चंडीगढ़ समाचार

--Advertisement--

व्यापारी को किया किडनैप, कार-फोन छीनकर खानपुर पुल पर फेंक गए किडनैपर

चार घंटे तक घुमाया और उसके बाद उन्हें खरड़ के खानपुर पुल के पास फेंककर फरार हो गए।

Danik Bhaskar

Nov 25, 2017, 06:28 AM IST

मोहाली. बिल्डिंग मैटीरियल का काम करने वाले व्यापारी अनुराग कुमार को कुछ अज्ञात किडनैपर्स ने उनकी सैंट्रो कार समेत फेज-6 की मोटर मार्केट से किडनैप कर लिया। घटना वीरवार रात करीब 8.30 बजे की है, किडनैपर्स ने अनुराग को बेहोश कर उनकी ही कार में करीब चार घंटे तक घुमाया और उसके बाद उन्हें खरड़ के खानपुर पुल के पास फेंककर फरार हो गए।

अनुराग कुमार ने बताया कि जब रात करीब 12.30 बजे उन्हें होश आया तो उन्होंने दो राहगीरों से फोन लेकर अपने घर पर संपर्क किया, जिसके बाद उनके परिवार वाले उन्हें खानपुर पुल से लेकर गए। हैरानी की बात यह है कि अनुराग कुमार को फेज-6 की मोटर मार्केट से किसने और क्यों किडनैप किया, उन्हें खुद भी मालूम नहीं है। जबकि किडनैपर्स उनकी सैंट्रो गाड़ी, मोबाइल व उनकी जेब में पड़े करीब पांच हजार रुपए और कुछ जरूरी कागजात ले गए हैं। अनुराग कुमार ने इस संबंधी फेज-1 थाने में शिकायत दे दी है। पुलिस ने शिकायत के बाद जांच शुरू कर दी है। हालांकि पुलिस को मामला संदिग्ध लग रहा है और पुलिस का मानना है कि कहानी में कोई पेंच है, जिसके बारे में जांच की जा रही है। जांच के बाद ही पूरी असलियत सामने आएगी।

चार घंटे बाद खुद काे झाड़ियों में गिरा पाया
अनुराग के अनुसार वे वीरवार शाम करीब 7 बजे फेज-6 की मोटर मार्केट में आए थे। यहां से उन्हें कुछ लोग अपने साथ ले गए। रात करीब साढ़े 12 बजे उन्हें होश आया तो वे झाड़ियों में पड़े थे और उनकी कार भी आस पास नहीं थी। उन्हें खड़े होने पर चक्कर आ रहे थे। वे हिम्मत जुटाकर हाईवे पर पहुंचे, जहां उन्हें कॉलेज के कुछ स्टूडेंट्स मिले। उनसे फोन लेकर उन्होंने अपने भाई अनिल को पूरी बात बताई तो वे उन्हें खानपुर पुल पर लेने पहुंचे, जहां से उन्हें अर्ध बेहोशी की हालत में मोहाली लाया गया।

कुछ सुंघा कर किया बेहोश

अनुराग ने बताया कि जब वे मोटर मार्केट में पहुंचे तो वे अकेले थे। उसके बाद जब उन्हें होश आया तो रात के 12.30 बज चुके थे। अनुराग कुमार के अनुसार उन्हें शक है कि किसी ने उन पर स्प्रे छिड़क कर उन्हें बेहोश कर दिया या फिर किसी ने उन्हें पहले कुछ सुंघाया और उसके बाद वो बेहोश हो गए। फिर उन्हें लूटकर जाते समय खानपुर पुल की झाड़ियों में फेंक दिया गया। एसएचओ सुखविंदर सिंह का कहना है कि जांच में जो फैक्ट सामने आएंगे, उनके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

Click to listen..