• Hindi News
  • Union Territory
  • New Delhi
  • News
  • New Delhi रघुवर बोले 29 नवंबर को झारखंड में 50 फूड प्रोसेसिंग प्लांट की नींव रखेंगे
--Advertisement--

रघुवर बोले-29 नवंबर को झारखंड में 50 फूड प्रोसेसिंग प्लांट की नींव रखेंगे

Dainik Bhaskar

Oct 10, 2018, 02:15 AM IST

New-delhi News - मुख्यमंत्री रघुवर दास ने 29-30 नवंबर को होने वाले ग्लोबल एग्रीकल्चर एंड फूड समिट के लिए मंगलवार को नई दिल्ली में रोड...

New Delhi - रघुवर बोले-29 नवंबर को झारखंड में 50 फूड प्रोसेसिंग प्लांट की नींव रखेंगे
मुख्यमंत्री रघुवर दास ने 29-30 नवंबर को होने वाले ग्लोबल एग्रीकल्चर एंड फूड समिट के लिए मंगलवार को नई दिल्ली में रोड शो किया। निवेशकों से कहा-आप रांची आएं। सरकार आपके लिए ग्रीन कारपेट बिछा कर रखेगी। 29 नवंबर को झारखंड में एक साथ 50 फूड प्रोसेसिंग प्लांट का शिलान्यास किया जाएगा। एग्रीकल्चर और फूड प्रोसेसिंग क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए सरकार आपके साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलेगी। खनिज संपदा वाले इस प्रदेश को कृषि क्षेत्र का सिरमौर बनाने में कोई कोताही नहीं होगी। पूरी दुनिया ऑर्गेनिक खेती को बढ़ावा दे रही है। विश्व में जैविक खेती की मांग बढ़ी है। झारखंड में जैविक खेती कर इस रास्ते से आप विश्व बाजार पर कब्जा कर सकते हैं। सीएम ने कहा कि फरवरी 2017 में रांची में मोमेंटम झारखंड का आयोजन हुआ था। इसमें फूड प्रोसेसिंग प्लांट के लिए कई एमओयू हुए थे। इनमें से 89 प्लांट शुरू हो गए हैं।

न्योता : झारखंड आएं, सरकार ग्रीन कारपेट बिछाकर रखेगी

कृषि से राज्य की अलग तस्वीर गढ़ेंगे

मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड देश का सबसे समृद्ध और सर्वाधिक संभावनाओं वाला प्रदेश है। देश की कुल खनिज संपदा का 40 फीसदी झारखंड में ही है। झारखंड को खनिज और खनिज आधारित उद्योगों के लिए जाना जाता रहा है। लेकिन अब सरकार ने कृषि से राज्य की अलग तस्वीर गढ़ने की दिशा में प्रयास शुरू कर दिया है। यहां कुशल, ईमानदार और मेहनतकश श्रमिक हैं। इनकी बदौलत ही राज्य में कृषि क्रांति लाई जाएगी।

निवेशकों को दिए जवाब भी

मोहन सक्सेना : क्या सरकार काफ बैंक की स्थापना करेगी? ज्यादा दूध तभी होगा, जब अच्छी नस्ल की बछिया मिलेगी। हम काफ बैंक खोलने को तैयार हैं।

सीएम : आप झारखंड आएं। सेक्रेटरी को योजना बताएं। सरकार पूरी मदद करेगी। ब्रीड इंप्रूवमेंट पर पहले से ध्यान दिया जा रहा है।

विनोद गोयल : मिट्टी में क्या दिक्कत है? कब खाद-पानी देना है, इसका सॉफ्टवेयर बनाया है। इसमें काम करना चाहता हूं। को-ऑपरेटिव फार्मिंग में भी जाना चाहता हूं। सरकार जमीन उपलब्ध कराएगी?

सीएम : न्यू इनोवेटिव टेक्नोलॉजी के साथ आएं। सरकार काम करने का मौका देगी। को-ऑपरेटिव फार्मिंग के लिए जमीन की समस्या नहीं है।

X
New Delhi - रघुवर बोले-29 नवंबर को झारखंड में 50 फूड प्रोसेसिंग प्लांट की नींव रखेंगे
Astrology

Recommended

Click to listen..