--Advertisement--

पेट्रोल 5 साल में सबसे महंगा, 4.5 रु. और बढ़ सकते हैं दाम; कर्नाटक चुनाव के बाद तेजी से बढ़ीं कीमतें

डीजल तो अब तक के सबसे ऊंचे दाम पर पहुंच चुक है ही, पेट्रोल भी सितंबर 2013 (76.06 रु.) के बाद सबसे ज्यादा है।

Dainik Bhaskar

May 18, 2018, 05:14 AM IST
अगर तेल कंपनियां चुनाव से पहले के मार्जिन पर जाएं तो पेट्रोल 4 से 4.55 और डीजल 3.5 से 4 रुपए तक महंगा हो जाएगा। -फाइल अगर तेल कंपनियां चुनाव से पहले के मार्जिन पर जाएं तो पेट्रोल 4 से 4.55 और डीजल 3.5 से 4 रुपए तक महंगा हो जाएगा। -फाइल

- कर्नाटक चुनाव से पहले 19 दिन तक दाम नहीं बढ़ने से मार्जिन 2.70 रु. से घटकर 70 पैसे रह गया

- 24 अप्रैल से 13 मई तक दाम नहीं बढ़ाने से तेल कंपनियों को 500 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है

नई दिल्ली. कर्नाटक चुनाव में मतदान से पहले 19 दिन तक तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल के दाम नहीं बढ़ाए, लेकिन अब तेजी से बढ़ रहे हैं। 14 मई से महज 5 दिन में दिल्ली में पेट्रोल 98 पैसे और डीजल 1 रुपए 15 पैसे महंगा हो चुका है। शुक्रवार को यहां पेट्रोल 75.61 रुपए और डीजल 67.08 रु. लीटर हो गया। डीजल तो अब तक के सबसे महंगे दाम पर बना हुआ है, वहीं पेट्रोल भी सितंबर 2013 (76.06 रु.) के बाद सबसे ज्यादा है। वहीं, मुंबई में पेट्रोल 83.45 और डीजल 71.42 रुपए/लीटर बिक रहा है।

19 दिन तक तेल कंपनियों का मार्जिन कम रहा

- ब्रोकरेज फर्म कोटक इक्विटीज का कहना है कि 19 दिनों तक दाम नहीं बढ़ाने से तेल कंपनियों का मार्जिन कम रह गया है। पहले ग्रॉस मार्केटिंग मार्जिन 2.70 रु. लीटर था, जो अब 50 से 70 पैसे है। अगर तेल कंपनियां चुनाव से पहले के मार्जिन पर जाएं तो पेट्रोल 4 से 4.55 रुपए और डीजल 3.5 से 4 रुपए तक महंगा हो जाएगा।

अंतरराष्ट्रीय बेंचमार्क रेट 5.6% तक बढ़े, देश में कीमत 1.3% तक बढ़ी

- भारतीय कंपनियां अंतरराष्ट्रीय बेंचमार्क रेट के हिसाब से रोजाना दाम तय करती हैं। 24 अप्रैल को पेट्रोल का बेंचमार्क रेट 78.84 डॉलर था जो अब 5.65% बढ़कर 83.30 डॉलर प्रति बैरल हो गया है। डीजल का रेट 84.68 डॉलर से 5% बढ़कर 88.93 डॉलर हुआ है, लेकिन इस दौरान दिल्ली में पेट्रोल के दाम 0.92% और डीजल के 1.3% बढ़े हैं।

विधानसभा चुनावों से पहले मार्जिन बढ़ाएंगी

- ईरान पर प्रतिबंध और ग्लोबल डिमांड बढ़ने से कच्चे तेल के दाम आगे भी ऊंचे बने रहेंगे। मध्यप्रदेश , छत्तीसगढ़, राजस्थान और उत्तर-पूर्व के 4 राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं। कंपनियां इससे पहले मार्जिन बढ़ाना चाहेंगी।

14 मई को ही आशंका जताई गई थी कि पेट्राेल कंपनियां नुकसान की भरपाई करने के लिए लगातार बढ़ोतरी कर सकती हैं। -फाइल 14 मई को ही आशंका जताई गई थी कि पेट्राेल कंपनियां नुकसान की भरपाई करने के लिए लगातार बढ़ोतरी कर सकती हैं। -फाइल
X
अगर तेल कंपनियां चुनाव से पहले के मार्जिन पर जाएं तो पेट्रोल 4 से 4.55 और डीजल 3.5 से 4 रुपए तक महंगा हो जाएगा। -फाइलअगर तेल कंपनियां चुनाव से पहले के मार्जिन पर जाएं तो पेट्रोल 4 से 4.55 और डीजल 3.5 से 4 रुपए तक महंगा हो जाएगा। -फाइल
14 मई को ही आशंका जताई गई थी कि पेट्राेल कंपनियां नुकसान की भरपाई करने के लिए लगातार बढ़ोतरी कर सकती हैं। -फाइल14 मई को ही आशंका जताई गई थी कि पेट्राेल कंपनियां नुकसान की भरपाई करने के लिए लगातार बढ़ोतरी कर सकती हैं। -फाइल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..