एक्सपर्ट एडवाइस / इस दीपावली पर कर सकते हैं गोल्ड ईटीएफ के रूप में शगुन की खरीदारी



प्रतीकात्मक फोटो प्रतीकात्मक फोटो
X
प्रतीकात्मक फोटोप्रतीकात्मक फोटो

Dainik Bhaskar

Oct 18, 2019, 03:23 PM IST

यूटिलिटी डेस्क. दीपावली पर सोना, चांदी या कोई अन्य कीमती धातु खरीदना शुभ माना जाता है। कुछ लोग सोने के सिक्के खरीदते हैं तो कुछ ज्वैलरी खरीदकर दिवाली के दिन शुभ मुहूर्त में उसकी पूजा करते हैं। सोने को प्रत्यक्ष रूप में अपने पास रखने का अपना महत्व हैं। लेकिन इसमें काफी जोखिम भी होते हैं।


ऐसे में खुद को इन जोखिमों से सुरक्षित रखने के लिए आप गोल्ड ईटीएफ का सहारा ले सकते हैं और शगुन के तौर पर गोल्ड ईटीएफ के रूप में सोना खरीद सकते हैं। गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ईटीएफ) सोने में निवेश करने का एक सरल तरीका है। इसे पेपर गोल्ड भी कहते हैं। इन्हें शेयरों की तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के कैश मार्केट में खरीदा-बेचा जा सकता है। इसमें कोई न्यूनतम लॉट साइज नहीं होता है। गोल्ड ईटीएफ की एक यूनिट एक ग्राम सोने के बराबर होती है। निवेशक इसकी यूनिट्स को एकमुश्त या फिर सिस्टमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (एसआईपी) के जरिये थोड़ा-थोड़ा भुगतान कर खरीद सकते हैं।


गोल्ड ईटीएफ खरीदने के लिए आपको अपने ब्रोकर के माध्यम से डीमैट अकाउंट खोलना होता है। इसमें एनएसई पर उपलब्ध गोल्ड ईटीएफ के यूनिट आप खरीद सकते है और उसके बराबर की राशि आपके डीमैट अकाउंट से जुड़े बैंक अकाउंट से कट जाएगी। आपके डीमैट अकाउंट में ऑर्डर लगाने के दो दिन बाद गोल्ड ईटीएफ आपके अकाउंट में डिपाजिट हो जाते हैं।


गोल्ड ईटीएफ से जुड़ा हुआ एकमात्र खर्च होता है ब्रोकर को दिया जाने वाला ब्रोकरेज। हालांकि इसमें लॉन्ग टर्म में निवेश करने पर इससे होने वाला मुनाफा लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स के तहत आता है। लेकिन, अन्य टैक्स जैसे कि वैट देने की ज़रूरत इसमें नहीं होती है।यदि आप प्रत्यक्ष रूप से सोने के सिक्के या गहने खरीदते है तो उससे जुडे कई खर्च आपको जेब से देने होते हैं। इसके अलावा ऐसे सोने को बैंक लॉकर में रखने का खर्च भी वहन करना होता है।


गोल्ड ईटीएफ को कभी भी बेचकर पैसे में बदल सकते हैं
गोल्ड ईटीएफ आपको लिक्विडिटी मुहैया कराता है। यानी आप कभी भी इसे बेच सकते हैं और उस समय चल रही सोने की कीमत आपको मिल जाती है। गोल्ड ईटीएफ के कुछ अन्य फायदे भी होते है, जैसे कीमत की पारदर्शिता, डीमैट खाते में होने के कारण चोरी होने का खतरा भी नहीं होता है। साथ ही लॉकर का खर्च भी उठाना नहीं पड़ता है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना