रिपोर्ट / 2019 में देश में शुरू हुए 1300 से ज्यादा स्टार्टअप, इस मामले में बेंगलुरु टॉप पर



प्रतीकात्मक फोटो प्रतीकात्मक फोटो
X
प्रतीकात्मक फोटोप्रतीकात्मक फोटो

Dainik Bhaskar

Nov 06, 2019, 04:34 PM IST

यूटिलिटी डेस्क. भारत में लगातार बढ़ी रही स्टार्टअप्स की संख्या के कारण भारत दुनिया के तीसरे सबसे बड़े स्टार्ट-अप इकोसिस्टम के अपने स्थान पर बना हुआ है। नैसकॉम द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार 2019 में भारत में 1300 से अधिक स्टार्टअप शुरू हुए। नैसकॉम ने यह भी कहा कि भारतीय स्टार्टअप इकोसिस्टम के 10 साल के भीतर 10 गुना रफ्तार के साथ बढ़ने की उम्मीद है। स्टार्टअप के मामले में बेंगलुरु टॉप देश में टॉप पर है। यह रिपोर्ट नैसकॉम प्रोडेक्ट कॉन्क्लेव 2019 के दौरान लॉन्च की गई।

2014 से 2025 के बीच समय है शानदार

  1. 10 साल में मिलेगर 10 गुना की रफ्तार

    रिपोर्ट के अनुसार पिछले 5 सालों में भारत में टेक स्टार्टअप की संख्या 8900 से 9300 रही है। नैसकॉम ने कहा कि 2025 तक भारतीय स्टार्टअप इकोसिस्टम 10 गुना रफ्तार से वृद्धि करेगा। 2014 से 2025 के बीच के 10 साल के समय भारत के लिए शानदार साबित होंगे।

  2. 2025 तक 390 अरब डॉलर की होगी स्टार्टअप वैल्युएशन

    नैसकॉम की प्रेसिडेंट देबजानी घोष ने कहा कि 2014 में भारत के स्टार्टअप का वैल्युएशन 10 से 20 अरब अमेरिकी डॉलर था जो 2025 तक 350 से 390 अरब डॉलर तक पहुंच जाएगा। उनके मुताबिक साल 2025 तक कुल नौकरियां 10 लाख से ज्यादा और इनडायरेक्ट नौकरियां 40 लाख से ज्यादा हो जाएंगी।

  3. स्टार्टअप में बेंगलुरू पहले और दिल्ली दूसरे नंबर पर

    स्टार्टअप के मामले में बेंगलुरु भारत में सबसे आगे तो दिल्ली-एनसीआर दूसरे स्थान पर हैं। 12 से 15 फीसदी टेक स्टार्टअप विकासशील शहरों से हैं। इस साल स्टार्ट अप्स की फंडिंग 4.4 बिलियन अमेरिकी डॉलर रही, जो पिछले साल 4.2 बिलियन अमेरिकी डॉलर थी। रिपोर्ट के मुताबिक यूनिकॉर्न्स की संख्या बढ़कर 24 हो गई है। यह पिछले साल 17 थी। 

  4. नौकरियों की संख्या बढ़ी

    पिछले साल टेक स्टार्टअप ने 40000 डायरेक्ट नौकरियां और 1.6 लाख इनडायरेक्ट नौकरियां पैदा की थीं। इस साल डायरेक्ट नौकरियों की संख्या बढ़कर 60000 और इनडायरेक्ट नौकरियों की संख्या 1.3 से 1.8 हो गईं।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना