Hindi News »Union Territory »New Delhi »News» Question Raised On Encounter

एनकाउंटर पर उठाया सवाल ; परिजनों ने दावा किया- पुलिस ने जिस संजीत को मारा, वो नाबालिग था

150 राउंड फायरिंग के बाद गैंगस्टर राजेश भारती समेत 4 बदमाश को किया था ढेर।

Bhaskar News | Last Modified - Jun 11, 2018, 09:17 AM IST

  • एनकाउंटर पर उठाया सवाल ; परिजनों ने दावा किया- पुलिस ने जिस संजीत को मारा, वो नाबालिग था
    मौके पर मारे गए बदमाश।

    नई दिल्ली.फतेहपुर बेरी इलाके में खरक गांव के नजदीक हुए एनकाउंटर में मारे गए राजेश भारती समेत चारों बदमाशों के परिजनों ने स्पेशल सेल पर ही सवाल खड़े कर दिए हैं। उनका कहना है कि ये फर्जी कार्रवाई है। हम पूरे मामले की सीबीआई जांच की मांग करेंगे। फिलहाल, उन्होंने शव लेने से भी इंकार कर दिया है। परिजनों का दावा है कि संजीत उर्फ विद्रोही तो नाबालिग था, पुलिस ने इस पर भी गाेलियां दागीं। हम इसके नाबालिग होने का कोर्ट में सबूत पेश करेंगे। दिल्ली और हरियाणा में दो लाख के इनामी राजेश भारती के जानकार का कहना है कि उस पर जितने भी केस दर्ज हैं, ये सभी कोर्ट में ट्रायल पर हैं। ऐसा कोई केस नहीं जिसमें उसे दोषी करार दिया गया हो।

    राजेश पर हरियाणा पुलिस ने मकोका लगा रखा है। इधर पुलिस ने चारों के पोस्टमार्टम मेडिकल बोर्ड की देखरेख में कराने का निर्णय लिया है। पुलिस ने मानवाधिकार आयोग को भी इसकी जानकारी दे दी है। वहीं, राजेश भारती समेत तीन बदमाशों के परिजनों ने उनकी पहचान कर ली है।

    पुलिस पर इसलिए उंगली... 30 में 16 पुलिसकर्मी ही बुलेटप्रूफ जैकेट में क्यों थे

    1. इंडीवर कार में बैठे 3 बदमाश ढेर किए गए हैं, ये तीनों बीच वाली सीट पर बैठे थे। अगली दोनों सीटों पर कौन बैठा था? न तो ये पता है और न ही वहां खून के निशान हैं।

    2. जिस इलाके में एनकाउंटर किया गया, वहां कई सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं लेकिन जहां एनकाउंटर हुआ, उस जगह पर कोई सीसीटीवी कैमरा नहीं लगा था।

    3. अगर पुलिस पूरी तैयारी से गई थी तो 30 में से सिर्फ 16 लोग ही क्यों बुलेटप्रूफ जैकेट पहने थे? और जो लोग जैकेट नहीं पहने थे तो मुठभेड़ के दौरान वे आगे क्यों गए थे?

    हेड कांस्टेबल की भूमिका संदेह के घेरे में


    फतेहपुर बेरी थाने में तैनात एक हेड कांस्टेबल की भूमिका भी सवालों के घेरे में है। सूत्रों से जानकारी मिली है कि हेड कांस्टेबल का लंबे समय से उस फार्म हाउस में उठना-बैठना था, जहां अक्सर राजेश भारती अपने सहयोगियों के साथ आया करता था। उसे बदमाशों के मूवमेंट की भनक थी, बावजूद इसके उसने पुलिस अफसरों से जानकारी शेयर नहीं की।

    राजेश के भाई ने कहा- हम कोर्ट जाएंगे

    राजेश भारती के भाई धर्मवीर ने बताया कि हम लोग पुलिस की इस कार्रवाई के खिलाफ कोर्ट जाने की तैयारी कर रहे हैं। मांग करेंगे कि सीबीआई जांच कराई जाए। दूसरी तरफ पुलिस का दावा है कि इन बदमाशों को पहले जिंदा पकड़ने की कोशिश की गई थी, उन्हें सरेंडर करने के लिए कहा गया, पर उनकी तरफ से पहले फायरिंग हुई। इसके जवाब में आत्मसुरक्षा के लिए पुलिस को भी फायरिंग करनी पड़ी।

    ये था मामला

    दिल्ली पुलिस की स्पेशल 30 सेल ने शनिवार को एनकाउंटर में गैंगस्टर राजेश भारती और उसके गैंग के 3 सदस्यों को ढेर कर दिया। भारती दिल्ली पुलिस की 10 मोस्ट वांटेड बदमाशों की सूची में शामिल था। वह इसी साल फरवरी में हरियाणा पुलिस की हिरासत से भाग निकला था। यह एनकाउंटर छतरपुर इलाके में एक फार्म हाउस के पास हुआ। बदमाशों की ओर से करीब 50 और पुलिस की ओर से 100 राउंड फायरिंग हुई। गोलीबारी में राजेश कंडेला उर्फ भारती, संजीत विद्रोही, गुडगावं निवासी उमेश उर्फ डॉन व दिल्ली के घेवरा निवासी वीरेश राणा उर्फ विक्कू ढेर हो गए। वहीं उनके गैंग का जींद निवासी कपिल घायल हुआ। 6 पुलिसकर्मी भी गोली लगने से जख्मी हुए हैं।

Topics:
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×