• Hindi News
  • Utility
  • Insurance company gives compensation of up to Rs 7.5 lakh in case of accident

काम की बात / दुर्घटना होने पर बीमा कंपनी देती है 7.5 लाख रुपए तक का मुआवजा

Insurance company gives compensation of up to Rs 7.5 lakh in case of accident
X
Insurance company gives compensation of up to Rs 7.5 lakh in case of accident

दैनिक भास्कर

Feb 18, 2020, 12:28 PM IST
यूटिलिटी डेस्क. जब किसी व्यक्ति के वाहन से दुर्घटना हो जाती है तो सामने वाला पक्ष जिसका नुकसान हुआ है, वह हर्जाना वसूलने के लिए कोर्ट में आपके खिलाफ मामला दर्ज कराता है। सबूतों के आधार पर कोर्ट में मुआवजा राशि तय होती है। ऐसी स्थिति में थर्ड पार्टी व्हीकल इंश्योरेंस आपके काम आता है। लेकिन याद रखें, इंश्योरेंस कंपनी अधिकतम 7 लाख 50 हजार रुपए तक का ही मुआवजा दे सकती है। इससे अधिक राशि हुई तो बाकी आपको अपनी जेब से देनी पड़ेगी। हालांकि, मृत्यु या गंभीर चोट के मामले में मुआवजे की सीमा तय नहीं है। ऐसे मामले में जितना कोर्ट तय करे, उतना इंश्योरेंस कंपनी देने के लिए मजबूर होती है। नुकसान के मुआवजे का दावा एक बार से ज्यादा नहीं किया जा सकता।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल और उनके जवाब

हां, नए नियम के अनुसार वाहन मालिक का व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा भी कवर होता है। ऐसी कई बीमा कंपनियां हैं जो अतिरिक्त प्रीमियम भुगतान करने पर बड़ी राशि वाला व्यक्तिगत दुर्घटना कवर देती हैं। इसके अलावा, पिछली सीट पर बैठी सवारी के लिए भी दुर्घटना कवर ले सकते हैं, इसके लिए अतिरिक्त प्रीमियम चुकानी होगी।

कैशलेस गैरेज सुविधा का लाभ उठाने के लिए यह जरूरी है कि वाहन की क्षति होने पर उसकी मरम्मत बीमा कंपनी के अधिकृत गैरेज में की जाएगी। इसके लिए ऑनलाइन नेटवर्क गैरेज की सूची देखें।

पहले सेवा कर और सेस कर 15% था, लेकिन जीएसटी के बाद आपको दोपहिया वाहन बीमा पॉलिसी खरीद पर 18% जीएसटी देना होगा।

जिसकी प्रॉपर्टी को नुकसान हुआ है उसका मालिक, उसका वकील या मृतक का कानूनी वारिस।

ऐसे मामलों में थर्ड-पार्टी कवर की लिमिट नहीं बताई जाती है। कोर्ट द्वारा राशि तय होने के बाद ही पूरा मुआवजा बीमा कंपनी देती है।

कई ऐड-ऑन हैं जिन्हें आप अपनी व्यापक पॉलिसी से जोड़ सकते हैं जैसे कि पीछे की सीट पर सवारी करने वाले सवार को व्यक्तिगत दुर्घटना कवर, शून्य मूल्यह्रास, इंजन संरक्षण, एनसीबी संरक्षण कवर, चालान पर वापसी, सड़क के किनारे सहायता, उपभोग्य कवर, इत्यादि।

वाहन बीमा पॉलिसी केवल उस कंपनी से खरीदना बेहतर होता है, जिसके पास पैन-इंडिया में गैरेज का मजबूत नेटवर्क है। इससे आपके वाहन में हुई टूट-फूट के समय आपको कैशलेस की बेहतर सर्विस मिल सकेगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना