दिल्ली न्यूज़

--Advertisement--

DB SPL: एसबीआई ने चेक पर साइन न मिलने पर ग्राहकों से वसूले 39 करोड़ रुपए

एसबीअाई काटता है 150 रुपए, 40 माह में लौटाए 24 लाख 71 हजार चेक

Dainik Bhaskar

Jun 10, 2018, 08:39 AM IST
एसबीअाई काटता है 150 रुपए, 40 माह में लौटाए 24 लाख 71 हजार चेक। - फाइल एसबीअाई काटता है 150 रुपए, 40 माह में लौटाए 24 लाख 71 हजार चेक। - फाइल

नई दिल्ली. स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने पिछले 40 माह में 38 करोड़ 80 लाख रुपए सिर्फ चेक पर हस्ताक्षर का मिलान न होने के एवज में ग्राहकों के खाते से काट लिए हैं। इस तरह एसबीआई सालाना औसतन 12 करोड़ रुपए कमाई कर रहा है। वित्त वर्ष 2017-18 में सिर्फ हस्ताक्षर नहीं मिलने की वजह से खाताधारकों के खाते से 11.9 करोड़ रुपए काटे गए हैं। सिर्फ स्टेट बैंक में ही हर दिन दो हजार से ज्यादा चेक रिटर्न हो रहे हैं। इन सभी खाताधारकों के खाते में काटे गए चेक के एवज में पर्याप्त राशि थी। एक आरटीआई के जवाब में बैंक ने माना कि कोई भी चेक रिटर्न हो तो बैंक 150 रुपए चार्ज करता है और इस पर जीएसटी भी लगाता है। यानी हर रिटर्न चेक का खमियाजा खातेदार को 157 रुपए में भुगतना पड़ता है, भले ही उसके खाते में चेक को ऑनर करने की रकम मौजूद हो।

- बैंकिंग मामलों पर रिसर्च करने वाले आईआईटी मुंबई के प्रोफेसर आशीष दास ने बताया कि रिजर्व बैंक के नियमों को ताक पर रखते हुए कई बैंक ग्राहकों से कई गैरवाजिब शुल्क वसूल रहे हैं। हस्ताक्षर नहीं मिलने के नाम पर शुल्क वसूला जाना उनमें से एक है।

40 महीने में लौटाए गए 24 लाख 71 हजार चेक

- भारतीय स्टेट बैंक ने पिछले 40 महीने में 24 लाख 71 हजार 544 लाख चेक हस्ताक्षर मेल नहीं होने के कारण लौटाए हैं।

वित्त वर्ष चेक लौटाए (हस्ताक्षर मैच नहीं)
2015-16 600169
2016-17 992474
2017-18 795769
2018-19 83132 (सिर्फ अप्रैल)

हस्ताक्षर जांच का अंतिम गेट, रेखाएं और आकार करते हैं चेक

- चेक की जांच विभिन्न तरीके से होती हैं। चेक पोस्टडेटेड तो नहीं है। अंक व अक्षर सही है या नहीं। ओवरराइटिंग तो नहीं है। सबसे अंत में हस्ताक्षर की जांच होती है जो कि अंतिम गेट है। बैंक अधिकारी ने बताया कि हस्ताक्षर रेखाचित्र की तरह है। हस्ताक्षर मिलाने के दौरान यह देखा जाता है कि रेखाएं उसी अनुपात में हैं या नहीं, उसका आकार मेल खा रहा है या नहीं, हस्ताक्षर का फ्लो मेल खा रहा है या नहीं।

-एसबीआई के अति वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक बैंकर्स हस्ताक्षर मिलाने में एक्सपर्ट होते हैं और प्रशिक्षण के दौरान उन्हें हस्ताक्षर मिलाने की क्लास दी जाती है। हस्ताक्षर में फ्रॉड होने पर मामले को फॉरेंसिंक ऑडिट के पास भेज दिया जाता है। फॉरेंसिक एक्सपर्ट उसकी जांच करते हैं।

समस्या का क्या है समाधान

- बैंक अधिकारियों ने बताया कि अमूमन अगर आपने बिजली, पानी, बच्चों की स्कूल फीस जैसी जरूरी चीजों के लिए चेक काटा है और आपके हस्ताक्षर में थोड़ा अंतर भी है तो उस चेक को पास कर दिया जाता है। लेकिन अगर किसी ज्वैलर्स को एक लाख का चेक काटा है और हस्ताक्षर में जरा भी अंतर है, तो चेक को वापस कर दिया जाता है। गलत हस्ताक्षर को पास करने पर बैंक कर्मचारी सस्पेंड हो जाते हैं और कई बार तो नौकरी जाने की नौबत आ जाती है। अगर हस्ताक्षर नहीं मिल रहे हैं, तो बैंक में जाकर अपने पहचान पत्र के साथ आप अपना नया हस्ताक्षर बैंक में दर्ज करा सकते हैं।

40 महीने में लौटाए गए 24 लाख 71 हजार चेक। - फाइल 40 महीने में लौटाए गए 24 लाख 71 हजार चेक। - फाइल
X
एसबीअाई काटता है 150 रुपए, 40 माह में लौटाए 24 लाख 71 हजार चेक। - फाइलएसबीअाई काटता है 150 रुपए, 40 माह में लौटाए 24 लाख 71 हजार चेक। - फाइल
40 महीने में लौटाए गए 24 लाख 71 हजार चेक। - फाइल40 महीने में लौटाए गए 24 लाख 71 हजार चेक। - फाइल
Click to listen..