चंडीगढ़ समाचार

--Advertisement--

रोहतांग दर्रा सहित समूची लाहौल घाटी में बर्फबारी

रोहतांग दर्रा सहित समूची लाहौल घाटी में बर्फबारी

Dainik Bhaskar

Nov 17, 2017, 05:48 PM IST
निर्माणाधीन रोहतांग टनल जो बद निर्माणाधीन रोहतांग टनल जो बद

कुल्लू। हिमाचल के रोहतांग दर्रा के बाद अब समूची लाहौल स्पीति घाटी में शुक्रवार को ताजा हिमपात हुआ है। घाटी में हिमपात होने से काफी समय से चल रहे सूखे से लोगों को राहत मिल गई है लेकिन इस बर्फबारी के कारण अब यहां के लोग देश और दुनियां से भी कट जाएंगे, क्योंकि लाहुल पहुंचने वाले सारे सड़क मार्ग छह महीने के लिए बंद हो जाएंगे। इस इलाके के लोगों भाग्य सिर्फ 8.8 किमी निमार्णाधीन रोहतांग टनल ही बदल सकती है जो 2019 में बनकर लोकार्पित होगी। पढें पूरी खबर...

सर्दियों के मौसम आरम्भ होते ही अब लाहौल घाटी के लोगों ने भी अगले छह महीनों के लिए अपनी रोजमरा की चीजों को जुटान शूरू कर दिया है।

अपने रोजमर्रा की चीजों के साथ साथ अपने जानवरों के लिए चारे का इंतजाम भी कर दिया है।
जानकारी के अनुसार 13050 फुट ऊंचे रोहतांग दर्रा पर शुक्रवार को 5 इंच से अधिक बर्फबारी का अनुमान लगाया गया है।

बर्फबारी के शुरू हुए इस दौर के साथ ही अब लाहौल घाटी छह महीने तक जीवन की रफ्तार बहुत धीमी हो जाएगी, सभी सड़क मार्ग बंद हो जाएंगे।

रोहतांग पास भी प्रशासन ने वाहनों की आवाजाही के लिए बंद कर दिया है।

इन स्थानों पर बर्फबारी...


-जबकि जनजातीय जिला लाहौल स्पीति के जिला मुख्यालय केलांग में 1 से डेढ़ इंच, कोखसर 3 इंच, उदयपुर में आधा, गेंधला, तोद में 2 इंच बर्फबारी हुई रिकार्ड की गई है।

-जबकि इसके अलावा लाहौल घाटी के घेपन, कुंजम, बारालाचा दर्रा में भी बर्फबारी हुई है।

रोहतांग दर्रा में दिनभर हल्की बर्फबारी का दौर जारी रहा।

-रोहतांग दर्रा से वाहनों की आवाजाही को लेकर भी प्रशासन ने हाईअलर्ट जारी कर दिया।

-अब स्पिति के लोग रोहतांग दर्रा से होकर भी लाहुल घाटी में एंटर नहीं कर पाएंगे।

रोहतांग टनल ही बदल सकती है भाग्य...

-हिमाचल का लाहौल क्षेत्र अक्टूबर और नवंबर में भारी बर्फ गिरने से देश और दुनिया से कट जाता है।

-हर साल मई या जून में फिर यहां से बर्फ पिघलती है।

-अक्तूबर में रोहतांग पास पर भी भारी हिमपात होता है, और इस सड़क मार्ग को बंद कर दिया जाता है।

-मनाली की ओर से शुरू होने वाली यह टनल रोहतांग पास के दूसरी ओर कोखसर नामक स्थान से पांच किलोमीटर आगे निकलेगी।

-इस टनल के बनने से लाहुल घाटी में वाहनों की आवाजाही 12 महीने रहेगी।

आगे की स्लाइड्स में देखें फोटोज

X
निर्माणाधीन रोहतांग टनल जो बदनिर्माणाधीन रोहतांग टनल जो बद
Click to listen..