OYO, मेक माय ट्रिप पर ₹392 करोड़ की पेनल्टी:CCI ने कहा- होटल पार्टनर पर दबाव न बनाएं ऑनलाइन ट्रैवल कंपनी, सभी को बराबर मौके दें

नई दिल्ली4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कॉम्पिटिशन कमीशन ऑफ इंडिया (CCI) ने मेक माय ट्रिप-गोआईबीबो (MMT-go) और OYO पर 392 करोड़ रुपए से ज्यादा का जुर्माना लगा दिया है। CCI ने अनफेयर बिजनेस करने के चलते दोनों फर्म पर पेनल्टी लगाई। मेक माय ट्रिप अपने प्लेटफॉर्म के सर्च रिजल्ट में OYO को टॉप पर रखता था। इससे बाकी होटल पार्टनर को नुकसान हो रहा था।

CCI ने OYO पर 168.88 करोड़ रुपए, वहीं मेक माय ट्रिप-गोआईबीबो (MMT-go) पर 223.48 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया।

इस डील के कारण लगा जुर्माना
MMT-go पर अपने होटल पार्टनर के साथ एग्रीमेंट का यूज कर बंदिश लगाने का आरोप लगा। MMT-go ने अपने सभी होटल पार्टनर से डील की कि वे MMT-go पर अपने रूम का जितना किराया रखेंगे, उतना ही किराया उन्हें बाकी वेबसाइट या अपनी खुद की वेबसाइट पर रखना होगा। होटल मालिक किसी दूसरे प्लेटफॉर्म पर अपने रूम को कम किराए पर नहीं रख सकते थे।

CCI ने जुर्माना लगाने के साथ MMT-go को अपना एग्रीमेंट बदलने के आदेश भी दिए हैं। CCI ने कहा कि कंपनी अपने होटल पार्टनर को एग्रीमेंट के तहत इस तरह से बांध नहीं सकती। कंपनी को अपने प्लेटफॉर्म पर मौजूद सभी कंपनियों को बराबर मौके देने होंगे।

OYO पर क्यों लगा जुर्माना
CCI ने MMT-go के साथ हॉस्पिटैलिटी फर्म OYO पर भी जुर्माना लगाया। CCI ने जांच में पाया कि MMT-go अपने प्लेटफॉर्म पर बाकी कंपनियों के मुकाबले OYO के होटल को टॉप पर रखता था। ऐसा करने से इंडस्ट्री की बाकी कंपनियों पर भी इम्पैक्ट हुआ और बाजार प्रभावित हुआ।

3 साल पहले शुरू हुई थी जांच
CCI ने MMT-go से जुड़े इस मामले की जांच अक्टूबर 2019 में शुरू की थी। मामले की जांच खत्म होते ही आरोपी कंपनियों पर जुर्माना लगा दिया गया। बता दें, मेक माय ट्रिप ने 2017 में आईबीबो ग्रुप को अपने में शामिल किया था।