Hindi News »Union Territory »New Delhi »News» Politics Of Rajput On Padmavati In India

पद्मावती के बहाने राजपूतों की राजनीति: 15 राज्यों की 500 विधानसभा सीटों पर डालते हैं असर

​भाजपा शासित 7 राज्य पद्मावती फिल्म को रिलीज नहीं होने देने की बात कह चुके हैं।

bhaskar news | Last Modified - Nov 25, 2017, 05:14 AM IST

  • पद्मावती के बहाने राजपूतों की राजनीति: 15 राज्यों की 500 विधानसभा सीटों पर डालते हैं असर
    +1और स्लाइड देखें
    इस फिल्म में दीपिका पादुकोण ने पद्मावती का किरदार निभाया है।

    नई दिल्ली. देश में फिल्म 'पद्मावती' को लेकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। विरोध और प्रदर्शन अब देश के कई राज्यों तक फैल चुका है। बीजेपी की सत्ता वाले करीब 7 राज्य इसकी रिलीज रोकने की बात कह चुके हैं। दरअसल, इसके बहाने राजनीतिक दल राजपूतों की राजनीति कर रहे हैं। राजपूत देश के 15 बड़े राज्यों मे 450-500 विधानसभा सीटों पर असर डालते हैं। इसीलिए बीजेपी और कांग्रेस दोनों पार्टियां फिल्म के खिलाफ खुलकर बोल रही हैं। कांग्रेस की पंजाब सरकार ने भी इसकी रिलीज के खिलाफ है। सिर्फ पश्चिम बंगाल और कर्नाटक समर्थन में है।

    इसलिए इन 4 राज्यों में रोक लगाई

    1. गुजरात में चुनाव

    - 17 से 18 जिलों में करीब 10% वोटर्स राजपूत हैं। 20 से 25 सीटों पर इनका असर है। अभी करीब 18 राजपूत विधायक हैं।

    2. यूपी निकाय चुनाव

    - 10 से 11% मतदाता राजपूत हैं। इस समय राज्य में निकाय चुनाव चल रहे हैं। 14 सांसद और 78 विधायक राजपूत हैं।

    3. राजस्थान में अगले साल:

    - राज्य में 8-10% राजपूत वोटर्स हैं। 2018 में चुनाव हैं। करीब 28 विधायक, तीन सांसद राजपूत हैं।

    4. मध्य प्रदेश में अगले साल:

    - 7 से 8% वोटर्स हैं। करीब 40-45 सीटों पर राजपूत अहम। यहां 2018 में चुनाव हैं। 3 सांसद राजपूत हैं।

    सबसे अधिक 1.5 करोड़ राजपूत आबादी यूपी में है, यहां 100 सीटों पर निर्णायक

    - देश में राजपूतों की आबादी करीब 7.5 करोड़ है, यानी कुल आबादी की 5%।

    - देश के 29 में से करीब 15 राज्यों में राजपूत विधायक और सांसद हैं।

    राज्यराजपूत
    उत्तर प्रदेश1.5 करोड़
    राजस्थान65-70 लाख
    मध्य प्रदेश60-65 लाख
    बिहार50-55 लाख
    गुजरात40-45 लाख
    उत्तराखंड35-40 लाख
    हिमाचल25 लाख

    ये नेता हैं राजपूत समुदाय से, कोई सीएम तो कई है मिनिस्टर

    - सीएम आदित्यनाथ योगी, रमन सिंह, वीरभद्र सिंह, वसुंधरा राजे, त्रिवेंद्र सिंह रावत राजपूत समुदाय से हैं। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और जम्मू-कश्मीर के निर्मल सिंह भी राजपूत हैं।
    - मोदी सरकार में 8 मंत्री राजपूत समुदाय से हैं।
    - देश में अब तक चंद्रशेखर सिंह और विश्वनाथ प्रताप सिंह राजपूत पीएम रहे हैं। राजपूत राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल, उपराष्ट्रपति भैरो सिंह शेखावत रहे हैं।

    फिल्म पद्मावती को लेकर क्या आपत्ति है?
    - राजस्थान में करणी सेना, बीजेपी लीडर्स और हिंदूवादी संगठनों ने इतिहास से छेड़छाड़ का आरोप लगाया है।

    - राजपूत करणी सेना का मानना है कि ​इस फिल्म में पद्मिनी और खिलजी के बीच इंटीमेट सीन फिल्माए जाने से उनकी भावनाओं को ठेस पहुंची है। लिहाजा, फिल्म को रिलीज से पहले पार्टी के राजपूत प्रतिनिधियों को दिखाया जाना चाहिए।

  • पद्मावती के बहाने राजपूतों की राजनीति: 15 राज्यों की 500 विधानसभा सीटों पर डालते हैं असर
    +1और स्लाइड देखें
    यह फिल्म पहले 1 दिसंबर को रिलीज होनी थी। विरोध के चलते अब यह 2018 में ही रिलीज होगी।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Delhi News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Politics Of Rajput On Padmavati In India
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×