--Advertisement--

लड़की से गैंगरेप करने वाले आरोपी को पीड़िता ने जड़े थप्पड़, ऐसे किया अरेस्ट

बेटे का पिता बना है आरोपी, दो बेटियां-एक बेटा पहले से

Danik Bhaskar | Nov 25, 2017, 07:08 AM IST
ऑटो का नंबर (CH78-T XX40), पुलिस के पास इतना ही नंबर था। ऑटो का नंबर (CH78-T XX40), पुलिस के पास इतना ही नंबर था।

चंडीगढ़. बीते शुक्रवार को ऑटो में सवार हुई 22 साल की लड़की से सेक्टर-53 में गैंगरेप करने वाले गिरोह का पर्दाफाश हो गया है। थाना-49 पुलिस ने ऑटो ड्राइवर मोहम्मद इरफान को गिरफ्तार किया है। वह जीरकपुर का रहने वाला है। रेप में उसके दो साथी सुल्तानपुर का पोपू और फैजाबाद का गरीब भी शामिल थे। दोनों फैजाबाद भाग गए हैं। पुलिस उनकी तलाश में गई है। सूत्रों के मुताबिक लड़की ने भी फोटो देखकर इरफान को पहचान लिया है। अब पीड़ित लड़की से मजिस्ट्रेट के सामने इरफान की शिनाख्त कराई जाएगी। क्राइम ब्रांच के पास तीन दिन से थी ऑटो की जानकारी...

- सबसे रोचक यह है कि गैंगरेप के आरोपियों की तलाश में दो थानों की पुलिस दो बार और क्राइम ब्रांच भी इरफान तक पहुंच चुकी थी, लेकिन उसने गच्चा दे दिया।

- 29 साल का इरफान चार दिन पहले ही एक बेटे का पिता बना है। इससे पहले उसकी दो बेटियां और एक बेटा है। थाना-49 के कॉन्स्टेबल अशोेक की सतर्कता से पुलिस इरफान तक पहुंची।

- एसएचओ रंजोध सिंह और उनकी छह लोगों की टीम ने उसे दबोचा। पोपू और गरीब 21-21 साल के हैं। तीनों आरोपी पांच साल से एक साथ जीरकपुर की झुग्गियों में रह रहे थे।

- पुलिस को शक है कि पिछले कुछ समय में रेप की कुछ वारदातों में भी आरोपी शामिल हो सकते हैं।

लड़की ने थाने में जड़े थप्पड़
- आरोपी को दबोचकर थाना-49 पुलिस ने लड़की को उसकी तस्वीर दिखाई, तो उसने पुलिस को बताया कि ऑटो ड्राइवर एेसा ही था।

- रात भर आरोपी इतने नशे में था कि पुलिस उससे पूछताछ नहीं कर पाई। शुक्रवार सुबह पूछताछ में उसने जुर्म कबूल लिया।

- सूत्रों की मानंे तो पुलिस ने लड़की को बुलाकर भी आरोपी की पहचान करवा दी है। इस दौरान लड़की ने उसके थप्पड़ भी जड़ दिए।

- हालांकि पुलिस इससे इनकार कर रही है और कह रही है कि अभी शिनाख्त करवानी है।

अॉटो का अधूरा नंबर बना क्लू
- सेक्टर-49 पुलिस चौकी के कॉन्स्टेबल अशोक का बलटाना में मकान बन रहा है। जो ठेकेदार काम कर रहा है वह जीरकपुर के पास झुग्गियों में रहता है।

- अशोक ने गुरूवार को ठेकेदार को भी आरोपियों की फुटेज दिखाई थी। ठेकेदार किसी को पहचान नहीं सका।

- अशोक ने उसे ऑटो का अधूरा नंबर (CH78-T XX40) बताया। ठेकेदार ने बताया कि ऐसे नंबर वाला एक ऑटो उसकी झुग्गी के पास खड़ा रहता है।

- जो इस ऑटो को चलाता है वह शराब पीने का आदी है। अशोक ने खुद जाकर इस ऑटो को देखा, तो उसका शक गहरा गया। उसने एसएचओ रंजोध सिंह को बताया।

- रंजोध थाने की टीम के साथ मौके पर पहुंचे, लेकिन आरोपी घर पर नहीं था।

ठेकेदार से फोन करवाकर बुलाया
- आरोपी को दबोचने के लिए पुलिस ने गुरूवार को ही ठेकेदार से उसे फोन करवाया। ठेकेदार ने कहा कि बच्चों को कहीं छोड़ने जाना है।

- इरफान ने आनाकानी की और कहने लगा कि उसे सुबह क्राइम ब्रांच चंडीगढ़ जाना है और अभी वह शराब पी रहा है।

- ठेकेदार ने दबाव बनाया कि बहुत जरूरी है तो इरफान ऑटो लेकर आ गया। पुलिस ने उसे तुरंत दबोच लिया।

आगे की स्लाइड्स में देखें फोटोज...

सीसीटीवी फुटेज में  आरोपी ड्राइवर सीसीटीवी फुटेज में आरोपी ड्राइवर
मजिस्ट्रेट के सामने शिनाख्त होनी है, पुलिस के रिक्वेस्ट पर फोटो धुंधली की गई है। मजिस्ट्रेट के सामने शिनाख्त होनी है, पुलिस के रिक्वेस्ट पर फोटो धुंधली की गई है।
ये निकला ऑटो का नंबर, (CH78-T 2740) ये निकला ऑटो का नंबर, (CH78-T 2740)
ऑटो का हुड पीछे की तरफ दो जगह से फटा था, टेप से चिपकाया गया था। ऑटो का हुड पीछे की तरफ दो जगह से फटा था, टेप से चिपकाया गया था।
पकड़े गए ऑटो में भी उसी जगह फटे हुए हिस्से को टेप से चिपकाया गया है। पकड़े गए ऑटो में भी उसी जगह फटे हुए हिस्से को टेप से चिपकाया गया है।
अजीब तरह का हॉर्न जो बहुत कम ऑटो में होता है। अजीब तरह का हॉर्न जो बहुत कम ऑटो में होता है।
इरफान के ऑटो में यह हॉर्न मौजूद मिला। इरफान के ऑटो में यह हॉर्न मौजूद मिला।