--Advertisement--

बुजुर्ग दंपती के घर में घुसकर महीने में दूसरी वारदात, पहले चोरी अब बंधक बनाकर लूट

सोने के कंगन और कैश ले गए दो लुटेरे. पंचकूला के बजाय चंडीगढ़ कंट्रोल रूम में मिली कॉल।

Danik Bhaskar | Nov 30, 2017, 04:20 AM IST

पंचकूला. सेक्टर-18 के मकान नंबर-17 में घुसकर बुजुर्ग दंपती को बंधक बनाकर लूट करने का मामला सामने आया है। चौकाने वाली बात ये है कि इसी घर में एक महीने के दौरान यह दूसरी वारदात है। करीब एक महीना पहले बुजुर्ग दंपती को कमरे में बंद कर कुछ कैश चोरी किया गया था। इस बार लुटेरों ने बुधवार रात 8 बजे घर में घुसकर हेमराज और उनकी पत्नी चंचल गुप्ता को बंधक बनाकर लूट की वारदात को अंजाम दिया।


बुजुर्ग हेमराज अपनी पत्नी के चंचल के साथ अपने घर में थे। इसी दौरान दो लड़के अंदर आए। उन्होंने हेमराज को पकड़ा और एक रूम में ले गए। उन्होंने हेमराज के मुंह में कपड़ा डाल दिया। इसके बाद पैर बांध दिए तथा हाथों को पकड़े रखा। हेमराज ने इशारे से पूछा कि क्या चाहिए। इस पर दोनों युवकों ने रुपए देने की बात कही। इतने में दो और लड़के उनके घर में घुसे और उनकी पत्नी चंचल के रूम में जाकर उनके सोने के कंगन उतार लिए। कुछ कैश भी ले गए। कुछ कैश हेमराज के पर्स से भी निकाल लिया गया। हेमराज बड़ी मुश्किल से अपने पैर खोलकर पड़ोसी को यह बात बताने बाहर आए। इसके बाद पुलिस को कॉल की गई जो बार-बार चंडीगढ़ पुलिस कंट्रोल रूम में मिलती रही। बड़ी मशक्कत के बाद पुलिस को इस बारे में बताया जा सका।

पहली वारदात के बाद आरोपियों को नहीं पकड़ पाई पुलिस

करीब एक माह पहले भी हेमराज के घर में दो लड़के घुसे थे। इन लड़कों ने हेमराज को कमरे में बंद किया और उनकी अलमारी से 10 हजार रुपए निकाल कर फरार हो गए थे। पंचकूला पुलिस उन आरोपियों को अभी तक नहीं पकड़ पाई। पंचकूला पुलिस की इस लापरवाही का खामियाजा अब दोबारा बुजुर्ग दंपती को भुगतना पड़ा। पुलिस की नाकामी की वजह से पंचकूला में अकेले रह रहे बुजुर्ग दंपती सेफ नहीं हैं। हेमराज के अलावा भी कई अन्य वारदातें दूसरे बुजुर्गों के साथ हो चुकी हैं।