश्नर अनु श्योकंद के लंबे अवकाश पर जाने के बाद से जोन-2 के जेसी का अतिरिक्त कार्यभार पटौदी के एसडीएम विवेक कालिया संभाल रहे हैं। जेसी का कार्यभार संभालते ही कालिया ने तोड़-फोड़ शुरू कर दी थी। उन्होंने अभिनंदन मैरेज हॉल के गेट की सील टूटने के मामले में जोन-2 के छह कर्मियों को बर्खास्त कर दिया था। अवकाश पर गए निगम कमिश्नर ने कहा कि वह अवकाश से लौटने के बाद मामले को देखेंगे।

अब जेसी कालिया ने एक और आदेश जारी कर दिया जो निगम कमिश्नर के अधिकार क्षेत्र के अंतर्गत आता है। उन्होंने समीर को जेडटीओ-2 के अतिरिक्त कार्य भार से मुक्त कर दिया। उन्होंने 13 जून को जारी अपने आदेश में कहा है कि जेडटीओ-2 कार्य असंतोषजनक रहा है, इसलिए उन्हें इस पद के अतिरिक्त कार्यभार से तत्काल मुक्त कर दिया जाता है।

जेसी ने जेडटीओ के कार्य को असंतोषजनक ठहराया

X
Click to listen..