पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

वेरीफाई न करने के कारण रद्द हो सकते हैं 2 करोड़ इनकम टैक्स रिटर्न, आसान है वेरिफिकेशन करना

10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
Advertisement
Advertisement

यूटिलिटी डेस्क. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को असेस्टमेंट ईयर 2019-20 के लिए 31 अगस्त तक 5.65 करोड़ इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) प्राप्त हुए। लेकिन इनमें से सिर्फ 3.61 करोड़ ITR ही वेरीफाई हुए हैं। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के अनुसार अब तक करीब अभी 2 करोड़ से अधिक इनकम टैक्स रिटर्न भरने वालों ने ITR वेरीफाई नहीं किया है। ITR फॉर्म भरने के बाद उसका इलेक्ट्रॉनिक वेरिफिकेशन जरूरी होता है इसके बिना फॉर्म अधूरा माना जाता है। ITR फाइल करने का अंतिम चरण फॉर्म सबमिट नहीं, वेरिफिकेशन होता है। वेरिफिकेशन ऑफलाइन किया जा सकता है। इसके लिए 120 दिनों का समय भी मिलता है। हालांकि सबसे आसान तरीका इलेक्ट्रॉनिक वेरिफिकेशन है। ऐसे में आज हम आपको इलेक्ट्रॉनिक वेरिफिकेशन के 4 तरीके बता रहे हैं। आपको बता दें कि ITR फाइल करने की आखिरी तारीख 31 अगस्त है।

1) इन तरीकों से कर सकते हैं ITR वेरिफिकेशन

नेटबैंकिंग के जरिए भी आयकर रिटर्न को वेरिफाई किया जा सकता है। इसके लिए बैंक की वेबसाइट पर लॉग इन करना होगा। उसमें आपको टैक्स टैब में ई-वेरीफाई का विकल्प मिलेगा।

  • इसके बाद इनकम टैक्स विभाग की माय अकाउंट टैब पर क्लिक करके ईवीसी जनरेट किया जा सकेगा। इस पर क्लिक करते ही आपके ईमेल और मोबाइल फोन पर 10 अंक का एक कोड आएगा।
  • यह कोड 72 घंटे तक वैध रहता है। आप आयकर रिटर्न वेरिफाई करने के लिए माय अकाउंट टैब में जाएं और ईवीसी डालें। इसे सबमिट करते ही आपका आईटीआर वेरिफाई हो जाएगा।

आधार ओटीपी (वन टाइम पासवर्ड) के जरिए ITR का इलेक्ट्रानिक वेरिफिकेशन किया जा सकता है। इसके लिए आपके मोबाइल नंबर का आधार से लिंक होना जरूरी है। इससे आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा।

  • आयकर विभाग की वेबसाइट पर इस वन टाइम पासवर्ड को डालने के बाद आप सबमिट बटन पर क्लिक करेंगे तो आपका ITR वेरिफाई हो जाएगा।
  • अगर आपका मोबाइल नंबर आपके आधार से लिंक नहीं है तो आपको ITR वेरिफिकेशन के अन्य तरीके का उपयोग करना होगा।

शेयर की ट्रेडिंग करने वाले डीमैट अकाउंट के जरिए ITR वेरिफाई कर सकते हैं। ITR वेरिफाई करने से पहले आपको अपना डीमैट अकाउंट वेलिडेट करना होगा।

  • आपका डीमैट अकाउंट जिस डिपॉजिटरी (एनएसडीएल या सीडीएसएल) के पास है वहां लॉग इन कर आप अपने मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, आदि डालें। फिर यहां वेलिडेशन करें।
  • इस प्रक्रिया में आमतौर पर एक-दो घंटे लगते हैं। अगर प्रोसेस में कोई गलती हुई तो आपको ईमेल पर उसका नोटिफिकेशन आ जाएगा।

आयकर विभाग बैंक अकाउंट के जरिए आयकर रिटर्न ई-वेरिफाई की सुविधा देता है। हालांकि यह सुविधा हर बैंक नहीं उपलब्ध कराता है। इस माध्यम से आईटीआर वेरिफाई करने के लिए इसे वेलिडेट करना होता है। इसमें आपको बैंक का नाम, अकाउंट नंबर, आईएफएससी कोड और मोबाइल नंबर डालना होता है।

  • ये सब चीजें आप बैंक में पहले से मौजूद अपने रिकॉर्ड के हिसाब से ही डालें। अगर आपके पैन नंबर में लिखा नाम और बैंक अकाउंट का नाम मिलता है तभी वेलिडेशन सफल होगा। एक बार वेलिडेशन होने के बाद आप माय अकाउंट टैब में जेनरेट ईवीसी पर क्लिक करिए।
  • इसके बाद आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक कोड भेजा जाएगा। उसके बाद माय अकाउंट टैब में ई-वेरिफाई के विकल्प पर क्लिक करिए। यहां कोड डालने के बाद आप इसे सबमिट कर देंगे तो आपका आईटीआर वेरिफाई हो जाएगा।
Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज का दिन पारिवारिक और आर्थिक दोनों दृष्टि से शुभ फलदायी है। व्यक्तिगत कार्यों में सफलता मिलने से मानसिक शांति का अनुभव करेंगे। कठिन से कठिन कार्य को आप अपने दृढ़ निश्चय से पूरा करने की क्षमत...

और पढ़ें

Advertisement