Hindi News »Union Territory »New Delhi »News» Sc Asked Why Do Not Have Any Plans To Protect Witnesses

सुप्रीम कोर्ट ने पूछा- गवाहों की सुरक्षा की कोई योजना क्यों नहीं

केंद्र और राज्य सरकारों को नोटिस जारी कर छह हफ्ते में मांगा जवाब

Bhaskar News | Last Modified - Nov 18, 2017, 04:57 AM IST

सुप्रीम कोर्ट ने पूछा- गवाहों की सुरक्षा की कोई योजना क्यों नहीं

नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को केंद्र से पूछा कि देश में गवाहों की सुरक्षा के लिए कोई योजना ड्राफ्ट क्यों नहीं कर सकते, जबकि एनआईए एक्ट में पहले से ऐसे प्रावधान हैं। कोर्ट ने राज्यों से भी गवाह सुरक्षा कार्यक्रम लागू करने पर छह हफ्ते में जवाब मांगा है। अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल से भी इस मुद्दे पर राय मांगी है।


जस्टिस एके सिकरी की बेंच ने शुक्रवार को कहा, “एनआईए एक्ट में गवाहों की सुरक्षा का प्रावधान है। यह सबके लिए क्यों नहीं हो सकता? जानते हैं कि अदालतों में लाखों केस हैं, लेकिन कम से कम संवेदनशील मामलों में तो सुरक्षा दे ही सकते हैं। गवाहों की सुरक्षा के लिए गृह मंत्रालय कम से कम कोई ड्राफ्ट प्रोग्राम लाए तो सही।’

उल्लेखनीय है कि आसाराम के खिलाफ दुष्कर्म केस के गवाहों की सुरक्षा से जुड़ी याचिका पर यह मुद्दा उभरा था। कोर्ट ने याचिकाकर्ताओं से हर राज्य को पार्टी के तौर पर शामिल करने के लिए कहा था। याचिकाकर्ता ने आसाराम के खिलाफ गवाहों पर हमले या लापता होने के मामलों की जांच की मांग की थी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×