• Hindi News
  • Utility
  • insurance ; Debit and credit cards can also be insured, due to this there is no possibility of financial loss if you lose the card

काम की बात / डेबिट और क्रेडिट कार्ड का भी करा सकते हैं बीमा, इससे कार्ड खोने पर नहीं रहती आर्थिक नुकसान की संभावना

insurance ; Debit and credit cards can also be insured, due to this there is no possibility of financial loss if you lose the card
X
insurance ; Debit and credit cards can also be insured, due to this there is no possibility of financial loss if you lose the card

दैनिक भास्कर

Feb 12, 2020, 11:12 AM IST
यूटिलिटी डेस्क. आजकल हर किसी के पर्स में नक़द के अलावा कई क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, रीटेल स्टोर कार्ड, लॉयलटी प्रोग्राम कार्ड, पहचान पत्र आदि आसानी से मिल जाएंगे। पर सोचिए कि अगर आपका पर्स कहीं गुम जाए या चोरी हो जाए तब आप क्या करेंगे? अलग-अलग बैंकों में फोन करके कार्ड्स को ब्लॉक कराएंगे, नए कार्ड के लिए निवेदन करेंगे। वहीं नए पहचान पत्र बनवाने के लिए बहुत दौड़-धूप करनी पड़ेगी। ऐसे में कार्ड प्रोटेक्शन प्लान से आप अपने जीवनभर की जमापूंजी और पहचान सुरक्षित कर सकते हैं। सुनील खोसला, हेड डिजिटल बिज़नेस, इंडिया ट्रांसैक्ट सर्विसेज़ लिमिटेड बता रहे हैं कार्ड प्रोटेक्शन प्लान से जुड़ी खास बातें...

इससे जुड़ी खास बातें...

सीपीपी यानी कार्ड प्रोटेक्शन प्लान एक तरह से कार्ड का बीमा है। इसमें क्रेडिड कार्ड और डेबिट कार्ड के साथ-साथ स्टोर, लॉयलटी, आधार, पैन कार्ड सभी शामिल हैं। सभी बैंक अपने ग्राहकों कोे प्रोटेक्शन प्लान की सेवा देते हैं। छोटी वार्षिक प्रीमियम का भुगतान करके इस प्लान को रीन्यू कराना होता है।

पर्स खोने के बाद हर कार्ड के लिए अलग-अलग बैंक को फोन नहीं करना पड़ेगा। सिर्फ़ एक नंबर पर ही कॉल करने पर सभी कार्ड एक-साथ ब्लॉक हो जाएंगे। इससे सही समय पर कार्ड ब्लॉक करने में मदद मिलती है।

डेबिट-क्रेडिट कार्ड या अन्य कार्ड गुम होने पर सीपीपी कवर करता है। मान लीजिए कि आपका पर्स गुम गया है तो आपको सिर्फ़ एक कॉल करना है जिससे गुम हुए सभी कार्ड एक साथ ब्लॉक कर दिए जाएंगे। इसके लिए 24 घंटे मदद के लिए हेल्पलाइन नंबर 60004000 पर कॉल कर सकते हैं। डायल करने के लिए इस नंबर से आपको स्थानीय शहर का एसटीडी कोड डालना होगा। कस्टमर केयर टोल फ्री नंबर 18004194000 पर भी कॉल कर सकते हैं।

इसके फायदे

यदि कहीं घूमने या सफ़र के दौरान आपका पर्स गुम होता है तो ये प्रोटेक्शन प्लान आपके होटल का खर्च उठाता है। यदि इस स्थिति में टिकट भी खो बैठे हैं तो ये उसके बदले नया टिकट दिलाने में भी मदद करता है। हालांकि ये सेवाएं बैंकों की योजनाओं पर भी निर्भर करती हैं।

इसमें आधार कार्ड, पैन कार्ड, पासपोर्ट, ड्रायविंग लायसेंस, बीमें के कागज़ात आदि का पंजीकरण होता है। सिस्टम में इनकी जानकारी सुरक्षित रखी जाती है जो ज़रूरत पड़ने पर काम आती है। इनके अलावा अगर आपका मोबाइल कहीं गुम जाए या चोरी हो जाए तो सीपीपी की मदद से इसकी शिक़ायत कर सकते हैं। बैंक के पास आपके मोबाइल फोन का IMEI भी मौजूद होता है जिसकी मदद से मोबाइल नेटवर्क से मोबाइल का पता लगाया जाता है या सिम ब्लॉक कर दी जाती है।

  • सीपीपी से अग्रिम नक़द की सहायता भी मिलती है। ये सेवा ख़ासतौर पर तब मददगार है जब आप देश में ही सफ़र कर रहे हों। मदद मिलने के बाद 28 दिन के अंदर आपको ये रकम लौटानी भी होती है।
  • इस योजना के भीतर अपने परिवार के सदस्यों को बिना किसी अतिरिक्त शुल्क के जोड़ सकते हैं। योजना में कई विकल्प होते हैं जिसके मुताबिक़ आप अपने जीवनसाथी का नामांकन कर सकते हैं। वहीं अपने परिवार के चार सदस्यों जिसमें जीवनसाथी के साथ माता और पिता को नामांकित कर सकते हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना