--Advertisement--

अभी तक सिर्फ एक बार इलेक्शन हारा ये नेता, बंगले की वजह से गवां दी कुर्सी

कमलनाथ को साल 1996 में हवाला कांड में नाम आने के बाद पार्टी ने टिकट नहीं दिया।

Dainik Bhaskar

Nov 18, 2017, 01:20 AM IST
संजय गांधी और कमलनाथ दून स्कूल में एक साथ थे। संजय गांधी और कमलनाथ दून स्कूल में एक साथ थे।

भोपाल. कांग्रेस की सीनियर लीडर और 9 बार सांसद रहे कमलनाथ का 18 नवंबर को बर्थडे है। DainikBhaskar.com आपको उनकी लाइफ से जुड़े फैक्ट्स बता रहा है। आपको बता दें, कमलनाथ कांग्रेस के कद्दावर नेता माने जाते हैं। वे 9 बार कांग्रेस पार्टी से इलेक्शन जीतकर लोकसभा के लिए चुने गए हैं। वे अभी लोकसभा में सबसे सीनियर लीडर हैं। अपने पॉलिटिकल करियर में वे सिर्फ एक बार ही इलेक्शन हारे हैं। इस नेता से मिली थी पहली हार...

- चार बार लगातार इलेक्शन जीतने के बाद भी कमलनाथ को साल 1996 में हवाला कांड में नाम आने के बाद पार्टी ने टिकट नहीं दिया।

- उन्होंने उस जगह से अपनी पत्नी अलकानाथ को इलेक्शन लड़ाया। इस इलेक्शन में उनकी पत्नी जीत गई थी।
- कमलनाथ को दिल्ली में सांसद न रहने बाद लुटियंस जोन वाला बंगला खाली करने का नोटिस मिला। कमलनाथ ने बहुत कोशिश की कि ये बंगला उनकी पत्नी के नाम एलॉट हो जाए।
- लेकिन उनकी पत्नी पहली बार सांसद बनीं थीं, जिसके कारण बड़ा बंगला नहीं मिल सका। कमलनाथ किसी भी कीमत पर ये बंगला छोड़ने को तैयार नहीं थे।
- बंगले को लिए उन्होंने अपनी पत्नी से संसद से इस्तीफा दिलवा दिया। इसके बाद साल 1997 में हुए बाय इलेक्शन में बीजेपी के सुंदरलाल पटवा के खिलाफ खुद को मैदान में उतारा दिया।
- पटवा ने ये इलेक्शन लड़ा और कमलनाथ को उन्हीं के गढ़ में मात दे दी। अगले साल 1998 में फिर इलेक्शन हुए और पटवा कमलनाथ से हार गए।

ऐसा रहा पॉलिटिकल करियर...

- कमल नाथ का जन्म उत्तरप्रदेश के कानपुर शहर में 18 नवंबर 1946 को हुआ था।
- उनकी स्कूलिंग देहरादून के दून स्कूल से हुई थी।
- वहीं उन्होंने कोलकाता के सेंट जेवियर कॉलेज से ग्रेजुएशन किया।
- बता दें, 34 साल की उम्र में वे पहली बार लोकसभा के लिए चुने गए थे।
- कमलनाथ सातवीं, आठवीं, नौंवी, दसवीं, बारहवीं, तेरहवी, और पन्द्रहवीं लोकसभा मेंबर रहे हैं।
- 1991 के केंद्रीय मंत्रिमंडल में वे एन्वायरन्मेंट एंड फॉरेस्ट मंत्री रहे हैं।
- 1995 और 1996 के बीच उन्हें टेक्सटाइल मिनिस्टर के तौर पर राज्य का स्वतंत्र प्रभार दिया गया था।
- 2001 से 2004 के बीच वे इंडियन नेशनल कांग्रेस के जनरल सेक्रेटरी रहे थे। 2004 से 2009 के बीच में कॉमर्स एंड इंडस्ट्री मिनिस्टर रहे।
- बताते हैं, कमलनाथ गांधी परिवार के बेहद करीब थे।
- संजय गांधी और कमलनाथ की फ्रेंडशिप दून स्कूल में पढ़ाई के दौरान हुई थी।

आगे की स्लाइड्स में देखें PHOTOS....

9 बार सांसद रहे कमलनाथ का 18 नवंबर को बर्थ डे है। 9 बार सांसद रहे कमलनाथ का 18 नवंबर को बर्थ डे है।
कमलनाथ छिंदवाड़ा से लोकसभा सांसद हैं। कमलनाथ छिंदवाड़ा से लोकसभा सांसद हैं।
राहुल गांधी और सचिन तेंदुलकर के साथ कमलनाथ। राहुल गांधी और सचिन तेंदुलकर के साथ कमलनाथ।
कमलनाथ सातवीं, आठवीं, नौंवी, दसवीं, बारहवीं, तेरहवी, और पन्द्रहवीं लोकसभा मेंबर रहे हैं। कमलनाथ सातवीं, आठवीं, नौंवी, दसवीं, बारहवीं, तेरहवी, और पन्द्रहवीं लोकसभा मेंबर रहे हैं।
X
संजय गांधी और कमलनाथ दून स्कूल में एक साथ थे।संजय गांधी और कमलनाथ दून स्कूल में एक साथ थे।
9 बार सांसद रहे कमलनाथ का 18 नवंबर को बर्थ डे है।9 बार सांसद रहे कमलनाथ का 18 नवंबर को बर्थ डे है।
कमलनाथ छिंदवाड़ा से लोकसभा सांसद हैं।कमलनाथ छिंदवाड़ा से लोकसभा सांसद हैं।
राहुल गांधी और सचिन तेंदुलकर के साथ कमलनाथ।राहुल गांधी और सचिन तेंदुलकर के साथ कमलनाथ।
कमलनाथ सातवीं, आठवीं, नौंवी, दसवीं, बारहवीं, तेरहवी, और पन्द्रहवीं लोकसभा मेंबर रहे हैं।कमलनाथ सातवीं, आठवीं, नौंवी, दसवीं, बारहवीं, तेरहवी, और पन्द्रहवीं लोकसभा मेंबर रहे हैं।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..