--Advertisement--

म्युजिक दूर कर सकता है आपकी एंजायटी और डिप्रेशन, 100 में 57 ने कहा- रोज सुबह एक घंटा गाना सुनने से हुआ फायदा

हार्ट केयर फाउंडेशन ने 100 मरीजों पर दो महीने के लिए किया सर्वे, 13 दिन बाद दिखने लगा असर

Danik Bhaskar | Jun 09, 2018, 06:56 AM IST
डेमो फोटो डेमो फोटो

नई दिल्ली. रोज सुबह एक घंटा गाना सुनिए, इससे आपकी एंजायटी और डिप्रेशन की शिकायत दूर हो जाएगी। 100 लोगों पर किए गए सर्वे में पाया गया कि जिन लोगों ने रोजाना सुबह एक घंटे गाना सुना उनके एंजायटी और डिप्रेशन के लक्षण कम हो गए। 57 ने माना कि गाना सुनने से अच्छा फील होने लगा। हार्ट केयर फाउंडेशन के अध्यक्ष और वरिष्ठ हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. केके अग्रवाल ने बताया कि एंजायटी मानसिक बीमारी है। जिसमें सिर्फ 20% ही लंबे समय तक अच्छी तरह से रह पाते हैं।

मूड हल्का करता है संगीत

डॉ. अग्रवाल ने बताया कि संगीत तनाव से छुटकारा दिलाता है। यह एंजायटी और डिप्रेशन को कम करता है। यह मूड को भी हल्का करने में मदद करता है। संगीत का इस्तेमाल मरीज को ठीक करने में किया जा सकता है। जिन लोगों ने रोजाना संगीत सुना उनमें यह लक्षण 80% तक कम हो गए।

जिनमें नहीं हुआ सुधार वह क्रॉनिक एंजायटी की चपेट में थे

गाना सुनने वाले 43 लोगों ने कहा इसका ज्यादा फायदा उन्हें नहीं हुआ। हालांकि इन्होंने माना कि दिनचर्या में गाना सुनने की प्रक्रिया रेगुलर नहीं थी। जिन लोगों को इसका फायदा नहीं वह एंजायटी के क्रॉनिक रूप से पीड़ित पाए गए।

ये हैं एंजायटी के लक्षण

आतंक, बेचैनी, भय, जी घबराना, ठंड लगना, पसीना आना, सुस्ती, सांस उखड़ना, मुंह सूखना, मांसपेशियों में तनाव और चक्कर आना।

एंजायटी और डिप्रेशन के मरीज रखें ख्याल

- कॉफी, चाय, कोला, चॉकलेट समहित कैफीन समृद्ध भोजन या पेय का सेवन कम करें।

- कैफीन से मूड बदलता है और इससे एंजायटी और डिप्रेशन और बढ़ सकता हैं।

- सही खाएं, व्यायाम करें। डिप्रेशन से छुट्टी दिलाने में एरोबिक्स भी मदद करता है।

- सात से आठ घंटे की नींद जरूरी है।