काम की बात / लगातार 3 साल उपयोग न होने पर बंद हो सकता है EPF खाता, पैसा निकालने में आती है परेशानी



epf account can be deactive itself
X
epf account can be deactive itself

Dainik Bhaskar

Aug 16, 2019, 12:51 PM IST

यूटिलिटी डेस्क. एम्पलॉइज़ प्रोविडेंट फंड (EPF) खाते कर लगातार 3 साल तक उपयोग न होने पर ये अपने आप बंद हो सकता है। जिससे इसमें जमा आपका पैसा फंस सकता है। इसीलिए अगर आपका EPF खाता लंबे समय से बंद पड़ा है तो आप उसमें से अपना पैसा निकाल लें। आज हम आपको इससे जुड़ी जानकारी दे रहे हैं।

इससे जुड़ी खास बातें...

  1. कब बंद होता है ईपीएफ खाता?

    जिन खातों में 36 महीने से ज्यादा वक्त से अंशदान की राशि जमा नहीं होती, उन्हें निष्क्रिय खातों की श्रेणी में डाल देता है। हालांकि, निष्क्रिय खातों पर भी ब्याज मिलता है।

    • खाते के निष्क्रिय होने के बाद पैसा निकालने में थोड़ी परेशानी हो सकती है। बैंक की मदद से केवाईसी के जरिए आप पैसा निकाल सकते हैं।

  2. कौन करेगा सर्टिफाइड

    निष्क्रिय पीएफ खातों से संबंधित क्लेम को निपटाने के लिए जरूरी है कि उस क्लेम को कर्मचारी के नियोक्ता सर्टिफाइड करे। 

    • जिन कर्मचारियों की कंपनी बंद हो चुकी है और क्लेम सर्टिफाइड करने के लिए कोई नहीं है तो ऐसे क्लेम को बैंक केवाईसी दस्तावेजों के आधार पर सर्टिफाई करेंगे।

  3. इस डॉक्यूमेंट्स की होगी जरूरत

    केवाईसी दस्तावेजों में पैन कार्ड, वोटर आइडेंटिटी कार्ड, पासपोर्ट, राशन कार्ड, ईएसआई आइडेंटिटी कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस और आधार शामिल हैं।

    • केवाईसी के बाद असिस्टेंट प्रॉविडेंट फंड कमिश्नर या दूसरे अधिकारी राशि के हिसाब से खातों से विदड्रॉल या खाता ट्रांसफर की मंजूरी दे सकेंगे।

  4. किसकी मंजूरी से मिलेगा पैसा

    50 हजार रुपए से ज्यादा राशि होने पर पैसा असिस्टेंट प्रोविडेंट फंड कमिश्नर की मंजूरी के बाद निकलेगा या ट्रांसफर होगा। इसी तरह 25 हजार रुपए से ज्यादा और 50 हजार रुपए से कम राशि होने पर फंड ट्रांसफर या विदड्रॉल की मंजूरी अकाउंट ऑफिसर दे सकेंगे। अगर राशि 25 हजार रुपए से कम है, तो इस पर डीलिंग असिस्टेंट मंजूरी दे सकेंगे।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना