पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Utility
  • Year 2020: Items That Got Costlier And Cheaper In Year 2020: Life Insurance Policy, SBI OTP ATM Cash Withdrawal, New Gold Hallmarking Rules, Five star AC Refrigerator Cost Rise

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अपनी मर्जी से कटवा सकेंगे पीएफ और देश में कहीं से भी ले सकेंगे राशन

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • AC, फ्रिज और वाहन खरीदना पहले से महंगा हो जाएगा
  • ऐसे 10 बदलाव जो आपके जीवन पर सीधा असर डालेंगे

1) 2020 में होने वाले 10 बड़े बदलाव

लोगों से सोने के नाम पर होने वाली ठगी रोकने और उन्हे शुद्ध सोना दिलाने के लिए सोने की जल्द ही ज्वेलरी और कलाकृतियों के लिए ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड्स (BIS) हॉल मार्किंग अनिवार्य किया जाएगा। इसको लेकर केंद्र सरकार 15 जनवरी 2020 को अधिसूचना भी जारी करेगी। अधिसूचना जारी करने के बाद ठीक एक साल बाद यानी 15 जनवरी 2021 से सोने के गहने पर BIS हाल मार्किंग अनिवार्य होगा। भारतीय मानक ब्यूरो 234 जिलों में 877 केंद्र खोले गए हैं लेकिन सिर्फ 40% ज्वेलरी की हॉलमार्किंग हो रही है। मौजूदा समय में केवल 26019 ज्वेलर्स के पास ही हॉलमार्क प्रमाणित सोना है वहीं देशभर में छोटे बड़े 6 लाख ज्वेलर्स हैं।

बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण (इरडा) ने लिंक्ड और नॉन लिक्ड जीवन बीमा पॉलिसी की नई गाइडलाइन 1 फरवरी से लागू होगी। 31 जनवरी तक बीमा कंपनियां पॉलिसियों मे बदलाव कर सकती हैं। नई गाइडलाइंस के तहत ही सभी बीमा कंपनियों को अपनी पॉलिसी में बदलाव करना है। इरडा का कहना है कि उसकी यह गाइडलाइंस नई बीमा पॉलिसी पर लागू होगा। इसका चालू बीमा पॉलिसी पर कोई असर नहीं पड़ेगा। पुरानी बीमा पॉलिसी का प्रीमियम और बेनेफिट पहले की तरह ही लागू रहेंगे।

जीएसटी वन व टू में रिटर्न फाइल करने की प्रक्रिया एक बार फिर बदल रही है। एक अप्रैल से नए फॉर्म एनेक्सचर वन और टू के जरिए रिटर्न फाइल किया जाएगा। 1 जनवरी 2020 से नई प्रणाली ट्रायल के तौर पर शुरू होगी।  रिटर्न भरना आसान बनाने के लिए ये बदलाव किए जा रहे हैं। नई प्रणाली में स्लैब 5 करोड़ के नीचे और ऊपर का तय किया गया। 5 करोड़ रुपए से ज्यादा आय वालों को RET-1 हर महीने फाइल करना होगा वहीं 5 करोड़ रुपए से कम आय वालों को RET-2, RET-3 फाइल करना होगा।

1 जून से ‘एक राष्ट्र, एक राशन कार्ड’ योजना देशभर में लागू होगी। इस योजना के लागू होने से राशन कार्ड से देश की किसी भी हिस्से से राशन लिया जा सकेगा। मौजूदा समय में राशन कार्ड के लिए 14 राज्यों में पीओएस मशीन की सुविधा शुरू चुकी है। जल्द ही अन्य राज्यों में यह इसे शुरू कर दिया जाएगा। अभी तक जिस वॉर्ड या पंचायत से राशन कार्ड बना है, उसी इलाके के सरकारी राशन की दुकान से सामान खरीदा जा सकता है। इस योजना से सबसे ज्यादा फायदा उन लोगों को होगा, जो नौकरी के बेहतर अवसरों के लिए दूसरे राज्यों में रहते हैं।

फाइव-स्टार लेबल वाले फ्रिज की कीमत जनवरी में 5,000 से 6,000 रुपए तक बढ़ सकती है। कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स एंड एप्लांएसेज मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन (सीईएएमए) ने ये आसार जताए हैं। उसके मुताबिक जनवरी 2020 से एनर्जी लेबलिंग के नए नियम लागू होने वाले हैं। मैन्युफैक्चरर्स को फाइव-स्टार रेंज के AC और रेफ्रिजरेटर में कूलिंग के लिए फोम की बजाय वैक्यूम पैनल का इस्तेमाल करना पड़ेगा। इससे फाइव-स्टार लेबल वाले AC और फ्रिज बनाने की लागत बढ़ेगी।

देश भर में अगले साल एक अप्रैल से वाहनों के रजिस्ट्रेशन के लिए बीएस-6 मानक लागू होने हैं। वायु प्रदूषण में कमी लाने के लिए इन सख्त मानकों के अमल में आने पर छोटी डीजल कारों के दाम में बढ़ोतरी देखने को मिलेगी। इससे स्कूटर और बाइक की कीमतों में 2000 रुपए और कारों की कीमत में 6000 से 10000 तक की बढ़ोतरी हो सकती है। वाहन निर्माता कंपनियों के संगठन सियाम के डायरेक्टर जनरल विष्णु माथुर का कहना है कि बीएस-6 मानकों के अनुरूप वाहनों के इंजन में जरूरी बदलाव पर खर्च हर तरह के पैसेंजर व्हीकल में लगभग एक समान है। इसलिए छोटी-बड़ी सभी गाड़ियों की कीमत एक समान बढ़ेगी। लेकिन, प्रतिशत के लिहाज से सबसे अधिक बढ़ोतरी छोटी कारों की कीमतों में होगी।

नेशनल हाईवे के टोल प्लाजा पर 15 जनवरी से फास्टैग से ही भुगतान किया जा सकेगा। 15 जनवरी तक भी वाहन पर फास्टैग नहीं लगाया जाता है तो टोल प्लाजा से गुजरने पर वाहन चालक को दोगुना टोल टैक्स देना पड़ेगा। फास्टैग एक रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन टैग है जिसे वाहन के विंडशील्ड पर लगाया जाता है, ताकि गाड़ी जब टोल प्लाजा से गुजरे तो प्लाजा पर मौजूद सेंसर फास्टैग को रीड कर सके। वहां लगे उपकरण ऑटोमैटिक तरीके से टोल टैक्स की वसूली कर लेते हैं। एनपीसीआई के आंकड़ों के अनुसार वर्तमान में देश के 537 टोल प्लाजा पर फास्टैग के जरिए टोल टैक्स की वसूली की जा रही है।

ऑनलाइन फंड ट्रांसफर के लिए उपयोग किए जाने वाले नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर (NEFT) पर 1 जनवरी 2020 से कोई चार्ज नहीं देना होगा। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने सेविंग बैंक‌ अकाउंट वालों खाताधारकों के लिए यह छूट दी है। मोबाइल बैंकिंग ऐप से बैंकिंग करने वाले सेविंग खाताधारकों को कोई चार्ज नहीं देना है। NEFT से 2 लाख रुपए तक ट्रांसफर किए जा सकते हैं। इसके लिए आपको कोई शुल्क नहीं देना होता, आपकों सिर्फ इंटरनेट की जरूरत रहती है। सप्ताह के सातों दिन 24 घंटे यह सुविधा मिलती है।

नौकरीपेशा लोग अब अपनी मर्जी से कम प्रोविडेंट फण्ड (पीएफ) कटवा सकेंगे। सरकार ने नए सोशल सिक्युरिटी कोड बिल 2019 में कर्मचारियों को यह सुविधा दी है। इस बिल को केंद्रीय कैबिनेट ने मंजूरी दे दी और अब जल्द ही इसे संसद में मंजूरी के लिए पेश किया जा सकता है। इस सुविधा से कर्मचारियों को मिलने वाली टेक होम सैलरी या सैलरी इन हैंड में बढ़ोतरी हो जाएगी। नए बिल में कहा गया है कि नियोक्ता यानी नौकरी देने वाली कंपनी को अपना 12 फीसदी का पूरा हिस्सा देना होगा। इस सुविधा से नियोक्ता को कोई लाभ नहीं मिलेगा। अभी कर्मचारी भविष्य निधि (ईपीएफ) में कर्मचारी और नियोक्ता दोनों को कुल सैलरी का 12-12 फीसदी अंशदान देना होता है।

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) 1 जनवरी से अपने एटीएम से कैश निकालने के तरीके में बदलाव करने जा रहा है। फ्रॉड एटीएम ट्रांजैक्शन रोकने के लिए बैंक वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) आधारित कैश विदड्रॉल सिस्टम शुरू करने जा रहा है। इसके तहत रात 8 बजे से सुबह 8 बजे तक एटीएम से कैश निकालने के लिए आपको बैंक में रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर आया ओटीपी बताना होगा। यह नियम 10 हजार रुपए से ज्यादा के कैश ट्रांजैक्शन पर लागू होगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- व्यस्तता के बावजूद आप अपने घर परिवार की खुशियों के लिए भी समय निकालेंगे। घर की देखरेख से संबंधित कुछ गतिविधियां होंगी। इस समय अपनी कार्य क्षमता पर पूर्ण विश्वास रखकर अपनी योजनाओं को कार्य रूप...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser