• Hindi News
  • Union Territory
  • New Delhi
  • News
  • New Delhi News trains on the railway crossing have to be done so that the trains have to wait for half an hour now the bouncers will take care of the traffic out of the traffic

रेलवे क्रॉसिंग पर इतना ट्रैफिक कि ट्रेनों को करना पड़ता है आधे घंटे तक इंतजार, अब बाउंसर संभालेंगे ट्रेनों को ट्रैफिक से बाहर निकालने का जिम्मा

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:21 AM IST

New-delhi News - दिल्ली में कई ऐसी संवेदनशील रेलवे क्रॉसिंग हैं जहां ट्रैफिक के दबाव के चलते ट्रेनों को आउटर में ही खड़ा करना पड़...

New Delhi News - trains on the railway crossing have to be done so that the trains have to wait for half an hour now the bouncers will take care of the traffic out of the traffic
दिल्ली में कई ऐसी संवेदनशील रेलवे क्रॉसिंग हैं जहां ट्रैफिक के दबाव के चलते ट्रेनों को आउटर में ही खड़ा करना पड़ जाता है। इस समस्या से निपटने के लिए अब दिल्ली रेलवे मंडल ने कुछ क्रॉसिंगों पर बाकायदा मार्शल नियुक्त करने का फैसला लिया है। ये मार्शल न सिर्फ ट्रैफिक कंट्रोल करेंगे बल्कि रेलवे फाटक के बंद होने में बाधा पैदा करने वालों से भी निपटेंगे। दिल्ली मंडल के सभी संवेदनशील 5 रेलवे क्रॉसिंग पर आरपीएफ को हटाकर उनके जगह मार्शलों को तैनात करने जा रही है। इन क्रॉसिंगों पर एक शिफ्ट में चार मार्शल काम करेंगे। इनका काम दोनों तरफ के ट्रैफिक मैनेजमेंट करने के साथ-साथ ट्रेन के आने-जाने पर फाटक बंद करना भी होगा। दिल्ली मंडल के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार रेलवे क्रॉसिंगों पर वाहनों की संख्या अधिक होने के चलते ट्रेन को चलाना बेहद मुश्किल हो रहा है।

दिल्ली रोहतक रूट पर घेवरा-नांगलोई दिल्ली सोनीपत रूट पर नरेला बादली के बीच 3 रेलवे क्रॉसिंग संवेदनशील

दिल्ली रोहतक रोड पर घेवरा और नांगलोई दिल्ली सोनीपत रूट पर नरेला बादली के बीच तीन रेलवे क्रॉसिंग काफी संवेदनशील हैं। इस रोड पर ट्रैफिक बहुत ज्यादा रहता है एक बार अगर रेलवे क्रॉसिंग खुल जाए तो उसे बंद करना बहुत मुश्किल हो जाता है। इस वजह से ट्रेनों को बीच में ही रोकना पड़ता है कई बार तो ट्रेनों को आधा घंटा तक ट्रैफिक से छंटने का इंतजार करना पड़ता है।

रेलवे स्टेशन पर बनेगी विडियो वॉल

रेलवे स्टेशन पर पहुंचने के बाद ट्रेन की जानकारी के लिए छोटे डिस्प्ले बोर्ड परेशानी का कारण बनते हैं। असुविधा से निपटने को रेलवे ने बड़े डिस्प्ले लगाने का फैसला लिया है। योजना के तहत रेलवे स्टेशनों पर मेट्रो स्टेशनों के तर्ज पर वीडियो वॉल लगाई जाएगी। विडियो वॉल से एक तरफ यात्रियों को जानकारी मिलेगी साथ ही रेलवे इस पर विज्ञापन दिखा कर हर माह 20 लाख रु. की आमदनी कर लेगी। वीडियो वॉल पर पैसेंजर ट्रेनों से जुड़ी ट्रेनों के आने-जाने वाली ट्रेनों के नाम, प्लेटफॉर्म नंबर से देख सकेंगे।

विडियो वॉल| 70 प्रतिशत ट्रेनों की जानकारी, 30% कमर्शियल विज्ञापन

दिल्ली डिविजन के अधिकारी के अनुसार हजरत निजामुद्दीन स्टेशन पर वीडियो वॉल लगाने का काम शुरू हो गया है। बाद में इसे नई दिल्ली, पुरानी दिल्ली, आनंद विहार रेलवे स्टेशनों पर पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप योजना के तहत वीडियो वॉल को लगाया जाएगा। विडियो वॉल पर 70% ट्रेनों की जानकारी और 30% कमर्शियल विज्ञापन दिखाए जाएंगे। ऐसे वीडियो वाॅल राजीव चौक और केंद्रीय सचिवालय मेट्रो स्टेशनों पर लगी हैं।

X
New Delhi News - trains on the railway crossing have to be done so that the trains have to wait for half an hour now the bouncers will take care of the traffic out of the traffic
COMMENT

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543