काम की बात / नौकरी ढूंढते समय झांसे में न फंसे, कंपनी के बारे में जुटाएं जानकारी

प्रतीकात्मक फोटो। प्रतीकात्मक फोटो।
X
प्रतीकात्मक फोटो।प्रतीकात्मक फोटो।

दैनिक भास्कर

Sep 04, 2019, 12:37 PM IST

यूटिलिटी डेस्क. किरण की नौकरी कुछ दिन पहले ही लगी थी। वेतन उम्मीद से कहीं ज़्यादा था, लिहाज़ा वह बहुत ख़ुश थी। जीवन में काफ़ी संघर्ष के बाद जो उसने ये मुक़ाम हासिल किया था। लेकिन उसे अब ये नौकरी छोड़नी पड़ रही है।

कारण

किरण पिछले एक वर्ष से पेशेवर सामाजिक कार्य का प्रशिक्षण ले रही थी। जल्द ही उसका एक विदेशी संस्थान में प्लेसमेंट हो गया। कंपनी की कार्यशैली के अनुसार कुछ महीने एक गांव में रहकर लोगों को शिक्षित करना था। लेकिन वहां जाने से पहले न तो गांव के बारे में जानकारी दी गई थी और न ही जॉइनिंग लेटर।

  • वेतन अच्छा था, लिहाज़ा उसने ज़्यादा नहीं सोचा। गांव ऐसा था जहां पहुंचना भी दुर्गम था और न ज़्यादा लोग थे, आस-पास केवल जंगल था। ऊपर से रहना भी अकेले। शुरुआत में मुश्किलें आईं, जो धीरे-धीरे बढ़ती गईं। फिर जॉइनिंग लेटर आया किंतु दो माह बाद। इतने समय बाद लेटर क्यों दिया गया, यह बात उसकी समझ में आ गई थी। काम की स्पष्टता नहीं थी, कोई सुरक्षा या मदद भी उपलब्ध नहीं थी। किरण के पास सिर्फ़ एक ही विकल्प था, इस्तीफ़ा।
  • किरण की तरह न जाने कितने ही युवा अच्छे वेतन के चंगुल में फंस जाते हैं। निर्णय लेने से पहले ख़ुद से ये सवाल करें,‘क्या आपको यह नौकरी या पद स्वीकार करना चाहिए? क्या कम्पनी आपके लिए सही है?’ प्रस्ताव को स्वीकार करने से पहले महत्वपूर्ण तथ्यों पर ध्यान देना बहुत ज़रूरी है।
     

आपका विकास सीधे कम्पनी की वित्तीय स्थिति पर निर्भर करता है। प्रस्ताव स्वीकार करने से पहले यह देखना होगा कि स्टॉक मार्केट में कम्पनी की स्थिति क्या है। यह इसके ग्राहक आधार और बिक्री के आंकड़ों का अनुमान देगा। नौकरी विज्ञापन में इसका उल्लेख नहीं किए जाने पर आपका पारिश्रमिक क्या होगा, इसका भी आपको अनुमान होना चाहिए।

अगर किसी जॉब वेबसाइट के जरिए नौकरी खोज रह हैं तो उसमें दी गई जानकारी को ठीक से पढ़ें। कंपनी में पद और सैलरी के अलावा कंपनी का नाम कंपनी की छवि आदि के बारे में भी पता करें।

  • जिस कंपनी में जॉब के लिए आवेदन कर रहे हैं उसकी ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर जॉब ड्रिस्क्रिप्शन देखें। यदि वो जॉब उस वेबसाइट पर दी गई है तो अप्लाई करें।
  • अगर कंपनी काम के मुताबित कहीं ज्यादा वेतन दे रही है तो इनसे दूर रहें। कुछ जॉब पोर्टल्स में नौकरी के कई विकल्प होते हैं। वो भी अधिक वेतन के साथ, लेकिन वास्तव में जॉब्स होती ही नहीं है। यह एक तरह का स्कैम होता है जिसका उद्देश्य जानकारी जुटाना होता है।
  • किसी भी जॉब पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करने से बचें। नामी और विश्वसनीय पोर्टल पर ही लॉग-इन करें। 

इन बातों का रखे ध्यान

भले ही कंपनी थोड़ी जानी-पहचानी हो लेकिन सीईओ या एमडी की प्रोफाइल ऑनलाइन देख सकते हैं। अपने साक्षात्कारकर्ता की प्रोफाइल भी प्राप्त कर सकते हैं। कर्मचारियों और नियोक्ता का विवरण जान सकते हैं। इस उद्देश्य के लिए प्रोफेशनल सोशल नेटवर्क वेबसाइट्स का उपयोग कर सकते हैं।

मिनिस्ट्री ऑफ कॉर्पोरेट अफेयर्स एक सरकारी पोर्टल है जिसमें देश की निगमित कंपनियों का विवरण होता है। इसमें कंपनी का नाम डालकर कंपनी के पंजीकरण, उसकी निगमन की तारीख़, शुल्क और निदेशकों की जानकारी जुटा सकते हैं।

ऑनलाइन जॉब ढूंढ रहें हैं तो भी सावधानी बरतें

कर्मचारी लाभ, बीमार अवकाश, स्वास्थ्य बीमा, सेवानिवृत्ति योजनाओं सहित, पैकेज का 30 प्रतिशत के क़रीब होते हैं। इसलिए समय लेकर प्रस्ताव की समीक्षा करें।

अगर सोशल वर्क की नौकरी है तो वे आपको किस स्थान पर भेजेंगे और व्यवस्था प्रदान करेंगे या नहीं, ये ज़रूर पूछेंं। ख़ासतौर पर जब आप महिला हैं तो बिना संकोच के अपनी सुरक्षा पर सवाल कर सकते हैं।

नौकरी जॉइन करने के पहले प्रस्ताव पत्र ज़रूर लें। प्रस्ताव पत्र नियोक्ता और कर्मचारी के बीच कानूनी रूप से बाध्यकारी अनुबंध है। इसमें सभी नियम व शर्तें शामिल होती हैं।

  • रोज़गार के प्रमाण के रूप में भी आवश्यक है। अगर कम्पनी प्रस्ताव पत्र नहीं देती है और आपसे काम करने की अपेक्षा करती है, तो यह न केवल अव्यावसायिक है, बल्कि अनैतिक भी है।
  • बिना पत्र के नौकरी जॉइन किए हुए एक हफ्ता हो गया है तो सुनिश्चित करें कि आपके जाने से पहले एक ऑफर लेटर मिल जाए। बिना सबूत के बैंक खाते में वेतन प्राप्त करना मुसीबत में डाल सकता है। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना