Home | Union Territory | New Delhi | News | Youth murder by firing in battle of domination

वर्चस्व की लड़ाई में फायरिंग कर युवक की हत्या, परिजनों ने थाने पर किया पथराव

तिगड़ी में आधा दर्जन युवकों ने ताबड़तोड़ किया हमला, दो आम लोग भी घायल

Bhaskar News| Last Modified - Aug 09, 2018, 05:02 AM IST

Youth murder by firing in battle of domination
वर्चस्व की लड़ाई में फायरिंग कर युवक की हत्या, परिजनों ने थाने पर किया पथराव

पुलिस ने 10 आरोपियों को किया है नामजद

 

नई दिल्ली.  नेबसराय थाना क्षेत्र के तिगड़ी में मंगलवार देर रात 12.45 बजे ताबड़तोड़ फायरिंग कर युवक आबिद (32) की हत्या कर दी गई। उस पर चाकू से भी हमला किया गया। गोली-बारी की चपेट में दो अन्य लोग भी आ गए। उनका इलाज चल रहा है। पुलिस ने एक नाबालिग समेत तीन आरोपियों को हिरासत में लिया है।

जांच में पता चला है कि जनवरी में एक युवक की हुई हत्या का बदला लेने के लिए वारदात की गई। दोनों पक्षों में लंबे समय से वर्चस्व की लड़ाई चल रही है। पुलिस के मुताबिक देर रात तिगड़ी में फायरिंग की सूचना मिली थी। लोगों ने बताया कि वारदात के बाद हमलावर पिस्टल, चाकू लहराते हुए भाग निकले। हत्या और हत्या के प्रयास में 10 आरोपियों को नामजद किया गया है। पुलिस को मिली सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में चार से पांच आरोपियों की पहचान कर ली गई है। 

 

6 महीने पहले हुई भाई की हत्या का बदला लेने के लिए वारदात को दिया गया अंजाम:  दक्षिणी जिले के एक पुलिस अधिकारी ने बताया यह वारदात इसी साल 28 जनवरी को तिगड़ी इलाके में साहिल की गोली मारकर की गई हत्या का बदला है। नेबसराय थाने में आरिफ के बयान पर केस दर्ज किया था, जिसमें सलीम उर्फ पव्वा, आबिद के भाई शौकत और आबिद को नामजद किया गया था। हालांकि पड़ताल में पुलिस को आबिद के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिला। वारदात के समय आबिद की लोकेशन अलीगढ़ में आई, जिसका फायदा उसे मिल गया। सलीम और शौकत अभी जेल में हैं। यह केस कोर्ट में अभी विचाराधीन है। पिछली तारीख पर पुलिस ने आबिद के परिजनों को अलर्ट किया था कि उसे इलाके से दूर रखा जाए। इसके चलते ही आबिद ने खुद पर हमले की आशंका को देखते हुए फरीदाबाद में शरण ले ली थी।

 

आबिद के तिगड़ी में होने की सूचना पर आए बदमाश:  पुलिस सूत्रों के मुताबिक मंगलवार रात को आरोपी पक्ष को खबर लग गई कि आबिद तिगड़ी में आया हुआ है। यह पता चलते ही करीब दर्जनभर युवकों ने आबिद को घेर कर पहले चाकू से वार किए और बाद में फायरिंग कर भाग गए। इस गोलीबारी में 17 वर्षीय नाबालिग समेत दो लोग जख्मी हो गए। पुलिस सूत्रों के अनुसार एक को जल्द ही छ़ुट्टी मिल जाएगी, जबकि दूसरे की हालत नाजुक है। उसका सफदरजंग अस्पताल में उपचार चल रहा है।

 

आबिद फरीदाबाद जेल से छूट कर आया था:  डीसीपी ने बताया हत्या के इस केस में दानिश, आरिफ व एक नाबालिग को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ की जा रही है। उनकी निशानदेही पर वारदात में शामिल अन्य आरोपियों की तलाश में दबिश डाली जा रही है। डीसीपी ने बताया आबिद लूट के एक केस में फरीदाबाद जेल से छूटकर लौटा था।

 

परिजनों ने बदरपुर रोड पर जाम लगा दिया: वारदात के बाद आबिद के परिजन और रिश्तेदारों ने नेबसराय थाने पहुंच कर पुलिस पर ठीक से जांच नहीं करने का आरोप लगाया। हिंसक लोगों ने थाने पर पथराव भी किया। सीनियर अफसरों की समझाइश पर वे शांत हुए। आधा घंटे चले विरोध प्रदर्शन के दौरान उन्होंने महरौली बदरपुर रोड पर जाम भी लगाया।

 

इधर... युवक की पत्थर से कुचलकर की हत्या 

नरेला में करण उर्फ सागर (28) नामक युवक की पत्थर मारकर हत्या कर दी गई। पहचान छुपाने के लिए युवक का चेहरा भी कुचल दिया। इसके बाद आरोपी शव सड़क किनारे फेंककर फरार हो गए। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया। पुलिस अज्ञात बदमाशों के खिलाफ केस दर्ज कर जांच कर रही है। करण साफियाबाद गांव में रहता था। दो महीने पहले उसकी शादी हुई थी। मंगलवार को करण के पिता का सब्जी मंडी नरेला में किसी से झगड़ा हो गया था। करण वहां अकेले ही पहुंच गया। बीती शाम करण का फोन आया था कि उसका झगड़ा हो गया है। उसके बाद करण घर नहीं लौटा। बुधवार सुबह बॉर्डर पर करण का शव मिला। चेहरा पत्थरों से कुचला हुआ था।

prev
next
Topics:
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now