काम की बात / उपयोग न करने पर बंद करा दें बैंक अकाउंट, इससे होता है पैसों का नुकसान



प्रतीकात्मक फोटो प्रतीकात्मक फोटो
X
प्रतीकात्मक फोटोप्रतीकात्मक फोटो

Dainik Bhaskar

Nov 07, 2019, 04:10 PM IST

यूटिलिटी डेस्क. कई बार न चाहते हुए भी सैलरी अकाउंट या अन्य कारणों से कई लोगों को एक से ज्यादा बैंक अकाउंट खोलना पड़ते हैं। इनमें से कुछ खातों का समय के साथ इस्तेमाल कम हो जाता है, लेकिन हम फिर भी उन्हें बंद नहीं कराते हैं, इसके कारण आपको कई तरह के नुकसान उठाने पड़ते हैं। हम आपको बता रहे हैं ऐसे कारणों के बारे में बता रहे हैं जो आपको समझने में मदद करेंगे कि आपको क्यों अपने इस्तेमाल में न आने वाले बैंक अकाउंट बंद कर देने चाहिए।

ये हैं नुकसान

  1. मंथली एवरेज बैलेंस रखना जरूरी

    बैंक खातों में एक मंथली एवरेज बैलेंस रखना होता है, 500 रुपये से लेकर 10 हजार रुपये तक होता है। मंथली एवरेज बैलेंस ना रखने पर बैंक अपनी पॉलिसी के हिसाब से आपके खाते से पैसे काट सकता है।

    • जीरो बैलेंस वाला आपका सैलरी अकाउंट भी लगातार 3 महीनों तक सैलरी ना आने पर सेविंग अकाउंट में तब्दील हो जाता है।जिसमें आपको आम सेविंग अकाउंट की तरह ही मंथली एवरेज बैलेंस रखना जरूरी होता है।

  2. डेबिट कार्ड चार्जेस  

    बैंक में खाता खुलवाने पर कोई अलग से चार्ज नहीं लगता लेकिन बहुत से बैंक अपने डेबिट कार्ड पर कुछ फीस लेते हैं। ये फीस सालाना 100 रुपये से 1000 रुपये तक होती है।

    • अगर आप अपने अकाउंट का इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं तब भी आपको डेबिट कार्ड की फीस भरनी पडे़गी। वहीं बैंक आपके फोन पर SMS भेजने का चार्ज भी वसूलते हैं जो 30 रुपये प्रति तिमाही हो सकता है।

  3. इस्तेमाल न करने पर खाता हो सकता है बंद

    अगर आप लगातार 12 महीने तक अपने बैंक अकाउंट में कोई ट्रांजेक्शन नहीं करते हैं तो बैंक आपके खाते को इनएक्टिव अकाउंट मान लेगा।

    • अगर किसी इनएक्टिव अकाउंट में अगले 12 महीने तक कोई ट्रांजेक्शन नहीं होती है तो बैंक उसे डॉर्मेंट अकाउंट की श्रेणी में डाल देगा।
    • इनएक्टिव अकाउंट में ट्रांजेक्शन करने के लिए बैंक मना नहीं करते लेकिन किसी डॉर्मेंट अकाउंट से आप नेट बैकिंग, एटीएम ट्रांजेक्शन या मोबाइल बैंकिग नहीं कर सकते। यहां तक की बैंक आपको डेबिट कार्ड, चेक बुक और पता बदलने के लिए भी मना कर सकते हैं।
    • इनएक्टिव अकाउंट को चालू करने के लिए सिर्फ एक ट्रांजेक्शन करनी पड़ेगी लेकिन डॉर्मेंट अकाउंट को चालू करने के लिए आपको अपनी होम ब्रांच में एक एप्लीकेशन देकर फिर से KYC करानी होगी।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना