सख्ती / स्कूल के 50 मीटर के दायरे में नहीं कर सकेंगे जंक फूड का प्रचार, ड्राफ्ट तैयार

Dainik Bhaskar

Jun 14, 2019, 10:32 AM IST


fssai proposes ban on junk food advertisements in and around schools
X
fssai proposes ban on junk food advertisements in and around schools

यूटिलिटी डेस्क. स्कूली बच्चों की हेल्थ को ध्यान में रखते हुए फूड सेफ्टी एंड स्टेंडर्ड अथॉरिटी (FSSAI) एक नया ड्राफ्ट लेकर आया है। इसके तहत अब कोई भी कंपनी या उत्पादक स्कूलों के अंदर या उनके 50 मीटर के दायरे में अनहेल्दी फूड या जंक फूड का प्रचार नहीं कर सकेगा। यह जानकारी गुरुवार को FSSAI के सीईओ पवन कुमार अग्रवाल ने एक कार्यक्रम में दी। इस ड्राफ्ट को मंजूरी के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय को भेज दिया गया है। अग्रवाल के अनुसार, करीब 3 साल पहले हाईकोर्ट ने स्कूली बच्चों के लिए हेल्थी डाइट बनाने को लेकर दिशा निर्देश दिए थे।

ड्राफ्ट से जुड़ी खास बातें...

  1. ड्राफ्ट में हेल्थी फूड के लिए तय किए गए मानक

    FSSAI ने इस ड्राफ्ट में कुछ मानकों के आधार पर हेल्थी फूड की परिभाषा दी है। आप स्वस्थ आहार को कैसे परिभाषित करते हैं, यह इस ड्राफ्ट के केंद्र में है। अग्रवाल ने कहा कि हम यह नहीं कह सकते कि मल्टी नेशनल कंपनीज (एमएनसी) से आने वाले खाद्य पदार्थ अनहेल्दी हैं, कुछ भारतीय खानपान भी अनहेल्दी हैं। इसलिए हमने एक ऐसा ढांचा बनाया है जो निष्पक्ष रूप से हेल्दी फूड को परिभाषित करेगा। आपको बता दें कि पिछले साल FSSAI पिछले साल स्कूलों और उसके आसपास नूडल्स, चिप्स, कारबोनेटिड ड्रिंक्स की बिक्री पर प्रतिबंध का प्रस्ताव लेकर आया था।

  2. 10 में से 6 बीमारियां खानपान संबंधी

    कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अग्रवाल ने स्वस्थ खानपान पर जोर देते हुए कहा कि आज 10 में से 6 बीमारियां खानपान संबंधी होती हैं। यदि हम सुरक्षित और स्वस्थ खानपान का प्रयोग करें और अपने आपको फिट रखें तो यह बीमारियां हमारे पास नहीं आएंगी। अग्रवाल ने पिछले कुछ सालों में FSSAI की ओर से स्कूलों में सुरक्षित और पौष्टिक भोजन को लेकर चलाए गए अभियानों की भी जानकारी दी। साथ ही इन अभियानों को राष्ट्रीय स्तर पर ले जाने पर जोर दिया।

COMMENT