दिल्ली में दूसरी कक्षा की बच्ची से कैंपस के अंदर ही स्कूल के इलेक्ट्रिशियन ने किया दुष्कर्म / दिल्ली में दूसरी कक्षा की बच्ची से कैंपस के अंदर ही स्कूल के इलेक्ट्रिशियन ने किया दुष्कर्म

शिक्षा के मंदिर में सुरक्षित नहीं हैं हमारे बच्चे

नीरज आर्या

Aug 10, 2018, 07:36 AM IST
Physical abuse with innocent child

नई दिल्ली. देश की राजधानी दिल्ली में एक और शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई है। गोल मार्केट के पास मंदिर मार्ग इलाके में एक सरकारी स्कूल के कैंपस के भीतर ही दूसरी कक्षा की छात्रा से दुष्कर्म किया गया।

दुष्कर्म का आरोपी स्कूल का ही इलेक्ट्रिशियन है। स्कूल की छुट्टी होने के बाद आरोपी बच्ची को परिसर में ही बने पंप हाउस में ले गया, जहां उसके साथ दुष्कर्म किया। घटना का खुलासा बुधवार रात तब हुआ जब बच्ची के प्राइवेट पार्ट्स से ब्लीडिंग हुई। आरोपी इलेक्ट्रिशियन राम आसरे को पुलिस ने गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया।

बच्ची ने बताया- लाल शर्ट वाले अंकल ने गलत काम किया है... पुलिस के मुताबिक 6 साल की पीड़ित बच्ची मंदिर मार्ग स्थित एनपी बंगाली गर्ल्स स्कूल में दूसरी कक्षा में पढ़ती है। बुधवार को स्कूल की छुट्टी होने के बाद आरोपी बच्ची को बहला फुसलाकर स्कूल परिसर में ही बने पंप हाउस के अंदर ले गया, जहां उसके साथ दुष्कर्मकिया। बच्ची के साथ घिनौनी हरकत करने के बाद आरोपी ने उसे छोड़ दिया। बच्ची कैब से घर पहुंची। उसने घर पर किसी को कुछ नहीं बताया, लेकिन रात में उसे ब्लीडिंग होने लगी, यह देख परिजन परेशान हो गए। बच्ची की तबीयत बिगड़ने पर उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टर ने बताया कि उसके साथ दुष्कर्म हुआ है। इसकी जानकारी फौरन पुलिस को दी गई। परिजन और पुलिस ने बच्ची से प्यार से पूरे घटनाक्रम पर बात की। बच्ची ने बताया स्कूल में एक अंकल उसे अपने साथ लेकर गए थे। उन्होंने लाल रंग की शर्ट पहन रखी थी। पुलिस ने गुरुवार को स्कूल प्रबंधन से बात की और फिर तफ्तीश स्कूल के ही इलेक्ट्रिशियन राम आसरे पर आकर ठहर गई। तस्वीर दिखाने पर बच्ची ने भी आरोपी को पहचान लिया।

30 दिन के भीतर दिल्ली-एनसीआर में ऐसी दूसरी घटना : दिल्ली-एनसीआर में 30 दिन के भीतर स्कूल में मासूमों के साथ हैवानियत की यह दूसरी घटना है। इससे पहले ग्रेटर नोएडा के डीपीएस में भी नर्सरी की बच्ची से स्वीमिंग कोच द्वारा दुष्कर्म करने का मामला सामने आया था।

X
Physical abuse with innocent child
COMMENT