--Advertisement--

राजधानी और शताब्दी ट्रेनों की बदलेगी रंगत, सीट से वॉशरूम तक प्रीमियम सुविधाएं

नई दिल्ली-सियालदाह पहली राजधानी ट्रेन है जिसके कोच में इंटीरियर से लेकर टायलेट तक में कई आकर्षक बदलाव किए हैं।

Danik Bhaskar | Nov 30, 2017, 07:52 AM IST
नई दिल्ली-सियालदाह पहली राजधानी ट्रेन है जिसके कोच में इंटीरियर से लेकर टायलेट तक में कई आकर्षक बदलाव किए हैं। नई दिल्ली-सियालदाह पहली राजधानी ट्रेन है जिसके कोच में इंटीरियर से लेकर टायलेट तक में कई आकर्षक बदलाव किए हैं।

नई दिल्ली. रेलवे प्रीमियम ट्रेनों का कायाकल्प करने में जुट गई है। स्वर्ण योजना के तहत राजधानी ट्रेनों में आरामदायक व आधुनिक सुविधाओं से लैस किया जा रहा है। नई दिल्ली-सियालदाह पहली राजधानी ट्रेन है जिसके कोच में इंटीरियर से लेकर टायलेट तक में कई आकर्षक बदलाव किए हैं। नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर बुधवार को इसे प्रदर्शित किया गया। पैसेंजरो को गोल्डन गोल्डन श्रेणी की सुविधा दी जाएंगी...


कोच के अंदर के माहौल को खुशनुमा बनाने के लिए विनायल रैपिंग की गई है। आने-जाने वाले गलियारे को चमकदार बनाया गया है। नए बर्थ नंबर इंडिकेटर लगाए गए हैं। इनकी वजह से रात में यात्रियों को अपनी सीट खोजने में दिक्कत नहीं होगी। इसके अलावा ऊपर की बर्थ पर आसानी से चढ़ने और उतरने के लिए भी स्टेयर्स में बदलाव हुए हैं।

सीसीटीवी कैमरे भी लगाए हैं, जिनकी रिकॉर्डिंग 15 दिन तक रहेगी
सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरे भी लगाए हैं। जिनकी रिकॉर्डिंग 15 दिन तक उपलब्ध रहेगी। सीटों पर एक्स्ट्रा मोबाइल पॉकेट और शीशों के ऊपर एलईजी लाइटिंग दी गई है। टॉयलेट में गीजर, गर्म और ठंडा पानी को मिक्स करने वाले डिस्पेंसर और ऑटोजेनिटर लगाया गया है। जो डिटर्जेंट के साथ परफ्यूम भी स्प्रे करता है। टॉयलेट को खूबसूरत दिखने के लिए सिंथेटिक मार्बल का प्रयोग किया गया है। शेवर यूज के लिए बिजली के प्वाइंट सहित कई नए फीचर देखने को मिलेंगे। रेलवे बोर्ड के सदस्य और सूचना प्रसार महानिदेशक अरुण सक्सेना ने बताया कि स्वर्ण योजना के तहत पुराने कोचों को अपग्रेड कर पैसेंजरो को गोल्डन श्रेणी की सुविधा दी जाएंगी। सक्सेना ने बताया कि इस पर प्रति कोच 50 लाख रुपए का खर्च आया है। नए साल में 13 राजधानी एक्सप्रेस और 11 शताब्दी ट्रेनें गोल्डन कलर में नजर आएंगी।

रेलवे बोर्ड के सदस्य और सूचना प्रसार महानिदेशक अरुण सक्सेना ने बताया कि स्वर्ण योजना के तहत पुराने कोचों को अपग्रेड कर पैसेंजरो को गोल्डन श्रेणी की सुविधा दी जाएंगी। रेलवे बोर्ड के सदस्य और सूचना प्रसार महानिदेशक अरुण सक्सेना ने बताया कि स्वर्ण योजना के तहत पुराने कोचों को अपग्रेड कर पैसेंजरो को गोल्डन श्रेणी की सुविधा दी जाएंगी।