ऐलान / मुफ्त में मिल रहा है फास्टैग, नहीं लगाने पर दोगुना देना होगा टोल- नितीन गडकरी

Fastag will get free till December 1, toll will be doubled if not imposed
Fastag will get free till December 1, toll will be doubled if not imposed
Fastag will get free till December 1, toll will be doubled if not imposed
X
Fastag will get free till December 1, toll will be doubled if not imposed
Fastag will get free till December 1, toll will be doubled if not imposed
Fastag will get free till December 1, toll will be doubled if not imposed

  • अभी तक फास्टेैग खरीदने पर 200 से 400 रुपए तक सिक्योरिटी अमाउंट देना होता था
  • हर फास्टैग की वैलिडिटी पांच साल होगी, इसे नेटबैंकिंग, यूपीआई के जरिए रिचार्ज किया जा  सकेगा

Dainik Bhaskar

Nov 22, 2019, 06:39 PM IST
यूटिलिटी डेस्क. केंद्र सरकार ने 1 दिसंबर से फास्टैग के जरिए टोल टैक्स की वसूली को अनिवार्य कर दिया है। इसके लिए अब टोल पर फास्टैग का वितरण नि:शुल्क होगा। अभी तक इसके लिए 150 रुपए सिक्योरिटी के रूप में जमा करने होते हैं। यदि 1 दिसंबर तक कोई अपनी गाड़ी में ये फास्टैग नहीं लगाता है तो उसे दो गुना टोल देना होगा। आपको बता दें कि फास्टैग का संचालन नेशनल पेमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) की ओर से किया जाता है। फास्टैग की वैलिडिटी खरीदने के बाद 5 साल तक है। इस अवधि तक आपको बस इसे रिचार्ज कराते रहना है। फास्‍टैग को नेटबैंकिंग, क्रेडिट/डेबिट कार्ड, यूपीआई और अन्य तरीकों से भी रिचार्ज कराया जा सकता है।

फास्टैग से जुड़ी खास बातें

  1. फास्टैग कैसे करता है काम?

    • यह एक रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन टैग है जिसे वाहन के विंडशील्ड पर लगाया जाता है।
    • जब कोई वाहन टोल प्लाजा से गुजरता है तो वहां लगे उपकरण ऑटोमैटिक तरीके से टोल टैक्स की वसूली कर लेते हैं। इससे वाहन चालकों के समय की बचत होती है।
    • एनपीसीआई के आंकड़ों के अनुसार वर्तमान में देश के 537 टोल प्लाजा पर फास्टैग के जरिए टोल टैक्स की वसूली की जा रही है।

  2. यहां से खरीद सकते हैं फास्टैग

    • भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की ओर से संचालित टोल प्लाजा।
    • एसबीआई, एचडीएफसी, आईसीआईसीआई समेत कई बैंक।
    • ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पेटीएम, अमेजन डॉट कॉम।
    • इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन, भारत पेट्रोलियम, हिन्दुस्तान पेट्रोलियम के पेट्रोल पंप।
    • नेशनल हाईवे अथॉरिटी की माई फास्ट ऐप।

  3. फास्टैग खरीदने के लिए यह कागजात चाहिए

    • गाड़ी का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट।
    • गाड़ी मालिक की पासपोर्ट साइज फोटो।
    • गाड़ी मालिक का केवाईसी डॉक्यूमेंट। जैसे- आईडी प्रूफ, एड्रेस प्रूफ।
    • फास्ट टैग खरीदते समय इन सभी दस्तावेजों की ऑरिजनल कॉपी जरूर साथ रखें।

  4. फास्टैग को बैंक अकाउंट से कैसे लिंक करेंगे, रिचार्ज कैसे होगा?

    • फास्टैग खरीदने पर इसे माय फास्टैग ऐप की मदद से बैंक अकाउंट से लिंक किया जा सकेगा। इसमें यूजर को व्हीकल रजिस्ट्रेशन नंबर डालना होगा, जिसके बाद फास्टैग एक्टिवेट होगा। ऐप पर यूपीआई पेमेंट के जरिए यूजर अपने फास्टैग को रिचार्ज कर सकेंगे।
    • इसे पेटीएम से भी खरीदा जा सकेगा। पेटीएम पर वाहन की रजिस्ट्रेशेन नंबर और व्हीकल रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट अपलोड कर नए फास्टैग के लिए आवेदन किया जा सकता है। सभी फास्टैग ग्राहकों को टोल पेमेंट करने पर 2.5% कैशबैक भी मिलेगा।

  5. अब तक 66 लाख से ज्यादा फास्टैग की हुई बिक्री

    वित्त वर्ष 2019-20 के लिए फास्टैग के इस्तेमाल पर 2.5 फीसदी का कैशबैक भी दिया जा रहा है। मंत्रालय के अनुसार इस वित्त वर्ष में अब तक 66 लाख से ज्यादा फास्टैग की बिक्री हो चुकी है । एनएचएआई के 1033 टोल फ्री नंबर से फास्टैग की जानकारी ली जा सकती है। इस नंबर पर फास्टैग से संबंधित शिकायत भी दर्ज कराई जा सकती है

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना