काम की बात / बारिश में भीग गया है स्मार्टफोन, घर पर ही कर सकते हैं ठीक

smart phone; how to save a wet mobile phone
X
smart phone; how to save a wet mobile phone

Jul 03, 2019, 02:09 PM IST

यूटिलिटी डेस्क. बारिश का मौसम शुरू हो चुका है। ऐसे में घर से बाहर निकलते वक्त आपको भीगने से बचने के लिए छाता या रेनकोट साथ लेकर चलना होगा। इतना ही नहीं, इस मौसम में खुद से ज्यादा स्मार्टफोन की सेफ्टी जरूरी हो जाती है। हालांकि, कई बार पूरी सेफ्टी के बाद भी फोन भीग जाता है। आपको फोन भी बारिश में भीग गया है तो परेशान न हों। हम आपको ऐसे टिप्स बता रहा है जिनकी मदद से आप भीगे हुए फोन को ठीक कर सकते हैं।

फोन भीगने पर ऐसे करें ठीक

जब कभी आपका स्मार्टफोन/फोन पानी में भीग जाए, तो सबसे पहले उसे ऑफ कर दें। फोन के ऑन रहते हुए अगर पानी अंदर के किसी हिस्से में चला गया तो शॉट सर्किट भी हो सकता है।


- ध्यान रहे अगर फोन पानी में गिर गया है या बारिश में भीग गया है तो ये जांचने की कोशिश ना करें की उसका कोई बटन चल रहा है या नहीं। सबसे पहले उसे ऑफ करना ही समझदारी होगी।

फोन के भीगने पर सबसे पहले बैटरी को अलग करना चाहिए, ताकि फोन में आने वाला पावर कट हो जाए। 


- इसके बाद, उसकी दूसरी एक्सेसरीज जैसे सिम कार्ड, मेमोरी कार्ड, फोन का कवर, फोन में अटैक कॉर्ड सब कुछ अलग कर दें। 


- इन तमाम एक्सेसरीज को अलग करने से शॉर्ट सर्किट का खतरा कम हो जाता है।


- सभी एक्सेसरीज को टिशू पेपर से साफ करें। टिशू की जगह आप अखबार का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। ऐसा करने से एक्सेसरीज से पानी के साथ नमी भी खत्म हो जाती है।

आपके स्मार्टफोन में नॉन रिमूवेबल बैटरी है जैसे नोकिया लुमिया, आईफोन या अन्य कई फोन में होती है। तो बैटरी निकालकर ऑफ करने का विकल्प खत्म हो जाएगा। 


- ऐसे में पावर बटन से बंद को कुछ देर तक प्रेस करके फोन को डायरेक्ट ऑफ कर दें। जिन स्मार्टफोन में नॉन रिमूवेबल बैटरी होती है, उनमें पानी से शॉर्ट सर्किट होने का खतरा ज्यादा होता है।


- इसके बाद, उसकी दूसरी एक्सेसरीज जैसे सिम कार्ड, मेमोरी कार्ड, फोन का कवर, फोन में अटैक कॉर्ड सब कुछ अलग कर दें। 


- सभी एक्सेसरीज को टिशू पेपर से साफ करें। टिशू की जगह आप अखबार का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। ऐसा करने से एक्सेसरीज से पानी के साथ नमी भी खत्म हो जाती है।

राइस (चावल) नमी को तेजी से सुखाने का काम करते हैं। यानी जब आप अपने फोन और सभी पार्ट/एक्सेसरीज की पेपर नैपकिन और तौलिए से अच्छे से साफ कर लें, तब उन्हें सूखे चावल में दबाकर किसी बर्तन में रख दें। चावल इन पार्ट्स की नमी को तेजी से सोख लेता है। ऐसा करने पार्ट्स में मौजूद नमी पूरी तरह खत्म हो जाएगी।

चावल घर में आसानी मौजूद होते हैं, ऐसे में ये नमी सुखाने के लिए बेस्ट ऑप्शन होते हैं। हालांकि, आपके पास सिलिका जेल पैक (silica gel pack) है तो ये ज्यादा बेहतर होता है। सिलिका जेल पैक का इस्तेमाल जूतों के डिब्बे, नए थरमस में इस्तेमाल होता है। ताकि इनमें नमी नहीं आए। ये चावल की तुलना में तेजी से नमी को सोखता है।

स्मार्टफोन और उसकी एक्सेसरीज को चावल के बर्तन या सिलिका जेल पैक में कम से कम 24 घंटे तक रखें। ताकि नमी पूरी तरफ से सूख जाए। 
इसके बाद भी आप फोन को ऑन न करें, क्योंकि अब भी फोन के खराब होने का खतरा बना होता है। नमी सूखने के बाद भी फोन को 24 घंटे के बाद ही इस्तेमाल में लाएं।

फोन और उसकी एक्सेसरीज की नमी सूखने के बाद आप उस पर गर्म हवा का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए ड्रायर, ब्वॉयलर, रूम हीटर का इस्तेमाल कर सकते हैं, लेकिन पूरी सावधानी के साथ।

 

- ड्रायर तेज गर्म हवा फेंकता है ऐसे में इसका नजदीक से इस्तेमाल करने पर ये सर्किट को नुकसान पहुंचा सकता है। दूसरी तरफ, ब्वॉयलर के सामने भी एक्सेसरीज को दूर रखें। वहीं, रूम हीटर की आंच भी दूर से ही दिखाएं।

अगर आपका फोन पानी में भीग गया है तो फोन को ड्रायर से सुखाने की कोशिश ना करें। ड्रायर बहुत ज्यादा गर्म हवा फेंकता है ऐसे में फोन के सर्किट पिघल सकते हैं।

 

- हेडफोन जैक और फोन के यूएसबी पोर्ट का इस्तेमाल तब तक ना करें जब तक फोन पूरी तरह से सूख ना गया हो। इनका इस्तेमाल करने से नमी का फोन के इंटरनल पार्ट्स में पहुंचने का खतरा बढ़ जाता है।

फोन भीगने के बाद जब इन तमाम प्रोसेस से गुजरता है तो वो पूरी तरह ठीक हो जाता है। यानी इसके बाद आप उसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

 

- इस्तेमाल करने के दौरान आप USB केबल, हेडफोन, स्पीकर, माइक, बटन, टचस्क्रीन के साथ स्मार्टफोन के अन्य फीचर्स का इस्तेमाल करें।

 

- सब कुछ ठीक होने पर आपको फोन पूरी तरह सही है, लेकिन इनमें से कुछ भी काम नहीं कर रहा तब आप उसे सर्विस सेंटर पर दिखा सकते हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना