• Hindi News
  • Utility
  • railway ; for first time in indian railway passengers get rs 1 62 lakh compensation for tejas express train delay

रेलवे / देश की पहली प्राइवेट ट्रेन 'तेजस' के लेट होने पर IRCTC बांटेगी 1 लाख 62 हजार रुपए का मुआवजा

प्रतीकात्मक फोटो प्रतीकात्मक फोटो
X
प्रतीकात्मक फोटोप्रतीकात्मक फोटो

  • ट्रेन तेजस 19 अक्टूबर को पहली बार अपने सफर में लेट हुई थी
  • तेजस एक्सप्रेस के 1 घंटा लेट होने पर 100 रुपए और 2 घंटे लेट होने पर 250 रुपए मुआवजे का प्रावधान है
  • चार अक्टूबर को लखनऊ से लॉन्च हुई तेजस भारतीय रेलवे की पहली प्राइवेट ट्रेन है

 

दैनिक भास्कर

Oct 21, 2019, 06:16 PM IST

यूटिलिटी डेस्क. देश की पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस 19 अक्टूबर को पहली बार अपने सफर में लेट हुई। लखनऊ से निकलकर दिल्ली पहुंचने में और वापस दिल्ली से लखनऊ पहुंचने में ट्रेन को देरी होने के चलते आईआरसीटीसी यात्रियों को मुआवजा देगा। रेलवे के अनुसार इसके लिए 1 लाख 62 हजार रूपए का मुआवजा तकरीबन 950 यात्रियों को दिया जाएगा। आपको बता दें कि तेजस एक्सप्रेस के 1 घंटा लेट होने पर 100 रुपए और 2 घंटे लेट होने पर 250 रुपए मुआवजे का प्रावधान है।

ढ़ाई घंटे से भी ज्यादा हुई लेट

तेजस 19 अक्टूबर को लखनऊ से अपने निर्धारित समय सुबह 6.10 बजे के बजाय पहली बार लगभग 8.55 पर चली और नई दिल्ली दोपहर 12.25 बजे के बजाय 3.40 पर पहुंची। इसके बाद वह नई दिल्ली से दोपहर 3.35 बजे के बजाय शाम को लगभग 5.30 बजे चली। रखरखाव (मेंटीनेंस) में देरी होने के कारण ट्रेन को देरी हो गई थी।

  • अपनी नियमित यात्रा पर रवाना होने से पहले हर ट्रेन में रखरखाव किया जाता है। शनिवार को तेजस का रखरखाव सुबह लगभग चार बजे शुरू किया जा सका क्योंकि लखनऊ स्टेशन पर मेंटीनेंस यार्ड में शंटिंग के दौरान एक कोच पटरी से उतर गया था।

चार अक्टूबर को लखनऊ से लॉन्च हुई तेजस भारतीय रेलवे की पहली पहली प्राइवेट ट्रेन है, जिसका संचालन इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन (आईआरसीटीसी) करता है। यह ट्रेन हफ्ते में 6 दिन लखनऊ से दिल्ली के बीच चलती है।

आईआरसीटीसी ने सभी यात्रियों के मोबाइल नंबर पर एक लिंक भेज दिया है। इस लिंक पर क्लिक कर यात्री क्लेम के लिए दावा कर सकते हैं। दावा मिलने पर इंश्योरेंस कंपनी क्लेम का भुगतान करेगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना