--Advertisement--

गर्लफ्रेंड के बैग से मिले खून से लिखे 50 लव लेटर, BF को पेट्रोल डाल लगा दी आग

सारे लेटर युवक ने अपने खून से लिखे हैं। इन्हीं में से एक लेटर में युवक ने लिखा है कि मैं अपना प्यार साबित करके रहूंगा।

Dainik Bhaskar

Nov 26, 2017, 06:25 AM IST
50 love letters written by blood from the girlfriends bag

नई दिल्ली. बवाना में जिस जगह छेड़खानी का विरोध करने वाले युवक पर पेट्रोल छिड़ककर आग लगाई गई, उससे महज 300 मीटर की दूरी पर पुलिस पिकेट है। सिर्फ 100 मीटर की दूरी पर एन्फोर्समेंट सेल का दस्ता मौजूद था। इसके बावजूद एक बाइक पर सवार तीन लोग वारदात को अंजाम देकर फरार हो गए।

पुलिस ने हत्या के प्रयास की धाराओं में केस दर्ज करके जांच शुरू कर दी है। मगर 72 घंटे बाद भी उसे कोई सुराग नहीं मिला है। हालांकि, पुलिस ने घटनास्थल के पास बने पेट्रोल पंप से सीसीटीवी फुटेज बरामद की है। इसमें एक युवक बोतल में पेट्रोल खरीदते दिख रहा है। इस युवक की पहचान के लिए पुलिस ने श्रीकृष्णा गौशाला के एक सुरक्षाकर्मी को हिरासत में लिया है।

एक लेटर में लिखा- प्यार साबित करके रहूंगा
पुलिस ने घटना के बाद युवती के बैग से 50 लव लेटर बरामद किए हैं। सारे लेटर युवक ने अपने खून से लिखे हैं। इन्हीं में से एक लेटर में युवक ने लिखा है कि मैं अपना प्यार साबित करके रहूंगा। पुलिस इस दृष्टिकोण से भी जांच कर रही है कि कहीं युवती को मनाने के लिए युवक ने खुद को तो आग नहीं लगा ली।

युवक और गर्लफ्रेंड के बयानों में विरोधाभास
पुलिस टीम ने युवक और उसकी गर्लफ्रेंड से पूछताछ की है। जांच अधिकारी के अनुसार दोनों से अलग-अलग पूछताछ के बाद बयानों में विरोधाभास सामने आया है। ऐसे में पुलिस अब दुकानदार और श्रीकृष्णा गौशाला के कर्मचारियों से दोबारा पूछताछ कर सकती है।

पूरी वारदात... पीड़ित की जुबानी

मैं गुरुवार सुबह 6 बजे नांगलोई से अपनी गर्लफ्रेंड के साथ प्रगति मैदान में ट्रेड फेयर देखने निकला था। मैं उसे सरप्राइज गिफ्ट देना चाहता था, इसलिए अपने दोस्त सौरभ से पांच हजार रुपए भी मांगे थे। मगर पैसों का इंतजाम नहीं हो पाया। इसके बाद हमने ट्रेड फेयर जाने का प्लान कैंसिल कर दिया। फिर हम दोनों बस से करीब 10 बजे बवाना पहुंचे। वहां श्री कृष्णा गौशाला के पास उतर गए। वहां हमने एक दुकान से पानी की बोतल ली। हम कुछ दूर ही चले थे, तभी गलत साइड से एक बाइक आई, उस पर तीन लोग बैठे थे। उन्होंने सीटी बजानी शुरू कर दी। मैंने जब उनका विरोध किया तो एक युवक ने हाथ में पहने अपने कड़े से मेरे सिर पर मार दिया। इसके बाद गालीगलौज और हाथापाई शुरू हो गई। इसके बाद तीनों युवक बाइक पर बैठकर भाग गए। मुश्किल से पांच मिनट बाद ही वे कहीं से पेट्रोल लेकर आ गए। इसके बाद एक युवक ने मेरे हाथ पकड़ लिए। दूसरे ने मेरी गर्लफ्रेंड को पकड़ लिया। तीसरे युवक ने मेरे ऊपर पेट्रोल छिड़क दिया और माचिस से आग लगा दी। वह सिगरेट भी पी रहा था। मुझे जलता देख तीनों फरार हो गए। चूंकि मैंने कैप पहनी हुई थी, इसलिए मेरे चेहरे पर पेट्रोल नहीं पड़ा। लेकिन आग लगने के बाद जब मैंने अपनी ब्लैक टी-शर्ट उतारी तो चेहरा भी जल गया। इस बीच मेरी गर्लफ्रेंड ने मिट्टी से आग बुझाने की कोशिश की। उसने सड़क से गुजर रहे लोगों से मदद भी मांगी लेकिन किसी ने हेल्प नहीं की। फिर जैसे-तैसे हम एक चायवाले के पास पहुंचे। तभी एक ट्रैफिक वाला वहां पहुंच गया। उसने मुझे एलएनजेपी अस्पताल में भर्ती कराया।

10 मिनट पहले ही पानी की बोतल खरीदी थी

पीड़ित युवक और उसकी गर्लफ्रेंड वारदात से करीब 10 मिनट पहले ही उसकी दुकान से पानी की बोतल खरीदकर ले गए थे। उसकी दुकान के बाहर ही पिकेट लगी थी, जहां पुलिस वाहनों की जांच कर रही थी। - सुशील भारद्वाज, दुकानदार

सचिन ने धमकी दी थी, लड़की का साथ छोड़ दे वरना बुरा अंजाम होगा
दिलीप ने बताया, 7 नवंबर को सचिन ने मुझे मोबाइल पर धमकी दी थी। उसने कहा था कि मैं लड़की का साथ छोड़ दूं, नहीं तो बहुत बुरा अंजाम होगा। सचिन नांगलोई में रहता है और मेरी गर्लफ्रेंड के साथ ही पढ़ता है। इसके बाद मैंने सचिन से मोबाइल पर बात की। जब बात बढ़ गई तो मैं सचिन से मिला। इससे पहले 3 नवंबर को सचिन ने मेरी गर्लफ्रेंड को भी धमकी दी थी कि मेरा साथ छोड़ दे। इस पर उसने कहा था कि इससे आपको क्या परेशानी है? इस बात पर सचिन ने उसे गुस्से में थप्पड़ भी मार दिया था। ये बात उसने अपने घरवालों को तो नहीं बताई लेकिन मुझे बताया था।

X
50 love letters written by blood from the girlfriends bag
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..