--Advertisement--

12 लाख की थल सेना में तीन साल में बढ़ीं महज 82 महिलाएं

नौसेना में इस दौरान 87 महिलाओं का इजाफा

Danik Bhaskar | Mar 09, 2018, 05:15 AM IST

नई दिल्ली. अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस से ठीक एक दिन पहले बुधवार को तीनों सेनाओं में महिलाओं की संख्या के बारे में सरकार ने जो ब्यौरा दिया वह चौंकाने वाला है। सैन्य बलों में महिलाओं को लड़ाकू रोल देने की बहस अपने आप आश्चर्यजनक है कि पिछले तीन साल में सेना में हर साल सिर्फ 27 महिलाएं बढ़ी हैं। 12.50 लाख की सेना में 2015 में 1466 महिलाएं थीं। 2016 में यह संख्या 1512 और 2017 में 1548 हो गई। यानी तीन साल में महज 82 महिलाओं का इजाफा हुआ।

- दूसरी ओर 82 हजार की नौसेना में महिला अधिकारियों की तीन साल पहले 382 थी जो अब 469 तक पहुंच गई। 2016 में यह संख्या 409 थी। इसमें 87 महिलाओं का इजाफा हुआ है। एक लाख 43 हजार कर्मियों की वायु सेना में तीन साल में महिला अधिकारियों की संख्या 170 बढ़ीं।

इन विभागों में जगह
सेना में महिलाएं मिलिट्री नर्सिंग सेवा और शॉर्ट सर्विस कमीशन के जरिए भर्ती की जा रही हैं। उन्हें आर्मी सर्विस कोर, ऑर्डिनेंस कोर, एजूकेशन कोर, जज एडवोकेट जनरल, सिगनल्स, इंटेलीजेंस, इलेक्ट्रिकल और मैकेनिकल इंजीनियरिंग शाखा में शामिल किया जा रहा है।


मोटिवेशनल लेक्चर दे रहे
सरकार का कहना है कि वह सैन्य बलों में महिलाओं को लाने के लिए इमेज प्रोजेक्शन, पब्लिसिटी, स्कूलों एवं कॉलेजों में मोटिवेशनल लेक्चर जैसे आयोजन कर रही है।