--Advertisement--

मां से कहा जरूरी काम से आईआईटी जा रहा हूं और सातवीं मंजिल से कूद कर की आत्महत्या

2010 में आईआईटी दिल्ली से ही किया था बीटेक, गूगल इंडिया में कर चुका था काम, मां बोली- काश... उसे नहीं जाने देती

Dainik Bhaskar

Jun 09, 2018, 06:49 AM IST
मृतक अंशुम मृतक अंशुम

नई दिल्ली. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान की सातवीं मंजिल से कूद कर पूर्व छात्र ने आत्महत्या कर ली। घटना शुक्रवार सुबह 11 बजे की है। वह मां से यह कहकर निकला था कि उसे आईआईटी में काम है और जाना जरूरी है। पुलिस यह मान कर चल रही है कि वह तनाव में था। दक्षिणी पश्चिमी जिला पुलिस उपायुक्त मिलिंद डुंबरे ने बताया कि 31 वर्षीय अंशुम गुप्ता मां के साथ सीआर पार्क में रहता था। सुबह आईआईटी से फोन आया कि अंशुम बिल्डिंग से कूद गया है। अंशुम ने आईआईटी दिल्ली से 2010 में बीटेक किया था। इसके बाद उसकी नोएडा की कंपनी में नौकरी लग गई। डिप्रेशन में आ गया...

- कुछ महीने बाद गूगल इंडिया में जॉब लग गई, जहां उसने दो साल काम किया,लव बाद में इस्तीफा दे दिया था।

- उसके बाद कैब बुकिंग कंपनी इबोला ज्वाइन की। लेकिन यहां भी ज्यादा दिन मन नहीं लगा और 4 महीने बाद इस्तीफा दे दिया।

- करीब 4 साल से वह कोई नौकरी नहीं कर रहा था। उसने कई कंपनियों में नौकरी को ट्राय किया था इससे वह डिप्रेशन में आ गया।

- घर के नजदीक क्लीनिक में अंशुम का उपचार चल रहा था। शुक्रवार सुबह 10 बजे अंशुम आईआईटी पहुंचा और वहां आईआरडी ब्लॉक में बनी इमारत की 7वीं मंजिल से छलांग लगा दी। जिससे उसकी मौत हो गई।

मां बोली- काश... उसे नहीं जाने देती

- शुक्रवार सुबह अंशुम ने मां को बताया कि वह आईआईटी काम से जा रहा हूं।

- मां पूछती रह गई कि ऐसा क्या हो गया कि उसे आईआईटी जाने की जरूरत पड़ गई। उसने कहा था जाना जरूरी है।

- दोपहर में मां को उसके आईआईटी के मुख्य इमारत की सातवीं मंजिल से कूद कर आत्महत्या करने की सूचना मिली।

- यह सुनते ही वह बदहवास हो गई, बोली- मैंने पूछा तो क्यों जा रहा है। मुझे लगा किसी से मिलने जा रहा है। ऐसा पता होता तो उसे नहीं जाने देती।

- पेशे से इंजीनियर अंशुम इन दिनों घर पर ही रहता था। परिजन भी उसका ध्यान रखते थे। शुक्रवार को सुबह उठते ही वह तैयार हुआ और आईआईटी के लिए निकल गया।

X
मृतक अंशुममृतक अंशुम
Bhaskar Whatsapp
Click to listen..