--Advertisement--

आई लीग फुटबॉल: मिनर्वा पंजाब ने चर्चिल ब्रदर्स को हराकर जीता खिताब

मिनर्वा पंजाब ये खिताब जीतने वाली नॉर्थ इंडिया की पहली टीम।

Danik Bhaskar | Mar 09, 2018, 04:36 AM IST
जीत के बाद मिनर्वा की टीम। मिन जीत के बाद मिनर्वा की टीम। मिन

चंडीगढ़/पंचकूला. मिनर्वा पंजाब एफसी की टीम आई-लीग फुटबॉल की नई चैंपियन बन गई है। उसने गुरुवार को अपने अंतिम मुकाबले में चर्चिल ब्रदर्स को 1-0 से हराया। इस जीत के साथ ही उसने खिताब पर कब्जा कर लिया। मिनर्वा यह खिताब जीतने वाली नॉर्थ इंडिया की पहली टीम है। उसने 21 साल बाद पंजाब की इंडियन फुटबॉल मैप पर वापसी कराई है। इससे पहले जेसीटी ने 1996-97 में नेशनल लीग का खिताब हासिल किया था। तब आई-लीग को नेशनल फुटबॉल लीग के नाम से जाना जाता था। मिनर्वा ने 2016-17 पहली बार आईलीग में हिस्सा लिया था। तब टीम अंतिम स्थान पर रही थी।

18वें मुकाबले में गोवा के स्टार क्लब चर्चिल ब्रदर्स को 1-0 से हराया
मिनर्वा की टीम जब चर्चिल ब्रदर्स के खिलाफ उतरी तो वह लीग में 32 अंकों के साथ टॉप पर थी। पर नेरोका (31), ईस्ट बंगाल (30) और मोहन बागान (30) भी खिताबी रेस में बने हुए थे। इस कारण मिनर्वा को खिताब हासिल करने के लिए जीत जरूरी थी और वह इसमें कामयाब भी रही। उसने अपने 18वें मुकाबले में गोवा के स्टार क्लब चर्चिल ब्रदर्स को 1-0 से हराया।

मोहन बागान तीसरे और ईस्ट बंगाल चौथे स्थान पर

विजेता टीम के लिए मैच का एकमात्र गोल विलियम ओपोकू ने किया। उनकी किक से 16वें मिनट में गोल आया। इस जीत के बाद टीम को तीन अंक मिले और क्लब 35 अंक लेकर टेबल में शीर्ष पर रहा। उन्हें लगातार टक्कर दे रही नेरोका की टीम ने ईस्ट बंगाल से ड्रॉ खेला। वह 32 अंक के साथ दूसरे स्थान पर रही। मोहन बागान ने गोकुलम से ड्रॉ खेला। मोहन बागान (31) तीसरे और ईस्ट बंगाल (31) चौथे स्थान पर रहे। आई-लीग में लगातार दूसरे साल रेलिगेशन का सामना कर चुकी टीम ने खिताब जीता। इससे पहले 2017 में आईजोल एफसी की टीम चैंपियन बनी थी।