• Hindi News
  • Utility
  • motor vehicle act 2019 you can challenge to Callahan in court fine summary trial

नियम / ट्रैफिक पुलिस ने काट दिया है गलत चालान, तो समरी ट्रायल से मिल सकता है इंसाफ

प्रतीकात्मक फोटो। प्रतीकात्मक फोटो।
X
प्रतीकात्मक फोटो।प्रतीकात्मक फोटो।

दैनिक भास्कर

Sep 05, 2019, 05:24 PM IST

यूटिलिटी डेस्क. नया मोटर व्हीकल एक्ट 1 सितंबर से लागू हो गया है। इसके तहत ट्रैफिक नियमों के उल्लंघन पर जुर्माने की दर में इजाफा होने के कारण लोगों के हजारों रुपए के चालान काटे जा रहे हैं। लेकिन कई बर देखा जाता है कि वाहन चालक की शिकायत होती है कि यातायात नियमों का पालन करने के बाद भी उसका चालान काट दिया गया है। अगर आपने भी ट्रैफिक नियमों का पूरा पालन किया है और आपके वाहन का चालान काट दिया गया है, तो आपको घबराने की जरूरत नहीं हैं। फिलहाल चालान टू कोर्ट किया जा रहा है। ऑन स्पॉट चालान नहीं किया जा रहा है।


इसका मतलब यह हुआ कि अगर ट्रैफिक पुलिस आपके वाहन का चालान काटती है, तो आपको उस इलाके के कोर्ट में जाकर चालान भरना होता है, जहां पर ट्रैफिक नियमों के उल्लंघन का चालान काटा गया है। ट्रैफिक पुलिस ऑनस्पॉट चालान भरने के लिए मजबूर नहीं कर सकती है। जब आप चालान भरने कोर्ट जाते हैं, तो आपके पास दो विकल्प होते हैं। पहला विकल्प यह होता है कि आप कोर्ट जाकर जुर्माना भर दें। इसके अलावा दूसरा विकल्प यह होता है कि आप जुर्म कबूल करने से इनकार कर सकते हैं। इसके बाद समरी ट्रायल शुरू होता है।

क्या होती है समरी ट्रायल?

इसके बाद कोर्ट का मामले में समरी ट्रायल (Summary trial) होता है। अगर आपका चालान गलत तरीके से काटा गया है, तो कोर्ट से आपको राहत मिल जाती है। हालांकि अगर आप दोषी पाए जाते हैं, तो आपको जुर्माना अदा करना पड़ता है। इसके तहत चालान में एक विटनेस के साइन होना जरूरी है। अगर कोर्ट में मामले का समरी ट्रायल चलता है, तो ट्रैफिक पुलिस को विटनेस पेश करना होता है। अगर पुलिस विटनेस पेश नहीं कर पाती है, तो मामला खारिज हो जाता है। इसके लिए समरी ट्रायल से गुजरना पड़ता है। समरी ट्रायल का मतलब यह है कि इन मामलों को जल्द से जल्द निपटाया जाता है।

अपराध पहले अब
तेज गाड़ी चलाने पर 500 रुपए जुर्माना या फिर 3 माह की जेल 5 हजार जुर्माना तीन माह की जेल, दूसरी बार 10 हजार का जुर्माना 1 साल की जेल
ओवरलोडिंग पर 2 हजार जुर्माना और एक हजार प्रति टन लिमिट 10 हजार रुपए जुर्माना या फिर 6 माह की जेल दूसरी बार 15 हजार का जुर्माना 2 साल की जेल
शराब पीकर गाड़ी चलाने पर 2 हजार रुपए जुर्माना 6 माह की जेल दूसरी बार 3 हजार जुर्माना 2 साल की जेल 10 हजार का जुर्माना 6 माह की जेल, दूसरी बार 15 हजार का जुर्माना 2 साल की जेल
ट्रैफिक लाइट तोड़ने, फोन पर बात करके गाड़ी चलाने पर 1 हजार जुर्माना 6 माह की जेल, दूसरी बार 2 हजार का जुर्माना 2 साल की जेल 5 हजार का जुर्माना 6 से 12 माह की जेल दूसरी बार 10 हजार का जुर्माना 2 साल की जेल

नए मोटर व्हीकल एक्ट के तहत हैं भारी जुर्माने के हैं प्रावधान

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना