एक्सपर्ट व्यू / फिलहाल इक्विटी या डेट फंड के बजाय एफडी में निवेश करना बेहतर विकल्प



investment plan in fix deposit by expert
X
investment plan in fix deposit by expert

Dainik Bhaskar

Jun 14, 2019, 06:49 PM IST

यूटिलिटी डेस्क. मौजूदा समय में मेहनत की कमाई बचत को इक्विटी, डेट के बजाय फिक्स्ड डिपॉजिट में लगाना चाहिए या नहीं? इसे लेकर कई लोग भ्रम में हो सकते हैं क्योंकि पिछले कुछ साल से हर कोई यही कह रहा है कि एफडी अब निवेश का बेहतर विकल्प नहीं रह गए हैं कि यह अच्छा रिटर्न दे सके। लेकिन निवेश के लिए समय सबसे महत्वपूर्ण होता है। यह 17 तिमाही में सबसे कम है। सालाना आधार पर यह 6.8% दर्ज हुई है जो पांच साल में सबसे कम है। बेरोजगारी की दर 6.1% दर्ज होने के साथ 45 साल के सबसे अधिक स्तर पर पहुंच गई है। बैंकों के फंसे कर्ज की समस्या का आईबीसी के जरिए आंशिक समाधान को लेकर प्रयास जारी हैं। लेकिन इसके एक बड़े हिस्से का समाधान होना अभी बाकी है। इन घटनाक्रम के बीच यह समय बचत को इक्विटी या डेट में लगाने का नहीं है। फिलहाल, एफडी ही आपके लिए निवेश का सुरक्षित विकल्प होगा।


जहां तक क्रेडिट के बुलबुले की बात है जहां अभी भी उथल-पुथल की स्थिति है। इससे नकदी का संकट पैदा हुआ है। इसके चलते कई प्रतिष्ठित कंपनियों ने अपने भुगतान में डिफॉल्ट किया है। कई म्यूचुअल फंड जिन्होंने ऐसे कॉमर्शियल पेपर और बॉन्ड में निवेश कर रखा है उनके एनएवी बुरी तरह प्रभावित हुए हैं। ऐसे निवेशक जो जोखिम नहीं लेना चाहते, उन्हें नकदी का संकट हल होने तक एफडी पर ब्याज के रूप में अच्छा रिटर्न मिल सकता है। फंसे कर्ज, नॉन-कन्वर्टिबल डिबेंचर (एनसीडी) और कंपनियों पर अधिक कर्ज की समस्याएं भी आने वाले समय में दूर होंगी क्योंकि फिर से चुनकर आई मोदी सरकार हालात को बेहतर बनाने के लिए नई नीतियां लागू करेगी। एक बार हालात सामान्य होने पर बेहतर रिटर्न के लिए निवेश के लिए डेट म्यूचुअल फंडों का रुख किया जा सकता है। 


विल रोजर्स का एक प्रसिद्ध कथन है शेयर बाजार में पैसे कमाने का तरीका यह है कि आप कम दाम पर शेयर खरीदें। जब दाम बढ़ जाए तो शेयर बेच दें। यदि बाजार में बढ़त दर्ज नहीं हो रही हो तो आप शेयर न खरीदें। फिलहाल घरेलू बाजार में शेयरों की कीमतें काफी अधिक हैं। निफ्टी का पीई रेशियो 29 गुना तक पहुंच गया है। यह 2008 के बाद सबसे अधिक है। देश की सालाना जीडीपी ग्रोथ पांच साल के निचले स्तर पर है। फिलहाल शेयर बाजार में पैसा लगाना उचित नहीं है क्योंकि शेयर महंगे दाम पर मिलेंगे। बाजार में गिरावट आने पर शेयरों में लगाई पूंजी गायब हो जाएगी। आमतौर पर विशेषज्ञ एफडी में पैसा न लगाने की सलाह देते हैं लेकिन चूंकि शेयर और डेट मार्केट उथल-पुथल के दौर से गुजर रहे हैं। ऐसे में कुछ अच्छा रिटर्न पाने के लिए बेहतर यही होगा कि रकम को बैंक खाते में खने के बजाय उसकी एफडी करा लें। 


पांच जुलाई को पेश होने वाला बजट घरेलू और विदेशी निवेशकों के लिए एक महत्वपूर्ण घटनाक्रम होगा। इकोनॉमिक ग्रोथ में तेजी, रोजगार पैदा करने, इन्फ्रास्ट्रक्चर को बनाने, सरकारी खर्च आदि के बारे में सरकार क्या कदम उठाएगी इसके बारे में बजट के प्रावधानों से जानकारी मिलेगी। 

COMMENT